कम्प्यूटर साइंस क्या है – पूरी जानकारी

Computer Science क्या है : वर्तमान समय में Information Technology (IT) दिनों दिन पढ़ती जा रही है। आज दुनिया के हर क्षैत्र में कंप्यूटर से काम किया जा रहा है, और इसे देखकर कहा जा सकता है कि भविष्य कंप्यूटर का युग होगा। ऐसे बहुत सारे लोग जानना चाहते है कि आखिर कम्प्यूटर साइंस क्या है?

कम्प्यूटर साइंस कंप्यूटर से संबंधित विज्ञान है, जिसमें कम्प्यूटर ज्ञान के अलावा Information Technology का भी ज्ञान दिया जाता है। यह एक ऐसा विज्ञान है जो आज के समय में हर जगह जैसे- शिक्षा, दफ्तर, बिजनेस, हॉस्पीटल इत्यादि, पर इस्तेमाल किया जाता हैं। इसकी वजह से मनुष्य का काम पहले तुलना में काफी ज्यादा आसान हो गया है।

आज मैं आपको इस आर्टिकल में कम्प्यूटर साइंस से संबंधित सभी जरूरी जानकरीयां दूंगा, जैसे- Computer Science Kya Hai, कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग क्या है, कंप्यूटर साइंस कोर्स क्या है, कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग सैलरी कितनी है, कम्प्यूटर साइंस में करियर क्या है इत्यादि।

Contents दिखाए

कम्प्यूटर साइंस क्या है (What is Computer Science in Hindi)

Computer Science (CS) कंप्यूटर और कंप्यूटर सिस्टम का अध्ययन है जिसमें कंप्यूटर टेक्नोलॉजी के बारे में अध्ययन किया जाता है। इसे Informatics भी कहा जाता है क्योंकि इस विज्ञान में कंप्यूटर प्रोग्राम को डिजाइन करना सिखाया जाता है। यह जरूर जान ले कि यह सिर्फ कंप्यूटर से संबंधित नही है बल्कि संगणना और सूचना के अध्ययन से भी जुड़ा हुआ है।

इसका इस्तेमाल विभिन्न business, scientific और social context में होने वाली समस्याओं को हल करने के लिए उपयोग किया जाता है। मतलब इससे हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर को डिजाइन, डेवलपमेंट और एनालिसिस कियाा जाजा है।

कंप्यूटर का इस्तेमाल कंप्युटर से जुड़ी समस्या को हल करने हेतु किया जाता है। इसे गणना विज्ञान (Computation Science) भी कहा जाता है। आज जो कंप्युटर के अनेक क्षैत्र में Algorithm का उपयोग किया जाता है जो केवल कंप्युटर विज्ञान से मुमकिन है।

इस विज्ञान में विभिन्न तरह के कंप्यूटर प्रोग्रामिंग भाषा और डेटा के इस्तेमाल का अध्ययन किया जाता है। वर्तमान में ज्यादातर कंप्युटर क्षैत्र में नए खोज की जाती है ताकि यह विज्ञान इंसान का जीवन और भी आसान बना सके।

कंप्यूटर साइंस का मतलब क्या होता है ?

यह एक ऐसा विज्ञान है जिसमें कंप्यूटर से संबंधित चीजों का अध्ययन किया जाता है। इस साइस में सूचना और संघणन (Computation) पर अध्ययन किया जाता है। और इसी के साथ दो अलग-अलग भागों (हार्डवेयर और सोफ्टवेयर) का अध्ययन किया जाता है। कंप्यूटर साइंस की वजह से ही एल्गोरिथम का उपयोग कर Digital Information को एडिट करना, संचार करना और स्टोर कर पाना संभव है। इसका सबसे बड़ा पहलू है, समस्यों का समाधान करना।

कंप्यूटर साइंस में करियर स्कोप कितना है ?

देखा जाए तो वर्तमान और भविष्य में कंप्यूटर साइंस का बहुत सारा करियर स्कोप है, और विशेषज्ञों द्वारा यह भी बताया जा रहा है कि आने वाले समय में इसका करियर स्कोप और भी ज्यादा बढ़ जाएगा। आज मैं आपको इसी आर्टिकल में बहुत सारे कंप्यूटर साइंस के करियर स्कोप के बारे में बताऊंगा जिसके साथ आप अपना करियर बना सकते है।

उदाहरण :

  1. सिस्टम सॉफ्टवेयर
  2. हार्डवेयर
  3. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर

वर्तमान में कंप्यूटर से संबंधित अनेक करियर स्कोप हैं जैसे कंप्यूटर सिस्टम एनालिस्ट, कंप्यूटर इंजीनियर, सॉफ्टवेयर कंसल्टेंट, कंप्यूटर नेटवर्क आर्किटेक्ट आदि।

कंप्यूटर विज्ञान का महत्व क्या है (What is the Importance of Computer Science)

आज हमारे आस-पास की लगभग सभी डिजिटल वस्तुएं कंप्यूटर एल्गोरिथम पर आधारित होती हैं। अत: यह कहना बिल्कुल उचित है कि आज दुनिया प्रोद्यौगिकी पर बहुत अधिक निर्भर है। यह विज्ञान हमारे जीवन को और भी आसान बना देते है।

वर्तमान में एक कंप्यूटर इंजीनियर प्राकतिक आपदाओं की भविष्यवाणी करने, हमारी स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली में सुधार, वायरल प्रकोप पैटर्न और शिक्षा को सुलभ बनाने जैसी अनेक जटिल समस्याओं का समाधान करता हैं।

आप ऑनलाइन शिक्षा को देख सकते है जिसने शिक्षा को काफी ज्यादा सुलभ बना दिया है। मतलब आज आप किसी भी जगह पर घर बैठे ऑनलाइन शिक्षा कर सकते है। और अब तो ऑनलाइन शिक्षा के लिए यूट्यूब ट्यूटोरियल से लेकर खान अकादमी जैसे बहुत सारे मुफ्त शिक्षण प्लेटफॉर्म हैं।

कंप्यूटर विज्ञान के क्या लाभ हैं (What are the Benefits of Computer Science)

कंप्यूटर तकनीक के लाभ बहुत सारे है, जिसमें ई-कॉमर्स शॉपिंग वेबसाइट से लेकर अपने पसंदीदाद भोजन को ऑर्डर करे वाले एप्प तक शामिल हैं। आज कंप्यूटर तकनीक ने हमारे जीवन को बहुत ही आसान बना दिया है।

आज आपको स्वयं के घर में ही बहुत सारे ऐसे इलेक्ट्रोनिक डिवाइस मिल जाएंगे जो कंप्यूटर तकनीक के आधार पर कार्य करते हैं, जैसे- एसी, डिजिटल अलार्म घड़ी, कैलकुलेटर, ब्लुटुथ स्पीकर, पंखा, कॉफी मेकर, बल्ब, ब्रेड मेकर, कपड़े धोने की मशीन, इलेक्ट्रिक स्टॉव, ऑवन, गेम, टीवी, फ्रीज आदि।

ये सभी कहीं न कहीं कंप्यूटर एल्गोरिथम पर ही निर्भर करते है। और अगर कंप्यूटर विज्ञान न होता तो ऐसे इलेक्ट्रोनिक उपकरण हमारे बीच कभी नही आते है। और देखा जाए तो ऐसे उपकरणों ने हमारी जिंदगी को काफी आसान बना दिया है। अब तो भविष्य के लिए रोबोट का भी निर्माण किया जा रहा है जो कंप्यूटर विज्ञान का एक अविष्कार होगा।

कंप्युटर साइंस इंजीनियरिंग क्या है  (What is Computer Science Engineering)

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (CSE) का मतलब कंप्यूटर साइंस के कोर्स का अध्ययन करना है। CSE में B.Tech और BE का कोर्स का अध्ययन किया जाता है जिसकी समयावधि 4 साल होती है और यह कोर्स 8 सेमेस्टर में पूरा होता हैं। कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग  में कंप्यूटर से जुड़ी शिक्षा प्रदान की जाती हैं, जैसे- कंप्यूटर लैंग्वेज, हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, अल्गोरिथम, डेटाबेस मैनेजमेंट इत्यादि।

अगर आपने 12वीं पास कर ली है तो उसके बाद आप B.Tech और BE का कंप्युटर कोर्स कर सकते है जिसके लिए अनेक कॉलेज हैं, जो मेरिट के आधार पर या एंट्रेस एग्जाम के द्वारा दाखिला देती हैं। इसके लिए अनेक तरह के एंट्रेस एग्जाम हैं, जैसे-

  1. JEE Main
  2. MET
  3. BITSAT
  4. MHTCET
  5. WB JEE
  6. KIITEE इत्यादि।

ध्यान दे कि कंप्यूटर साइंस में अनेक तरह के कंप्यूटर कोर्सेस हैं, जैसे- वेब डिजाइनिंग, VFX और एनिमेशन कोर्स, हार्डवेयर और नेटवर्किंग कोर्स, डिप्लोमा इन आईटी, डिप्लोमा इन साइंस, टेली कोर्स आदि।

कंप्यूटर साइंस इंजीनियर का क्या काम होता हैं ?

आज आईटी  (Information Technology) में बहुत सारे काम होते है जो कंप्यूटर साइंस इंजीनियर करते हैं। देखा जाए तो एक कंप्यूटर साइंस इंजीनियर के लिए बहुत सारे काम होते हैं, जैसे समस्या को खोजना और उसे हल करना, सॉफ्टवेयर का रखरखाव करना, हार्डवेयर डिजाइन करना इत्यादि।

हालांकि अलग-अलग विशेष काम के लिए अलग अलग तरह के इंजीनियर होते हैं। और यह इंजीनियर उस विशेष काम के लिए पढ़ाई भी करते हैं।

BSc Computer Science क्या है (What is BSc Computer Science)

BSc Computer Science का पूरा कोर्स करने पर हमें एक डिग्री मिलती है। और यह कोर्स 3 वर्ष का होता है जिसमें एक वर्ष में एक एग्जाम होता है। हालांकि कुछ विश्वविद्यालयों में तीन सालों में 6 समेस्टर होते है जो हर 6 महीने में लिया जाता है। अगर आपके पास यह डिग्री है तो आप किसी भी गवर्मेंट जॉब के लिए अपप्लाई कर सकते है।

इस कोर्स के अंदर आपको कंप्युटर प्रोग्रामिंग, AI, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, जावा इत्यादि के बारे में पढ़ाया जाता है। इस कोर्स को करने के बाद आप MCA, MBA या किसी भी सरकारी संगणक की नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते है। इसके अलावा B.Techका कोर्स भी कर सकते हैं, जो पूरे चार साल का होता है।

अगर आप कंप्यूटर साइंस में अपनी ग्रेजुएशन पूरी करना चाहते हैं तो आप अपने बजट के हिसाब से BSc (CS), B.Tech (CS) और BCA कोर्स कर सकते है। इनमें किसी भी कोर्स को पूरा करके आप अपना ग्रेजुएशन पूरा कर सकते हैं।

बीएससी कंप्यूटर साइंस फीस कितनी है ?

अगर आप BSc में अपना कंप्यूटर कोर्स को पूरा करना चाहते है तो उसी फीस अलग-अलग State में सरकारी कॉलेज है या फिर प्राइवेट कॉलेज है, पर निर्भर करती हैं। अगर मैं आपको औसतन फीस बताऊं तो सरकारी कॉलेज के लिए 10 हजार से लेकर 30 हजार रूपयें तक होगी। और अगर आप प्राइवेट कॉलेज से यह कोर्स कर रहे है तो आपको 50 हजार या इससे भी ज्यादा फीस देनी पड़ सकती है।

Computer Science में अपना Career कैसे बनाये ?

आज देखा जाए तो कंप्यूटर विज्ञान का क्षैत्र बहुत बड़ा हो गया है, जहां पर करियर बनाने के लिए ढे़र सारे विकल्प मौजुद हैं। अब ऐसे में आप जरूर Confuse हो रहे होंगे कि आप किसी क्षैत्र में अपना कंप्यूटर करियर बनाए।

तो इस स्थिति में आपको यह सोचना है कि आपको कंप्यूटर या तकनीक के कौनसे भाग में सबसे ज्यादा रूचि है। मतलब आपको Theoretical computer science, Hardware, Software engineering इत्यादि में से क्या पसंद है। उसके बाद उसी क्षैत्र में आप अपना करियर बना सकते है।

#1. Programming languages का क्षेत्र

आपने बहुत सारे सॉफ्टवेयर देखे होंगे, जैसे Photoshop, MS word, Excel Office, Google Chrome इत्यादि। इन सभी सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को प्रोग्रामिंग भाषा के द्वारा ही बनाया जाता है। अगर आप इस क्षैत्र में जाते है तो आपको अनेक तरह की  कंप्यूटर प्रोग्राम भाषा सिखने को मिलेगी जिससे आप कंप्यूटर सॉफ्टवेयर बना सकते है।

एक कंप्यूटर प्रोग्राम को अनेक प्रोग्रामिंक भाषाओं (Python, JavaScript, C language, C++, PHP, Java आदि) का अच्छा ज्ञान होता है। इसके अलावा एक प्रोग्राम मौजूदा सॉफ्टवेयर को टेस्ट करने के साथ उसमें मौजुद Errors को ठीक भी करता है।

#2. Hardware का क्षेत्र

यह कंप्यूटर विज्ञान का वह क्षैत्र है जिसमें कंप्यूटर के हार्डवेयर डिवाइस का डेवलपमेंट किया जाता है। कंप्यूटर के हार्डवेयर अनेक होते हैं, जैसे माउस, कीबोर्ड, मॉनीटर, CPU, हार्ड डिस्क, प्रिंटर, स्कैनर, कैमरा आदि।

एक  computer hardware engineer कंप्यूटर सिस्टम और उनके कंपोनेंट्स के बारे में रिसर्च करके उनकी डिजाइन, डेवलपमेंट और टेस्ट करता है।

#3. Software engineering का क्षेत्र

एक Software engineering सॉफ्टवेयर बनाने और टेस्ट करने का काम करता है। आपने कंप्यूटर और मोबाइल में अनेक प्रकार के सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन (एप्प) का इस्तेमाल किया होगा। इन सभी एप्प और सॉफ्टवेयर का निर्माण एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर करता है।

हालांकि इसके लिए आपको प्रोग्रामिंक लैंग्वेज सिखनी होगी।

#4. Theoretical computer science का क्षेत्र

Theoretical computer science अक्सर Highly Mathematical होती है, मतलब इसमें बहुत ज्यादा संगणना के सिद्धांत शामिल होते हैं। इसलिए इस कंप्यूटर साइंस को Mathematics का सब्जेक्ट कहते है।

कंप्यूटर विज्ञान के क्षेत्र मे विभिन्न प्रकार के Subject होते है, जैसे- Algorithms, Data Structures, Computational Complexity, Probabilistic Computation, Automata Theory, Parallel and Distributed Computation, Information Theory, Cryptography, Machine Learning and Computational Number Theory Quantum Computation इत्यादि

#5. Graphics का क्षेत्र

Graphics का इस्तेमाल अधिकतर Animated Movies बनाने के लिए किया जाता है। लेकिन इसमें विशेषत्या Data Visualization के विषय मौजूद होते है। इससे जटिल डाटा को समझना और एनालिसिस्ट करना आसान हो जाता है। अगर आप 3D Graphics, Animation इत्यादि मे में रूचि रखते है तब आपको इस Graphics के फिल्ड में जा सकते है।

कंप्यूटर साइंस कोर्स के बारे में – Computer Science Course Details in Hindi

अगर आप अपना करियर कंप्यूटर विज्ञान के क्षैत्र में बनाना चाहते है तो आपको किसी भी प्रकार का कंप्यूटर कोर्स करना होगा। आप यह कोर्स ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों तरिके से कर सकते हैं। मैने यहां पर आपको कुछ कोर्स के बारे में बताया है जो भारत में लगभग हर जगह उपलब्ध हैं।

आप निम्नलिखित कोर्सेस में से किसी भी कोर्स को करके अपना करियर बना सकते है।

  1. स्नातक कोर्स (Degree course of Computer Science)
  2. डिप्लोमा कोर्स (Diploma course of computer science)
  3. Certificate course of computer science

कंप्यूटर कोर्स के प्रकार (Types of Computer Course)

कंप्यूटर साइंस में निम्नलिखित कोर्स के प्रकार होते हैं-

#1. Degree Course of Computer Science

कंप्यूटर साइंस में डिग्री कोर्स की बात करे तो आप Undergraduate (UG), Post Graduate (PG) और Doctorate (PhD) कोर्स कर सकते हैं। इन कोर्स की सीमा 3 से 5 वर्ष तक हो सकती हैं।

अगर आपने 10+2 पास की है तो आप सबसे पहले अंडर ग्रोजुएशन की डिग्री ले सकते है, और उसके बाद आप पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री ले सकते है। और इसके बाद आप अगर चाहे तो कंप्यूटर साइंस में सीधे भी कर सकते हैं।

#2. Diploma Course of Computer Science

यह एक प्रकार के शॉर्ट टर्म कॉर्स होते हैं, जो किसी विशेष विषय को सिखने के संबंध में होते है। इस तरह के कोर्स की सीमा 6 महीने स 2 वर्ष तक हो सकती है, जो आपके कोर्स पर निर्भर करती है। यह कोर्स आप विभिन्न तरह के इंस्टिट्यूट या कॉलेज में प्राप्त कर सकते हैं।

आजकल डिप्लोमा के लिए बहुत सारे कॉर्स मौजुद है जो अलग-अलग लेवल के कोर्स होते हैं। और इन लेवल के हिसाब से Eligibility भी अलग अलग होती हैं।

#3. Certificate Course of Computer Science

यह काफी छोटी समय सीमा के कोर्स होते है, और ऐसे कोर्स मुख्यत: सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए किया जाता है। कुछ Computer Certificate Course केवल कुछ दिनों या महीनों के होते है और कुछ कोर्स 1 या 2 वर्ष के लिए भी होते हैं। अगर योग्यता की बात करूं तो ज्यादातर कोर्स के लिए 10+2 पास विद्यार्थि योग्य हैं जो Computer Certificate Course को कर सकते है।

Computer Science में कितने Subjects होते हैं ?

आप उपरोक्त में से किसी भी कोर्स को चुनते है तो उन कोर्स में निम्नलिखित विषयों के बारे में पढ़ने के लिए मिलेगा।

  1. Algorithm
  2. Web technology
  3. Data structure
  4. Programming language
  5. Database system
  6. Operating System
  7. Bioinformatics
  8. Software
  9. Networking
  10. E-commerce
  11. Big data/Analytics
  12. DBMS
  13. Graphics
  14. Audio design
  15. logic data structure
  16. Math for computer science
  17. Data Structure & Algorithms
  18. Machine learning/Artificial intelligence
  19. Computer Organization & Architecture इत्यादि.

कंप्यूटर साइंस के क्षेत्र में Jobs और Salary क्या हैं ?

आज के समय में कंप्यूटर क्षैत्र में बहुत सारी नौकरियां है क्योंकि यह क्षैत्र बहुत बड़ा है। आपक कंप्यूटर साइंस में बहुत सारे करियर विकल्प मिल जाएंगे जिसके लिए आप कोर्स को पूरा करके नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

अगर आप कंप्यूटर क्षैत्र में नौकरी करते है तो आप अपना करियर बना सकते है और पूरी लाइफ में अच्छी कमाई भी कर सकते है। इसके अलावा इस क्षैत्र में आपको बहुत सारी नौकरीयां भी मिल जाती हैं।

  1. Web Developer
  2. IT Project Manager
  3. Software engineer
  4. Software Developer
  5. Database Administrator
  6. Database administrator
  7. Information Security Analyst
  8. Computer Systems Analyst
  9. Computer Network Architect
  10. Computer Hardware engineer
  11. Computer and Information Research Scientists
  12. Computer and Information Systems Managers इत्यादि.

कंप्यूटर साइंस में सैलेरी कितनी मिलती हैं ?

कंप्यूटर साइंस के क्षैत्र में विभिन्न तरह की नौकरियां हैं, जिसमें से कुछ नौकरी के लिए कम सैलरी मिलती है तो कुछ नौकरी के लिए बहुत ज्यादा सैलरी भी मिलती है। अत: सैलरी विभिन्न तरह के लेवल के आधार पर मिलती है।

कई बार आपकी सैलरी कॉलेज और यूनिवर्सिटी पर भी निर्भर करती है। मतलब अगर आप बड़िया कॉलेज से डिग्री या डिप्लोमा किया है तो आपको अच्छी नौकरी दी जाएगी। और अगर आपके पास अनुभव है तो फिर आपको जबरदस्त सैलरी मिलेगी।

वैसे मैं आपको बता दूं कंप्यूटर साइंस से संबंधित अधिकतर जॉब प्राइवेट क्षैत्र में ही मिलती है, क्योंकि एक कंप्यूटर इंजीनियर की जरूरत अधिकतर बिजनेस में पड़ती है। और ज्यादातर प्राइवेट कंपनीयां ही कंप्यूटर इंजीनियर की खोज में लगे रहते हैं। हालांकि प्राइवेट में भी काफी अच्छी सैलरी मिल जाती है बसर्ते आपके पास अच्छी नॉलेज और अनुभव होना  चाहिए.

अगर मैं आपको कंप्यूटर साइंस क्षैत्र में औसतन सैलरी के बारे में बताऊं तो इसमें आपको शुरूआती सैलरी 15000 रूपयें से 40,000 रूपयें प्रतिमाह मिल सकती हैं। लेकिन आपके अनुभव और नॉलेज के आधार पर सैलरी बढ़ती जाती हैं।

FAQs (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)

हमने इस आर्टिकल में जाना कि Computer Science Kya Hai और इसमें करियर कैसे बना सकते है? चलिए अब हम Computer Science से संबंधित कुछ आवश्यक FAQs पर चर्चा करते हैं।

कम्प्यूटर विज्ञान क्या है?

कम्प्यूटर साइंस में कंप्यूटर और कंप्यूटर के सिस्टम का अध्ययन किया जाता है जिसमें computer technology (hardware, software) के बारे में study की जाती है। यह विज्ञान data के साथ interact करने वाली प्रक्रियाओं का अध्ययन भी है, जिसमें डाटा को प्रोग्राम के रूप में दर्शाया जाता है। कम्प्यूटर विज्ञान केवल कंप्यूटर के बारे में नही है बल्कि यह संगणना और सूचना का भी अध्ययन है, इसलिए इस विज्ञान को Computation Science और Computing Science भी कहा जाता है।

कंप्यूटर साइंस का कोर्स कितने साल का होता है?

अगर आप कंप्यूटर साइंस के क्षैत्र में डिग्री का कोर्स करते है तो आपको 3 से 5 वर्ष लगेंगे और अगर आप कोई डिप्लोमा कोर्स करते है तो आपको उसमें 1 से 3 वर्ष का समय लगेगा।

कंप्यूटर साइंस लेने पर क्या होगा ?

अगर आप कंप्यूटर साइंस के क्षैत्र में अपना करियर बनाते है तो आपको कंप्यूटर टेक्नोलॉजी से संबंधित जानकारी होगी, और साथ ही जॉब के लिए बहुत सारे विकल्प भी होंगे। और वैसे भी आने वाला जमाना कंप्यूटर का ही है तो कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई करना एक बहुत अच्छा विकल्प है।

कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई कैसे करें ?

अगर आपको कंप्यूटर साइंस में रूचि है तो आप 12वीं के बाद ही अपना करियर शुरू कर सकते है, जिसके लिए आपको दो ऑप्शन मिलते हैं। इसमें पहल विकल्प Bachelor in computer applications (BCA) का मिलता है, और दूसरा विकल्प Bachelor in technology in computer science (B. Tech) का मिलता है। आप इनमे से किसी भी एक कोर्स की पढ़ाई करके अपना करियर शुरू कर सकते है।

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में जॉब सेक्टर कौन कौन से हैं?

आप कंप्यूटर साइंस में एक से बढ़कर एक सेक्टर में काम कर सकते हैं, जैसे-
Google
Facebook
Wipro
Adobe
Microsoft
Amazon
Flipkart
Infosys
Tech Mahindra
HCL
TCS
IBM आदि।

कंप्यूटर साइंस क्षैत्र में कैसी जॉब्स हैं?

इस क्षैत्र में बहुत सारे जॉब विकल्प हैं,जैसे-
डाटा साइंस
एनीमेशन
वेब डेवलपमेंट
वे एप्लीकेशन
कम्प्यूटर ग्राफिक्स
डाटाबेस मैनेजमेंट
कंप्यूटर मैन्युफैक्चरिंग
एथिकल हैकिंग
नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेशन
विडियो गेम डेवलपमेंट आदि।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में, मैने बताया कि कम्प्यूटर साइंस क्या है, कंप्यूटर साइंस इंजीनियर क्या है, कंप्यूटर साइंस इंजीनियर सैलरी कितनी होती है और कंप्यूटर साइंस कोर्स क्या है इत्यादि। इस आर्टिकल में आपको कंप्यूटर साइंस से संबंधित सभी आवश्यक जानकारीयां मिल जाएगी, जिससे आप अपना करियर Computer Science Field में बना सकते है।

वैसे मैं आपको बता दूं कि भविष्य में कंप्यूटर का बहुत ज्यादा स्कोप है अत: अगर आप अभी अपना करियर बनाने है तो कुछ सालों बाद आप एक अच्छी जॉब और अच्छी सैलरी आराम से प्राप्त कर पाएंगे। अत: मेरी सलाह यही है कि अगर आपको Computer Science में रूचि है तो आपको इसमें अपना करियर जरूर बनाना चाहिए।

इस लेख को को Twitter, Facebook जैसे सोशल मीडिया पर शेयर करके अन्य स्टूडेंट्स तक पहुंचाएं ताकि वे भी कंप्युटर साइंस के बारे मे जानकारी प्राप्त कर सके और आपको इस लेख मे दी गईं जानकारी कैसा लगा Comment मे लिखकर जरूर बताएं।

Leave a Comment