IOS क्या है इसका इतिहास – What is IOS in Hindi

अगर आप स्मार्टफोन मे दिलचस्पी रखते है तब आपने IOS का नाम अवश्य सुना होगा लेकीन क्या आपको IOS क्या है? यह पता है, तो आपको बता दे की यह एप्पल जो की एक काफी लोकप्रिय स्मार्टफोन कंपनी है इनके द्वारा विकसित किया गया एक काफी लोकप्रिय OS है यह हमें सिर्फ और सिर्फ एप्पल कंपनी के द्वारा बनाए जाने वाले iPhones मे Installed होते है।

हमेशा से ही एप्पल के द्वारा लॉन्च किए जाने वाले समस्त iPhones ट्रेंडिंग मे रहते है और आज के समय मे सोशल मीडिया के आ जाने से iPhones और भी कई अधिक ट्रेंडिंग मे रहते है क्योंकि इसमे कई सारे अलग अलग प्रकार के Advance Features मौजूद होते है और हर बार iPhones के नए Version मे कुछ न कुछ खास Feature जोड़ा जाता है और इन iPhones मे ही IOS मौजूद होता है।

पिछले आर्टिकल मे हमने एंड्रॉयड क्या है, इसकी की बात की थी तो आपको बता दे की Android के बाद दूसरा सबसे काफी लोकप्रिय मोबाइल OS iPhones के IOS को ही माना जाता है एंड्रॉयड के मुकाबले इसे और भी अधिक सुरक्षित माना जाता है उम्मीद है की अब आपने IOS को एक लेवल पर समझ लिया होगा लेकीन अभी भी इसके बारे मे काफी कुछ जानना बाकी है।

क्योंकि IOS इन दिनों कॉफी अधिक लोकप्रिय है और यह एक काफी शक्तिशाली OS है, तो चलिए फिर अब हम iOS से संबंधित समस्त जानकारी जैसे IOS क्या होता है, IOS का इतिहास, IOS के Features, IOS के Version, IOS और Android मे अंतर इत्यादि को विस्तार से जानने और कुछ नया सीखने की शुरुआत करते है।

आईओएस क्या है – What is IOS in Hindi

IOS का पूरा नाम iPhone Operating System होता है जो की एप्पल INC. के द्वारा विकसित किया गया मोबाइल पर चलने वाली ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) है, इसका उपयोग Apple के समस्त Touch Devices जैसे iPod, iPhone और iPad मे किया जाता है एवं यह Android की तरह ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं होने की वजह से इसका उपयोग सिर्फ और सिर्फ Apple कंपनी ही अपने Touch Devices पर करती है।

अगर आप आईओएस को समझना चाहते है तब हम उससे पहले ऑपरेटिंग सिस्टम को आसान शब्दों मे समझ देते है, ऑपरेटिंग सिस्टम एक प्रकार का सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है जो किसी डिवाइस को मनुष्यों द्वारा आसानी से Operate किया जा सके इस वजह से डिवाइस मे डाला जाता है यह डिवाइस मे मौजूद सभी सॉफ्टवेयर का मुख्य सॉफ्टवेयर होता है और IOS कुछ उसी प्रकार का एक सॉफ्टवेयर है जो की Apple के Touch Devices के लिए विकसित किया गया था।

जब शुरुआती समय मे IOS को लॉन्च किया गया था तब उस समय इसे iPhone OS के नाम से जाना जाता था लेकीन जब एप्पल कंपनी ने अपने iPad को Introduce किया तब उसी के साथ iPhone OS का नाम बदलकर IOS कर दिया गया और आज के समय IOS दुनिया की दूसरी सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला Mobile Operating System है।

वैसे तो Android का Active Users का base IOS से काफी बड़ा है लेकीन यह Android से सुरक्षित माना जाता है क्योंकि Android OS ओपन सोर्स है और वही पर IOS ओपन सोर्स नहीं है यह सिर्फ और सिर्फ Apple के द्वारा बनाए गए Hardware पर Run होता है। जब IOS के पहले Version को लॉन्च किया गया था तब उसमे Multitouch Gesture, Visual Voicemail, Multitouch Keyboard जैसे विभिन्न तरह के Features मौजूद थे।

IOS का इतिहास (History)

IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का डेवलपमेंट iPhone के साथ ही 2005 मे शुरू किया गया था, जिसके बाद इसे iPhone के साथ ही पहली बार 2007 मे मे एप्पल कंपनी के संस्थापक Steve Jobs द्वारा लॉन्च किया गया था जिसमे Multitouch Gesture, Visual Voicemail, Multitouch Keyboard, iTunes Sync, iTunes WIFI Music Store, Core IOS UI, Maps जैसे कई Features मौजूद तो थे ही लेकीन इसके साथ साथ यह किसी भी Third Party Apps को Support भी नहीं करता था।

लेकीन इसमे Apple App Store का Feature उपलब्ध नहीं था जिसके बाद इसी के नए Version के साथ 2008 मे Apple App Store को Release किया गया उस समय App स्टोर मे केवल 500 Applications ही मौजूद थे लेकीन इस समय मे इसे IOS के नाम से नहीं जाना जाता था बल्कि इसे iPhone OS कहा जाता था जिसके बाद 2010 मे iPhone OS के चौथे Version को Release किया गया जिसके साथ ही इसका नाम IOS कर दिया गया था।

और कुछ इस तरह दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा उपयोग किया जाने वाले मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम की शुरुआत हुआ था।

IOS की परिभाषा (Introduction)

IOS Apple कंपनी के द्वारा विकसित किया गया XNU Kernel आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम, जो की सिर्फ Apple के Touch devices वाले Hardware पर Run होता है, इस OS को बनाने के लिए Assembly Language, C, C++, Swift और Objective C जैसी प्रोग्रामिंग भाषाओ का उपयोग किया गया, इस ऑपरेटिंग सिस्टम के Applications को विकसित करने के लिए Developers द्वारा अधिकतर Swift भाषा का ही उपयोग किया जाता है।

IOS के लॉन्च किए गए Versions और उनके Features

IOS को एक बेहतर ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने के लिए और समय के साथ आने वाले बदलाव को Accept करने के लिए IOS ऑपरेटिंग सिस्टम के समय समय पर कई सारे Versions लॉन्च किए गए और उन Versions मे हर बार नए Features जोड़े जाते थे जिन सभी Versions और Features को मैंने नीचे Mention किया है :-

iPhone OS Version 1.0

यह IOS का सबसे पहला Version था जिसे की सन 2007 मे एप्पल कंपनी द्वारा लॉन्च किया गया था, जो की एप्पल कंपनी के iPhones मे inbuild था इसमे Multitouch Gesture, Multitouch Keyboard जैसे कई Feature और YouTube, Camera, Clock, Notes, Photos जैसे कई सारे Application भी मौजूद थे, एवं यह Version केवल और केवल 2010 तक ही Supportable था।

iPhone OS Version 2.0

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का दूसरा Version था जिसे की सन 2008 मे Release किया गया था उस समय इसे iPhone 3G के साथ Release किया गया था, इसमे App स्टोर को भी जोड़ा गया था जिसमे की उस समय करीबन 500 से अधिक Applications मौजूद थे जिन्हे की हम इस सिस्टम मे इंस्टाल कर सकते थे, इसमे काफी सारे अलग अलग Bug को फ़िक्स किया गया था और कुछ कुछ नए Feature जैसे इसमे हम Screen को Capture कर सकते थे इत्यादि को जोड़ा गया था।

iPhone OS Version 3.0

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का तीसरा Version था जिसके बारे एप्पल कंपनी ने मार्च 2009 मे Announce किया था लेकीन इसे सन Release जून 2009 मे किया गया, इसमे काफी सारे विभिन्न तरह के नए नए Features को जोड़े गए थे जैसे कि इसमे Cut, Copy, Paste का Feature जोड़ा गया था एवं इसके पहले वाले Version मे मौजूद कुछ Bugs को भी Fix किया गया था।

IOS Version 4.0

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का चौथा Version था जिसकी Announcement Apple Special event के दौरान अप्रेल 2010 मे किया गया था लेकीन इसे Officially Release जून 2010 मे किया गया और इसे बाकी OS के जैसा नाम नहीं दिया गया था बल्कि इसका नाम iPhone OS से बदलकर IOS कर दिया गया था, इसमे iBook’s नामक App को Introduce किया गया।

इसमे काफी सारे विभिन्न तरह के नए नए Features को जोड़ा गया था जैसे इस सिस्टम मे हम 5x ज़ूम कर सकते थे, यह Multitasking को Support करता था, इसमे मौजूद कैमरा मे Tap To Focus का Feature जोड़ा गया था, Music का Playlist बना सकते थे एवं इसके अलावा इसमे काफी सारे Bugs को Fix किया गया था।

IOS Version 5.0

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का पाँचवा Version था जिसे की Apple Worldwide Developers Conference के दौरान जून 2011 मे Announce कर दिया गया था लेकीन इसे मुख्य तौर पर Release अक्टूबर 2011 मे Release किया गया, इस Version मे इन्होंने iCloud को Introduce किया था, इसमे Find My Device का Feature जोड़ा गया था जिसकी मदद से हम अपने Device को Track कर सकते थे।

इसमे इन्होंने iMessage को भी Introduce किया था और इसके अलावा पिछले Version मे मौजूद काफी सारे Bugs को भी Fix कर दिया था।

IOS Version 6.0

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का छठवा Version था जिसके बारे मे सबसे पहले Apple कंपनी ने Worldwide Developers Conference मे Announce किया था और यह Conference जून 2012 मे Organize किया गया था, जिसके बाद इसे Officially तौर पर सितंबर 2012 मे Release किया गया, इसमे पिछले Version मे मौजूद काफी सारे Bugs को Fix किया गया था।

एवं इसमे काफी सारे नए नए Features जोड़े गए थे जैसे की इसमे Google Maps को हटाकर उसे Apple Maps से Replace कर दिया गया, इस सिस्टम के सेटिंग मे Facebook को Integrate कर दिया गया था, iPad मे Clock App को Introduce किया गया था, इसमे मौजूद Safari Browser को Update किया गया था जिसमे की Full Screen Landscape View जोड़ा गया था इत्यादि।

IOS Version 7.0

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का सातवा Version था जिसके बारे मे भी Apple कंपनी ने जून 2013 मे Organized Worldwide Developers Conference के दौर Announce किया था जिसे बाद मे जिसके बाद इसे सितंबर 2013 मे Release किया गया, जिसमे की इसका यूजर इंटरफेस बाकी Versions के हिसाब से पूरी तरह से Redesign किया गया था अब Notifications Lock screen पर भी दिखाई देते थे।

इसमे Siri जो की एक Virtual Assistant है उसे काफी हद तक improve किया गया था, IOS Version 7.0 मे पिछले Versions मे मौजूद काफी सारे Bugs को भी Fix किया गया था एवं इसमे काफी सारे नए Features भी जोड़े गए थे जैसे इसमे Airdrop नामक Wireless Sharing Technology को Introduce किया गया था एवं यह IOS का पहला Version था जो की 64bit के Processor को Support करता था।

IOS Version 8.0

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का आठवा Version था जिसे की सबसे पहले जून 2014 मे हुए Apple कंपनी के Worldwide Developers Conference मे Announce किया गया था जिसके बाद इसे कुछ समय बाद ही सितंबर 2014 मे Release कर दिया गया इसमे Apple ने Safari Browser, Siri, iCloud Drive, Passbook और App Store जैसे सिस्टम Applications को Update करके और अच्छा बना दिया गया था।

IOS के इस वाले Version मे Apple ने Tips नामक Application को Introduce किया गया था जो की उपयोगकर्ता को IOS के बारे मे Tips प्रदान करता था, इसमे पिछले Versions मे मौजूद कुछ Bugs को भी Fix किया गया था और इसमे कुछ नए Features भी जोड़े गए थे जैसे इसके 8.4 Version मे Apple ने Apple Music नामक एक नए Music Streaming Platform को जोड़ा था इत्यादि।

IOS Version 9.0

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का नौवा Version है जिसके बारे मे Apple ने सबसे पहले जून 2015 मे अपने एक Worldwide Developers Conference मे Announce किया था, जिसके कुछ समय पश्चात इसे सितंबर 2015 मे Release कर दिया गया, इसमे काफी सारे नए नए Changes किए गए थे जैसे इसमे 2 काफी महत्वपूर्ण Battery Saving Update किया गया था।

इसके यूजर इंटरफेस के डिजाइन मे काफी सारे बदलाव किया गया था, इसमे Multitasking के Feature को भी Improve किया गया था, इसके Performance और सुरक्षा मे भी काफी बदलाव किया गया था, इसमे Nightshift नाम से एक नए Display mode को भी Introduce किया गया था।

IOS Version 10

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का दसवा Version था जिसके बारे मे सर्वप्रथम, पहले की तरह ही अपने एक Worldwide Developers Conference के दौरान Announce किया गया था जिसके बाद इसे सितंबर 2016 मे Officially release कर दिया गया, इसमे पिछले Versions मे मौजूद काफी सारे अलग अलग Versions को Fix कर दिया गया और इसमे System और App Features मे बदलाव किया गया था।

IOS Version 11

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम अगला Version था जिसके बारे मे पिछली बार की तरह ही Apple ने अपने एक Worldwide Developers Conference के दौरान Announce किया था फिर जून 2017 मे इसे release किया गया, इसमे कुछ नए नए Changes और Features जैसे Add किया गया था जैसे Battery Icon और इसके साथ कई सारे App के Icon को Redesign किया गया था, इसमे नया File App को Introduce किया गया।

IOS Version 12

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम के Version 11 के बाद का अगला Version था जिसके बारे मे हर बार की तरह ही Worldwide Developers Conference मे Announce किया गया लेकीन इसे Release सितंबर 2018 मे Release किया गया इसमे Speed और Performance को बेहतर बनाया गया था, इसमे Memoji नामक Animoji को Apple Introduce किया इत्यादि।

IOS Version 13

यह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम के Version 12 के बाद का अगला Version है जिसके बारे मे Apple के WWDC यानि Worldwide Developers Conference के दौरान Announce किया गया था जिसके कुछ समय बाद ही इसे Officially 2019 मे ही Release किया गया, इस Version के दौरान IOS के Privacy, user interface, Siri, Performance इत्यादि मे काफी सारे बदलाव किए गए थे।

IOS Version 14

यह IOS का अगला Version था जिसकी Announcement हमेशा के तरह ही WWDC यानि Worldwide Developers Conference के दौरान ही किया गया और बाद मे इसे Release कर दिया गया। IOS के इस Version मे Widgets, Home Screen, App Library, siri, Calendar, Message, Camera, Maps इत्यादि मे काफी सारे बदलाव किया गया था।

IOS Version 15

IOS के इस Version का Announcement Apple कंपनी ने अपने Worldwide Developers Conference पर किया था जिसे की सितंबर 2021 को Release कर दिया गया, इस Version मे Siri का उपयोग ऑफलाइन कर सकते थे, Apple News एवं Safari Web Browser को Redesign किया गया था, Apple Maps मे काफी सारे नए नए Feature जोड़े गए थे इत्यादि।

IOS Version 16

IOS ऑपरेटिंग सिस्टम का यह Latest Version है, जिसके बारे मे भी हमेशा की तरह ही Apple ने अपने Worldwide Developers Conference के दौरान ही Announce किया था और बाद मे सितंबर 2022 को इसे Release किया गया, इसमे Live Dictation, Live Text, Siri, Visual Search, Accessibility, WIFI Network इत्यादि को Improve किया गया है।

IOS और Android मे अंतर

Android दुनिया का पहला सबसे अधिक लोकप्रिय मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है और IOS दुनिया दूसरा सबसे लोकप्रिय मोबाइल पर चलने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है तो चलिए इन दोनों मे क्या अंतर है इसे समझते है :-

IOSAndroid
यह सिर्फ और सिर्फ Apple के Touch Devices के लिए Develop किया गया है। यह सभी तरह के स्मार्टफोन कंपनीयो के लिए Develop किया गया है।
यह XNU Kernel पर आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम है। यह Linux Kernel पर आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम है।
इस ऑपरेटिंग सिस्टम के Application को Develop करने के लिए खासकर Swift प्रोग्रामिंग भाषा का उपयोग किया जाता है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम के Application को Develop करने के लिए खासकर Java, Kotlin प्रोग्रामिंग भाषा का उपयोग किया जाता है।
इसमे Siri नामक Virtual Assistant मौजूद है। इसमे Google Assistant नामक Virtual Assistant मौजूद है।
यह Apple कंपनी के द्वारा विकसित किया गया है। यह Google कंपनी के द्वारा विकसित किया गया है।

FAQ’s (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)

क्या iOS एक तरह का मोबाइल है?

जी नहीं है, यह एक प्रकार का मोबाइल पर चलने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है।

iOS और Android OS मे कौन सा अच्छा है?

iOS और Android OS दोनों ही अपने स्थान पर काफी अच्छे है लेकीन सुविधा और सुरक्षा के लिए iOS बेस्ट है लेकीन साथ मे इसका मूल्य भी काफी ज्यादा है।

क्या iOS और iPhone दोनों एक ही है?

जी नहीं, iOS एक प्रकार का OS है और iPhone एक प्रकार का Smartphone है।

निष्कर्ष

IOS अपने आप मे ही काफी सुविधाजनक, सुरक्षित और लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसे की लगातार समय के साथ और अधिक बेहतर बनाया जा रहा है ऐसे मे हमें कही न कही IOS को लेकर जानना जरूरी था, क्योंकि आगे चलकर हमें इस जानकारी की आवश्यकता पड़ सकती है। अब मैंने आप सभी के साथ IOS kya hai, इससे जुड़े समस्त जानकारीयो को विस्तार से साझा कर दिया है।

उम्मीद है की अब आप सभी ने इस आर्टिकल को पढ़कर काफी कुछ नया सीखा होगा और आईओएस क्या है (What is IOS in Hindi) इससे संबंधित समस्त जानकारीयो को विस्तार से प्राप्त कर लिया होगा, अब अंत मे मेरा अपने प्रिय पाठकों से यही निवेदन है की इस आर्टिकल को अन्य लोगों तक सोशल मीडिया जैसे Facebook, Twitter इत्यादि के जरिए जरूर शेयर कीजिए और इस आर्टिकल से जुड़े किसी भी तरह के सवाल या सुझाव को नीचे Comment मे जरूर लिखीए।

Leave a Comment