डेटाबेस क्या है इसके प्रकार – What is Database in Hindi

What is Database in Hindi : आजकल बहुत सारे लोग जानना चाहते है कि डेटाबेस क्या है, डेटाबेस के उद्देश्य क्या हैं, डेटाबेस की विशेषताएँ क्या हैं, डेटाबेस कितने प्रकार के होते हैं और आखिर डेटाबेस की जरूरत क्यों पड़ी इत्यादि। इस तरह के अनेक आपके मन में भी होंगे। और आपके पास भी ऐसे ही सवाल है तो इस लेख को पूरा अवश्य पढ़े।

आज के समय में छोटी से बड़ी, सब जगह पर डेटा ही डेटा उपलब्ध हैं, यानी एक चैटिंग एप्प से लेकर बड़े बिजनेस और सरकारी काम में, सभी जगह डेटा का उपयोग होता है। लेकिन कभी आपने यह सोचा है कि यह सभी डेटा कहां पर रखे जाते हैं और इसे Manage कैसे किया जाता है? तो मैं आपको बता दूं कि यह सब Database की मदद से होता हैं।

तो चलिए आज इस लेख में हम जानेंगे कि Database क्या होता हैं और इससे जुड़े अनेक सवालों के जवाब भी प्राप्त करेंगे।

डेटाबेस क्या है (What is Database in Hindi)

Database क्या है, तो यह कई सारे डेटा का एक समूह होता है, मतलब कई सारे डेटा को डेटाबेस में एक व्यवस्थित तरीके से स्टोर किया जाता है। लेकिन डेटाबेस को समझने से पहले यह समझना जरूरी है कि आखिर डेटा क्या होता है?

डेटा (Data) क्या है, तो डेटा किसी भी Information का एक छोटा-सा रूप होता है जो किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान से जुड़ा हुआ तथ्य हो सकता है। उदाहरण के लिए आपका नाम, पिता का नाम, जन्म तारिख, उम्र, वजन, मोबाइल नंबर, एड्रेस इत्यादि। यह सभी एक प्रकार से डेटा ही हैं जो अलग-अलग अनेक फॉर्मेट जैसे Text, Number, Image, File आदि, के रूप में होते हैं।

यह सभी डेटा Database में सुव्यवस्थित होते है जिससे इन्हे आसानी से Access किया जा सके। और access करने के लिए किसी विशेष सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम की जरूरत होती है। जैसे Microsoft Excel जिसका उपयोग टेबल के रूप में डाटा को स्टोर करने के लिए किया जाता है।

आज इंटरनेट पर बहुत सारी Dynamic Websites हैं जो database का उपयोग करती हैं। उदाहरण के लिए फेसबुक जिसके पास अपने यूजर्स से संबंधित अनेक जानकारी हैं, जैसे हमारा नाम, हमारी फोटो, विडियों, दोस्तों के नाम, मैसेज, पोस्ट, स्टेट्स आदि। और यह सभी डेटा सर्वर में उपस्थित डेटाबेस में स्टोर रहते हैं।

डेटाबेस, डेटा का एक संगठित संग्रह (Collection) है यानी एक इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम है जो डेटा को आसानी से Access करने, जोड़ने – हटाने और अपडेट करने की अनुमति देता है।

डेटाबेस का इतिहास क्या है (History)

विश्व में सबसे पहला कंप्यूटरीकृत डेटाबेस 1960 के दशक की शुरूआत में Charles Bachman ने तैयार किया था। पूरे विश्व में डेटाबेस का इतिहास शुरूआती दो कंप्यूटरीकृत डेटाबेस से हुआ था, जो निम्न लिखित हैं-

1. पहले डेटाबेस को एकीकृत डेटा स्टोर (Integrated Data Store) या IDS के रूप में जाना जाता था।

2. दूसरे डेटाबेस पहले डेटाबेस के तुरंत बाद सूचना प्रंबंधन प्रणाली (MIS), IBM द्वारा बनाया गया एक डेटाबेस था।

डेटाबेस के उद्देश्य क्या हैं (Intent)

डेटाबेस का एक प्रमुख उद्देश्य डेटा को सुव्यवस्थित ढंग से संग्रहीत करना, पुनर्प्राप्त करना और प्रबंधित (Manage) करना है। दूसरी सरल भाषा में कहे तो डेटाबेस डेटा का एक संगठित संग्रह है। इसका एक और उद्देश्य डेटा को सुरक्षित रखना भी है।

डेटाबेस यानी DBMS (Database Management System) सभी डेटा को स्टोर करके व्यवस्थित करता है।

डेटाबेस के ट्रेंडिंग उदाहरण (Examples)

वर्तमान समय में कुछ लोकप्रिय डेटाबेस के उदाहरण हैं, जैसें- MySQL, Oracle Database, FileMaker Pro, dBASE,Foxpro, Microsoft Access और Microsoft SQL Server आदि। अब तक आप समझ गये होंगे कि डेटाबेस क्या होता है, तो चलिए अब हमें डेटाबेस को और अधिक अच्छे से समझते हैं।

डेटाबेस का उपयोग कहाँ – कहाँ होता हैं (Uses)

डेटाबेस का के काम करने का एरिया बहुत बड़ा हैं, मतलब आपको डेटाबेस से संबंधित अनेक अनगिनत Examples मिल जाएंगे। लेकिन मैने यहां पर कुछ आवश्यक डेटाबेस संबंधित उदाहरण बताए हैं जहां डेटाबेस का उपयोग होता हैं।

#1. सोशल मीडिया : आज इंटरनेट पर बहुत सारे सोशल मीडिया भरे पड़े हैं, जैसे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस, इंस्टाग्राम, टेलीग्राम इत्यादि। इन सभी सोशल मीडिया पर अनेक तरह का डेटा मौजूद हैं, जैसे नाम, जन्म तारिख, इमेज, GIF, गाने, शॉर्ट विडियो, चैट इत्यादि। और यह सभी जानकारी डेटाबेस में सेव रहती हैं।

#2. ऑनलाइन विडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म : YouTube, Netflix आदि अनेक तरह के ऑनलाइन विडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म हैं, जहां पर विडियों स्ट्रीमिंग के लिए सभी डेटा डेटाबेस से व्यवस्थित होता है।

#3. शेयर मार्केट : आपको तो पता ही होगा कि शेयर मार्केट में हजारों कंपनीयां रजिस्टर्ड है जिसमें हर सैकेंड में पैसे लगते है और निकलते हैं। यह सभी पल-पल का डेटा डेटाबेस से ही मैनेज होते हैं।

#4. आधार कार्ड : सरकारी आदेश के बाद आज हमारा हर डॉक्यूमेंट आधार कार्ड से लिंक है। मतलब एक आधार कार्ड में ही बहुत सारी जानकारी मिल जाती हैं। तो करोड़ो लोगों के आधार कार्ड की जानकारी डेटाबेस में ही सुरक्षित और व्यवस्थित रखी जाती हैं।

#5. बैंकिंग सुविधा : आज के समय में बैंक से लेन-देन हर सैकेंड में होता है क्योंकि अब बैंकिंग का काम मोबाइल से भी किया जाता है। और यह एक-एक सैकेंड का डेटा Database में सुरक्षित रहता है।

#6. ऑनलाइन गेम : आपने PUBG गेम जरूर खेला होगा जिसमें एक साथ कई मिलियन यूजर्स एक साथ खलते हैं। अब सोचने की बात है कि  इन सब के नाम से गेमिंग हिस्ट्री कैसे मैनेज की जाती होगी, तो यह सब डेटाबेस से संभव है।

#7. ऑनलाइन शॉपिंग : एक भी शॉपिंग ऑर्डर के लिए आपका नाम, एड्रेस, मोबाइल नंबर, भूगतान राशि आदि से संबंध अनेक तरह के डाटा होते हैं। इसी तरह हर मिनट में हजारों ऑर्डर आते हैं तो इतने सारे डाटा का भी मैनेजमेंट Database से होता है।

#8. उद्योग क्षेत्र : इसका उपयोग उद्योग क्षैत्र में काफी ज्यादा है क्योंकि उद्योग से संबंधित अनेक तरह का डेटा होता हैं, जैसे प्रोडक्शन का डेटा, वर्कर का डेटा, कस्टमर का डेटा, लागत, लाभ और हानी से संबंधित वित्तीय लेखा इत्यादि। और यह सभी भी डेटाबेस में Store रहते हैं।

नोट : इसके अलावा भी अन्य अनेक जगहों पर इसका उपयोग कर सकते हैं, जैसे ईमेल, फ्लाइट रिजर्वेशन, कॉलेज /यूनिवर्सिटीज, हॉस्पिटल मैनेजमेंट सिस्टम, टेलीकम्यूनिकेशन आदि।

डेटाबेस की विशेषताएं क्या हैं (Features)

अगर डेटाबेस की विशेषताओं की बात करें तो ये निम्नलिखित हैं-

  1. इसमें बहुत सारे डाटा को व्यवस्थित ढंग से स्टोर किया जा सकता हैं।
  2. इसमें आप Security और Privacy को अच्छे से मैनेज कर सकते है।
  3. इसमें डेटा का बैकअप और रिकवर पर विशेष ध्यान दिया जाता है।
  4. डेटाबेस में कम से कम Space में अधिक से अधिक डेटा स्टोर किया जा सकता है।
  5. इससे बहुत सारे उपयोगकर्ता को एक साथ Access कर सकते हैं।

डेटाबेस के प्रकार कितने हैं (Types)

अभी हमने जाना कि अलग-अलग तरह के काम के लिए अलग-अलग तरह के डेटाबेस का इस्तेमाल किया जाता हैं। आज कार्य के आधार पर डेटाबेस को कुछ भागों में वर्गीकृत किया गया हैं जिसमें से कुछ विशेष डेटाबेस के प्रकारों के बारे में, मैं आपको बता रहा हूं। Types of Database in Hindi में निम्नलिखित हैं-

#1. Relational Database : यह एक बहुत ही पॉपुलर डेटाबेस है जिसे 1980 के दशक से बहुत ज्यादा उपयोग किया जा रहा हैं। आज बहुत सारे लोग जानना चाहते है कि रिलेशनल डेटाबेस क्या है?

मैं आपको बता दूं कि इस प्रकार के डेटाबेस में डेटा को कॉलम और रॉ में रखा जाता है और अलग-अलग टेबले बनयी जाता है। और जो टेबरे एक दुसरे से Related होती है उन्हे Structured Query Language (SQL) से जोडकर उपयोग किया जाता हैं। और इसी को रिलेशनल डेटाबेस कहा जाता हैं।

#2. Object Oriented Databases : इस तरह के डेटाबेस में डेटा को Object और Class के रूप में प्रदर्शित किया जाता है। यहां पर Object एक रियल वर्ल्ड डाटा होता हैं, जैसे नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आदि और एक क्लास में कई सारे Objects होते है। देखा जाए तो यह भी एक प्रकार का रिलेशनल डेटाबेस ही है।

#3. NoSQL Database : सभी डेटाबेस मुख्यत: दो प्रकार के होते हैं, जिसमें एक Relational और दूसरा Non-Relational होता है। अगर मैं NoSQLडेटाबेस की बात करूं तो यह एक Non-relational Database कहा जाता है। जिसमें डेटा को File-folder System की तरह Unstructured तरीके से संग्रहित करते हैं।

#4. Distributed Database : इसके नाम से ही पता चलता है कि यह डेटाबेस डिस्ट्रीब्यूटेड प्रकार का है यानी इसमें स्टोर की गयी फाइले एक ही स्थान पर न होकर अलग-अलग कंप्यूटर डिवाइस और अलग-अलग स्थानों पर डिस्ट्रीब्यूट होती हैं। डिस्ट्रीब्यूट डेटाबेस सिस्टम से डेटाबेस की स्पीड और साइज बढ़ाई जाती है।

#5. Graph database : डेटा अनेक प्रकार के होते है और उन्हे डेटाबेस के द्वारा समझने के अनुसार पेश किया जाता है। देखा जाए तो समझने की दृष्टि से सबसे अच्छा डेटाबेस ग्राफ ही है क्योंकि इससे किसी भी डेटा को बहुत आसानी से समझा जा सकता है। इसके अलावा इन डेटा के बीच रिलेशनशिप भी होता है जो डेटाबेस में ही स्टोर किया जाता है।

#6. Hierarchical database : यह डेटाबेस वृक्ष के रूप में Nodes के माध्यम से व्यवस्थित होता है। जिसमें डेटाबेस के सभी Nodes एक दूसरे से आपस में लिंक होते हैं।

इसी तरह डेटाबेस अपने कार्यो के आधार पर अनेक प्रकार का होता हैं, जिसमें से मैने कुछ के बारे में बताया हैं।

डेटाबेस के क्या फायदे हैं (Benefits)

चलिए अब मैं आपको Benefits of Database in Hindi में बताता हूं जो निम्नलिखित हैं-

  1. डेटाबेस की वजह से किसी भी जानकाीर को आसानी से Access कर सकते हैं।
  2. डेटाबेस से कम जगह में भी ज्यादा डेटा को स्टोर किया जा सकता हैं।
  3. व्यवस्थित डेटाबेस से डाटा को फिल्टर करना आसान है।
  4. इससे डाटा को अलग-अलग प्रकार से Sort किया जा सकता है।
  5. इसमें डेटा को आप Insert, Edit, Delete इत्यादि तरह के बदलाव आसानी से कर सकते हैं।
  6. डेटाबेस से एक ही समय में बहुत सारे यूजर्स एक साथ Access कर सकते हैं।
  7. इससे डेटाबेस टेबल से डेटा को Import और Export करना बेहद आसान है।
  8. डेटाबेस से डेटा सुव्यवस्थित रहता है और सुरक्षित भी रहता है।
  9. यह Redundancy को कम करता है।
  10. इससे बैकअप और रिकवर जैसी सुविधा मिलती हैं।
  11. डेटाबेस में प्रोग्राम और डेटा को एक-दुसरे से अलग रखा जाता है।

डेटाबेस के प्रमुख घटक कौन कौन से हैं (Elements)

किसी भी डेटाबेस के प्रमुख घटक तीन प्रकार के होते हैं, जैसेंृ

  1. Field
  2. Record
  3. Table

इसके अलावा भी अन्य घटक होते हैं, जैसे- data, information, Quires, forms, Reports इत्यादि।

#1. Field Database element : किसी भी डेटाबेस की टेबल में Fieldsको columns में दिखाया जाता हैं, मतलब टेबल के कॉलम को फील्ड कहा जाता है। टेबल में कॉलम उर्ध्वाधर (Vertical) पंक्ति होती हैं।

#2. Record Database element : किसी भी डेटाबेस की टेबल में रिकॉर्ड को Rows के द्वारा प्रदर्शित किया है। ध्यान दे कि Row क्षैतिज (Horizontal) पंक्ति होती हैं।

#3.Table database element : किसी भी डेटाबेस के लिए Fields और Records मिलकर complete table का निर्माण करते हैं। इस टेबल में अनेक तरह के अलग-अलग डेटा को डाला जाटा है, जो एक दूसरे से संबंधित होते हैं।

DBMS क्या है (Database Management System)

अब तक हमने जाना की डेटाबेस क्या है, इसके फायदे क्या है और डेटाबेस मॉडल के प्रकार कितने है?

अब अगर मैं DBMS की बात करूं तो यह एक सॉफ्टवेयर होता है जिसकी मदद से डेटाबेस को संचालित किया जाता है। मतलब डेटाबेस को Edit, Update या Delete किया जाता है। इन्ही सॉफ्टवेयर की मदद से आप डेटाबेस को बनाते हैं।

Database management systems (DBMS) के लिए सॉफ्टवेयर जरूरी है जो निम्न तरीके के काम करता हैं-

  1. Database Create करना।
  2. Data Access करना
  3. Data Delete करना
  4. Data Insert करना
  5. Data Edit करना
  6. Data Update करना

FAQs – What is Database in Hindi

इस आर्टिकल में हमने अब तक जाना कि डेटाबेस क्या है? चलिए अब हम Database से संबंधित आवश्यक FAQs पर चर्चा करते हैं।

Database Management System के उदाहरण कौन से है?

DBMS के लिए सबसे ज्यादा उपयोग किए जाने वाले उदाहरण निम्नलिखित हैं-
1. MySQL
2. SQL Server
3. IBM DB2
4. Simple DB
5. FoxPro
6. Microsoft Access
7. Oracle

डेटाबेस की भाषाएँ क्या है?

डेटाबेस के लिए SQL यानी  Structured Query Language का इस्तेमाल होता है जिससे Database को manage किया जाता है। मतलब डेटाबेस पर Create, Insert, Search, Update, Delete जैसे काम किये जाते हैं।

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम के नुकसान क्या है?

इसके निम्नलिखित नुकसान हैं-
1. डेटाबेस मैनेजमेंट के लिए अच्छे ट्रेंड स्टाफ की जरूरत पड़ती हैं।
2. DBMS को चलाने के लिए High Configuration System की जरूरत पड़ती है जो काफी महंगा होता है।
3. इसमें सबी डाटा को एक डेटाबेस में स्टोर किया जाता है तो Failure की संभावना ज्यादा होती हैं।
4. इसके हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर काफी महंगे होते हैं।

निष्कर्ष

इस लेख में, मैने आपको डेटाबेस से संबंधित सभी आवश्यक जानकारीयां दी हैं, जैसे- Database क्या है, इसका उद्देश्य क्या है, इसकी विशेषताएं क्या है, इसे कहां-कहां उपयोग किया जाता है, ये कितने प्रकार का होता हैं, और DBMS क्या है इत्यादि।

आर्टिकल के अंत में, मैं आपको सरल शब्दो में बताता हूं कि डेटाबेस क्या है? यह एक सिस्टम या एक प्लेटफॉर्म होता है जो डेटा या सूचना को इलेक्ट्रॉनिक रूप से कंप्यूटर सिस्टम में स्टोर, अपडेट और प्रबंधित करता है। मुझे पूरी उमीद है कि इस आर्टिकल की मदद से आपको ‘डेटाबेस क्या है’ से संबंधित सभी आवश्यक सवालों के जवाब मिले होंगे।

आप डेटाबेस से संबंधित अतिरिक्त जानकारी के लिए अपना Comment लिखकर भेज सकते है, जिसका हम जल्दी से जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे।

Leave a Comment