एंड्रॉयड क्या है इसका इतिहास – What is Android in Hindi

नमस्ते दोस्तों, आपने अक्सर मोबाइल दुकान वालों या किसी न किसी को यह कहते हुए सुना होगा की यह फोन एंड्रॉयड है की नहीं, भले ही उनको खुद यह पता नहीं होता है की एंड्रॉयड क्या है (What is Android in Hindi) बहुत सारे ऐसे लोग है जिन्हे लगता है की एंड्रॉयड एक प्रकार का मोबाइल है लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है लेकिन हाँ जरूर यह मोबाइल के साथ Embedded रहता है।

मोबाइल फोन की दुनिया मे एंड्रॉयड का काफी बड़ा नाम है क्योंकि यह दुनिया के लगभग 250 करोड़ Active मोबाइल फोन मे मौजूद है इससे आप यह अंदाजा लगा सकते है की मोबाइल फोन की दुनिया मे एंड्रॉयड की कितनी अधिक अहमियत है। लगभग हर कोई एंड्रॉयड का उपयोग कर रहा है लेकिन उनमे से अधिकतर लोगों को एंड्रॉयड के विषय मे और एंड्रॉयड फोन क्या है? इसके विषय मे बिल्कुल भी जानकारी नहीं है।

भले ही आप मोबाइल फोन का उपयोग बहुत ही कम करते हो लेकिन फिर भी हमें एंड्रॉयड जैसे काम की चीजों के बारे मे जानकारी रखनी चाहिए क्योंकि मोबाइल फोन तो आज के समय मे हमारे जीवन का एक हिस्सा है लेकिन इसके साथ साथ एंड्रॉयड भी हमारे जीवन का ही एक हिस्सा बन चुका है ऐसे मे हर किसी को एंड्रॉयड को जानना और समझना जरूरी है।

इस वजह से ही ही मैंने आज के इस काफी महत्वपूर्ण आर्टिकल को लिखने का सोच जिसके माध्यम से मैं आप सभी के साथ एंड्रॉयड क्या है, एंड्रॉयड का इतिहास, एंड्रॉयड के विशेषताएं, एंड्रॉयड को किसने बनाया है? और इससे जुड़ी समस्त जानकारी को विस्तार से साझा करने की कोशिश करूंगा, तो चलिए अब बिना किसी देरी के चर्चा शुरू करते है।

एंड्रॉयड क्या है – What is Android in Hindi

एंड्रॉयड किसी भी मोबाइल का नाम नहीं है बल्कि यह मोबाइल पर उपयोग क्या जाने वाला सबसे अधिक लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसका इस्तेमाल 250 करोड़ से अधिक Active मोबाइल पर किया जा रहा है जो की Linux Kernel पर आधारित है मतलब की लिनक्स जो की एक ओपन सोर्स और पूर्ण रूप से फ्री ऑपरेटिंग सिस्टम है सर्वर और Computers के लिए, उसमे काफी सारे अलग अलग Modification करके एंड्रॉयड को विकसित किया गया है सीधे शब्दों मे कहे तो एंड्रॉयड लिनक्स का ही एक वर्ज़न है।

अभी आपको अच्छे से एंड्रॉयड समझ मे नहीं आया होगा, तो आपको बता दे की एंड्रॉयड एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जो की सिर्फ और सिर्फ मोबाइल फोन के लिए बनाया गया है, ऑपरेटिंग सिस्टम वह सिस्टम होता है जो की किसी उपकरण के हार्डवेयर को विकसित करने के बाद कंप्युटर के जरिए हार्डवेयर पर डाला जाता है यह एक सॉफ्टवेयर एवं कंप्युटर प्रोग्राम होता है, जिसके जरिए ही हम किसी भी डिवाइस से Interact कर पाते है।

एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा ही हम मोबाइल फोन से किसी भी कार्य को करने के लिए Instruction दे पाते है यह एंड्रॉयड मोबाइल मे मौजूद समस्त सॉफ्टवेयर का एक मुख्य सॉफ्टवेयर होता है जिसमे अगर कुछ परेशानी आ गई तो मोबाइल काम करना बंद कर देगा। एंड्रॉयड को सिर्फ मोबाइल के लिए ही विकसित किया गया था क्योंकि उस समय कंप्युटर के लिए अच्छे से अच्छे ऑपरेटिंग सिस्टम उपलब्ध थे लेकिन मोबाइल के लिए ऐसा कोई OS नहीं था।

एंड्रॉयड को कई सारे चीजों को ध्यान मे रखते हुए विकसित किया गया था जैसे यूजर इंटरफेस, इस पर काफी ध्यान दिया गया यही वह भाग है जिससे की यूजर Interact करता है ऐसे मे एंड्रॉयड के यूजर इंटरफेस को सरल और सुविधापूर्ण रखा गया ताकि यूजर को उपयोग करने मे कोई दिक्कत न हो एवं अभी के समय मे एंड्रॉयड के सुरक्षा पर भी काफी ध्यान दिया जा रहा है क्योंकि आजकल फोन मे ही काफी सारे महत्वपूर्ण Data Stored रहते है।

एंड्रॉयड का इतिहास (History)

वैसे तो एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम को इतना कारगर बनाने मे गूगल का काफी बड़ा योगदान रहा है लेकिन इस Android OS से पहले इस कंपनी की शुरुआत मुखतः Andy Rubin, Rich miner, Nick sears और Chris White इन चारों ने मिलकर 2003 मे Palo Alto, California नामक ने किया था उस समय इस कंपनी का मकसद डिजिटल कैमरों के लिए एक बेहतरीन ऑपरेटिंग सिस्टम विकसित करना था।

लेकिन बाद मे इन्होंने अपना मकसद बदल दिया और इस ऑपरेटिंग सिस्टम को मोबाइल के लिए बनाने का चयन किया लेकिन इनका ये Concept गूगल को इतना पसंद आया की इसे गूगल ने 2005 मे 50 मिलियन डॉलर मे खरीद लिया और एंड्रॉयड के Founder Andy Rubin को इसका Head अधिकारी बना दिया और एंड्रॉयड के मुख्य कर्मचारी भी गूगल मे शामिल हो गए।

जिसके बाद एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम का बीटा वर्ज़न 5 नवंबर 2007 को Release किया गया जिसके बाद Android Version 1.0 को 23 सितंबर 2008 को release किया गया जिसके बाद इसके Cupcake, Donut, Éclair, Lollipop, Oreo, Pie नाम से अनेक Versions Release किया गया और आज का समय ऐसा ही की यह दुनिया का एक मात्रा ऐसा ऑपरेटिंग सिस्टम है जो 250 करोड़ से भी अधिक Active मोबाइल पर उपयोग किया जा रहा है।

यह भी जानिए : स्मार्टफोन क्या है 

एंड्रॉयड के मुख्य विशेषताएं (Features)

आपको बता दे की एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम यूँही नहीं दुनिया का No. 1. मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम बन गया बल्कि इसके पीछे बहुत ही बहुत ही काफी Advance डेवलपमेंट है एवं एंड्रॉयड का दुनिया का No. 1. मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम बनने के पीछे इसका मुख्य कारण इसके Features है क्योंकि इसमे हमें काफी सारे अलग अलग Features मिलते है जो की निम्नलिखित है :-

1. Open Source. एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम फ्री और Open Source है मतलब इसका इस्तेमाल किसी भी तरह के स्मार्टफोन मे किया जा सकता है और कोई भी Developer इसके कोड मे अपने जरूरत के अनुसार Customization भी कर सकते है, इसलिए आपने देखा होगा की अलग अलग Brands के ऑपरेटिंग सिस्टम का यूजर इंटरफेस एक दूसरे से अलग होते है भले ही उनके OS एंड्रॉयड ही रहते है।

2. Simple और खूबसूरत UI. एंड्रॉयड का UI यानि की यूजर इंटरफेस जिससे की यूजर Interact करता है वह इतना खूबसूरत और साधारण है की इसका इस्तेमाल कोई भी सामान्य व्यक्ति कर सकता है और आज के समय मे एंड्रॉयड यूजर अपने फोन के यूजर इंटरफेस के Components जैसे Icons, Text Style, Wallpaper, Home screen इत्यादि को Customize भी कर सकता है।

3. Multitasking कर सकते है. एंड्रॉयड OS मे हमें Multitasking का काफी उपयोगी Feature मिलता है मतलब हम एंड्रॉयड मोबाइल मे एक ही समय मे कई सारे Task कर सकते है जैसे गाने सुनते सुनते Chatting कर सकते है, गेम खेलते खेलते फोन मे बाट कर सकते है इत्यादि। पहले के समय मे Multitasking का Feature सिर्फ Desktop पर ही मौजूद था।

4. विभिन्न भाषाओ की उपलब्धता . एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम मे हमें विभिन्न भाषाओ की उपलब्धता का एक विशेष Feature मिलता है मतलब हम एक एंड्रॉयड फोन को कई सारी भाषाओ को सेट कर सकते है जैसे अगर आपको अंग्रेजी नहीं आती है तब आप अपने फोन को हिन्दी मे सेट कर सकते है और सही से उपयोग कर सकते है।

5. अनगिनत Application का उपयोग कर सकते है. एंड्रॉयड का सबसे महत्वपूर्ण Features मे से यह भी है की इसमे हम अनगिनत Apps को इंस्टॉल कर सकते है और उन्हे उपयोग कर सकते है इसमे किसी भी प्रकार की Limitations नहीं है और इसमे Apps को इंस्टॉल करने के लिए गूगल प्ले स्टोर दिया गया है जो की एक सुरक्षित साधन है एंड्रॉयड मे Apps इंस्टॉल करने का।

6. इसमे विभिन्न Connectivity’s मिलती है. एंड्रॉयड मिलने वाली Connectivity’s इसे और खास बनती है क्योंकि इसमे हमें विभिन्न तरह की Connectivity’s मिलती है जैसे Bluetooth, WIFI, Hotspot, USB Tethering, GPS इत्यादि जिनकी मदद से हमें अनेक प्रकार की सुविधाओ का लाभ उठा सकते है।

7. अच्छी सुरक्षा मिलती है. पहले के समय एंड्रॉयड इतना सुरक्षित ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं माना जाता था लेकिन अभी जैसे जैसे एंड्रॉयड Update होते गया उतना ही एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम की सुरक्षा भी बढ़ी और अभी के समय के एंड्रॉयड के Versions काफी अधिक सुरक्षित है एवं इनमे विशेष तरह के सुरक्षा के विकल्प भी मौजूद है जैसे App Lock इत्यादि।

एंड्रॉयड की खासियत

एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम अपने आप मे ही बहुत खास है क्योंकि जिस तरह से इसकी वजह से लोगों मे मोबाइल फोन को लेकर एक नया Impact आया वो अपने मे काफी रोमांचक है क्योंकि जिस समय एंड्रॉयड आया उस समय स्मार्टफोन इतना सस्ता नहीं हुआ करता था उस Apple के IOS का उपयोग किया जा रहा था लेकिन यह काफी महंगे होते थे।

ऐसे मे जब एंड्रॉयड आया तब लोगों को एंड्रॉयड मे एक स्मार्टफोन के वे सभी Features मिल रहे थे जो की एक i phone मे मौजूद था एवं यह i phone के मुकाबले सस्ता भी था। जिसकी वजह से लोगों मे स्मार्टफोन को लेकर दिलचस्पी बढ़ी और शायद इसी की वजह से ही आज के समय मे हर एक घर मे स्मार्टफोन देखने को मिल रहा है।

अगर हम देखे तो एंड्रॉयड का, स्मार्टफोन की दुनिया मे काफी बड़ा योगदान रहा है एवं एंड्रॉयड की ही वजह से स्मार्टफोन इतना सस्ता हो पाया है। 

Android के सम्पूर्ण Versions का List

एंड्रॉयड का अभी तक मुख्य रूप से देखे तो 13 अलग अलग Versions आ चुके है जिनकी List नीचे दी गई है :-

Versions Release date
Android 1.023 सितंबर 2008
Android 2.027 अक्टूबर 2009
Android 3.022 फरवरी 2011
Android 4.018 अक्टूबर 2011
Android 5.04 नवंबर 2014
Android 6.02 अक्टूबर 2015
Android 7.022 अगस्त 2016
Android 8.021 अगस्त 2017
Android 9.06 अगस्त 2018
Android 103 सितंबर 2019
Android 118 सितंबर 2020
Android 124 अक्टूबर 2021
Android 1316 अगस्त 2022

एंड्रॉयड के Release किए गए Versions और उनके Features

अब तक हमने Android क्या है, इस विषय मे काफी कुछ जाना लेकिन आपको यह भी बता दे की एंड्रॉयड को समय के साथ बेहतर बनाने के लिए कई सारे अलग अलग Versions release किए गए है और हर एक Version मे कुछ न कुछ नए Features जोड़े जाते थे, तो चलिए एंड्रॉयड के समय के साथ आए सभी Versions और उनमे जुड़े गए Features के बारे मे जानते है :-

Android Beta

यह एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम का पहला वर्ज़न था जिसे की सार्वजनिक रूप से 5 नवंबर 2007 को Release किया गया था लेकिन यह इसका Commercial Version नहीं था।

Android 1.0

यह एंड्रॉयड का पहला Commercial Version था जिसे की Commercially 23 सितंबर 2008 को Release किया गया था, इस Version मे अलग अलग प्रकार काफी सारे Features मौजूद थे जैसे यह Camera Supportable था, इसमे हम वेब ईमेल सर्वर को Access कर सकते थे, इसमे Android Market उपलब्ध थे जो की मार्केट से Apps को इंस्टॉल करने का अनुमति प्रदान करता है।

इसके अलावा इस Version मे Gmail, Google Contact, Calendar, Google search, Google sync, Google Maps, Text Message, MMS, YouTube, WIFI, Bluetooth जैसे अनेकों Features उपलब्ध थे।

Android 1.1

एंड्रॉयड के इस Version को 9 फरवरी 2009 मे Release किया गया था जिसमे की Android 1.0 मे मौजूद कुछ Bugs को Fix कर दिया गया था साथ मे इस Version पर हम Message के Attachments को Save कर सकते थे, इसमे डायल पैड को Hide और Show कर सकते थे, इसमे मौजूद गूगल Maps पर व्यवसायों को Search करने पर उसका Details और Reviews भी दिखाई देता था।

इस Version का नाम Petit Four दिया गया था।

Android 1.5

यह एंड्रॉयड का एक ऐसा Version थे जो की लिनक्स Kernel 2.6.27 पर आधारित जिसे की 27 अप्रैल 2007 मे Release किया गया था, इसे Cupcake Desert के नाम पर रखा गया था एवं इसमे काफी सारे अलग अलग Advance Features जोड़े गए थे।

जैसे इसमे Autorotation का विकल्प मौजूद था, इसमे हम फोन के Usage History को चेक कर सकते थे, इसमे हम वेब ब्राउजर पर कॉपी और पेस्ट कर सकते थे, यह थर्ड पार्टी Virtual Keyboard को Support करता था, इसमे यूट्यूब पर वीडियो अपलोड कर सकते थे, Picasa पर फोटो अपलोड कर सकते थे, इसमे Animated Screen Transition मौजूद थे इत्यादि।

Android 1.6

यह एंड्रॉयड का एक ऐसा Version थे जिसे की एक लोकप्रिय Desert Donut का नाम दिया गया था, इसे 15 सितंबर 2009 को Release किया गया था एवं यह लिनक्स Kernel 2.6.29 पर आधारित था इसमे कई सारे नए नए Features जोड़े गए थे जैसे इसमे हम Multiple Photos को सिलेक्ट करके डिलीट कर सकते थे, Gallery, Camera और Camcorder को Integrate कर दिया गया था इत्यादि।

Android 2.0

एंड्रॉयड के इस Version को Éclair Desert का नाम दिया गया था, जिसे की 27 अक्टूबर 2009 को Release किया गया था यह लिनक्स Kernel 2.6.29 पर आधारित था। इसमे काफी सारे नए Features जोड़े गए जैसे यह Bluetooth 2.1 को Support करता था, इसमे हम Live Wallpaper सेट कर सकते थे, इसमे Virtual Keyboard के Typing Speed को बढ़ाया गया था, Save किए गए MMS और मैसेज सर्च कर सकते थे इत्यादि।

Android 2.0.1/2.1

यह एंड्रॉयड का Android 2.0.1 था जिसे 3 दिसम्बर 2009 को Release किया गया था इस Version मे कुछ Bugs को Fix किया गया था और कुछ कुछ छोटे बदलाव किए गए थे, उसके बाद Android 2.1 Version 11 जनवरी 2010 को Release किया गया था इसमे भी कुछ Bugs को Fix किया गया था।

Android 2.2

एंड्रॉयड के इस Version को 20 मई 2010 को Release किया गया था जिसे Froyo नाम दिया गया था जो की एक लोकप्रिय Desert का के नाम का Short Form है उस पर रखा गया था, इसमे Speed, Memory और Performance को Optimize किया गया था, यह Numeric और Alphanumeric पासवर्ड को Support करता था, यह Adobe Flash को Support करता था, इसमे मोबाइल नेटवर्क पर Data को Disable कर सकते थे, इसके अलावा इसमे और कई सारे विभिन्न तरह के Features जोड़े गए थे।

Android 2.3 Gingerbread

एंड्रॉयड के इस Version को 6 दिसम्बर 2010 को Release किया गया था जो की लिनक्स Kernel  2.6.35. पर आधारीय था इसे Gingerbread नाम दिया गया था जिसमे की कई सारे नए Features जोड़े गए थे जैसे इसमे यूजर इंटरफेस को सिम्पल रखा गया था, इसमे कॉपी पेस्ट के Function को और अच्छा बना दिया गया था, Download Manager का Function जोड़ा गया था, Virtual Keyboard मे Suggested Text, Voice input mode जोड़ा गया था और इसकी सटीकता बढ़ाई गई थी।

इसके बाद इसी का 2.3.3 Version Release किया गया था जिसमे की काफी सारे Android के Bugs को Fix किया गया था।

Android 3.0 Honeycomb

एंड्रॉयड के इस 3.0 Version को Android Honeycomb दिया गया था जिसे की 22 फरवरी 2011 को Release किया गया था एवं यह Version लिनक्स Kernel 2.6.36 पर आधारित था। इसमे विभिन्न तरह के नए नए Features जोड़े गए थे जैसे Simplicity के साथ Multitasking कर सकते थे, कॉपी पेस्ट के इंटरफेस को और अच्छा बना दिया गया था, इसमे नया System bar Add किया गया था, इसमे कैमरा के Exposure, Zoom, Flash जैसे अनेक functions को तुरंत Access कर सकते थे।

इसके अलावा इसमे और भी कई सारे अनेक Feature जोड़े गए थे जिसके कुछ समय बाद इसी का 3.1 और 3.2 Version Release किया गया था जिसमे की कुछ Bugs को Fix और कुछ Improvements किए गए थे।

Android 4.0 Ice Cream sandwich

एंड्रॉयड के इस Version को Ice Cream Sandwich नाम दिया गया था जो की लिनक्स Kernel 3.0.1 पर आधारित था इसे 18 अक्टूबर 2011 को Release किया गया था जिसमे की काफी सारे अलग अलग प्रकार के नए Features जोड़े गए थे जैसे

  • इसमे कॉपी पेस्ट Function को और बेहतर बना दिया गया था।
  • इसमे Folder बनाना आसान था।
  • Screenshot Capture को integrate कर दिया गया था।
  • कैमरा Application को Improved कर दिया गया था जैसे हम Recording के समय Zoom कर सकते थे इसमे Panorama mode भी Add कर दिया गया था इत्यादि।
  • इसमे Photo Editor in Built था।
  • Android Stock Devices मे 1080p पर वीडियो रिकार्ड कर सकते थे।

Android 4.1 Jelly Bean

यह एंड्रॉयड का अगला Version था जिसे की सबसे पहले गूगल ने अपने एक I/O conference के दौरान Announce किया था बाद मे इसे गूगल ने अपने एंड्रॉयड ओपन सोर्स प्रोजेक्ट के दौरान 9 जुलाई 2012 को Release किया इसमे काफी सारे अलग अलग प्रकार की नई विशेषताएं जोड़ी गई थी जैसे –

  • इसका यूजर इंटरफेस काफी Smooth था।
  • Accessibility को enhanced कर दिया गया था।
  • कैमरा Application को Improved कर दिया गया था।
  • इसमे हम किसी भी Application के Notification को Turn Off कर सकते थे।

Android 4.1 Jelly Bean को Release करने के बाद इसके 4.2 और 4.3 Version और Release किए गए जिसमे की कुछ कुछ Bugs को Fix और Improvement किए गए थे।

Android 4.4 Kit Kat

गूगल ने एंड्रॉयड के इस Version का Announcement 3 सितंबर 2013 को किया था इस Version का नाम Android Kit Kat रखा गया था, एंड्रॉयड के इस Version को गूगल ने Nexus 5 स्मार्टफोन के साथ 31 अक्टूबर 2013 को Release किया था जिसमे की गूगल ने काफी सारे अलग अलग प्रकार के नए Features को जोड़ा था जैसे –

  • इसमे Wireless प्रिंटिंग Capability’s थी।
  • इसमे UI Transitions के लिए नए Framework मौजूद थे।
  • इसमे Verified Boot मौजूद था।
  • यह Bluetooth Message Access Profile Supportable था।

यह Version Release होने के बाद गूगल ने इसी के कुछ और Versions निकाले जैसे Android 4.4.1 से लेकर Android 4.4.4 तक जिसमे की कुछ कुछ Improvements किए गए थे।

Android 5.0 Lollipop

एंड्रॉयड के इस Version का नाम Lollipop रखा गया था जो की एक बेहद ही लोकपिय Candy है इस Version को गूगल ने 4 नवंबर 2014 को Release किया जिसमे की गूगल ने काफी सारे नए Features Add किए थे एवं इस Version के आने से एंड्रॉयड और भी कई अधिक लोकप्रिय हो गया, इसके मुख्य Features नीचे दिए गए है –

  • यह 64 bit CPU Supportable था।
  • इसमे Print Previews कर सकते थे।
  • इसके Battery Life को Improve कर दिया गया था।
  • USB डिवाइसेस की मदद से Audio input और output कर सकते थे।
  • इसमे Smart lock का Feature मौजूद था।
  • इसमे emojis को अपडेट किया गया था।

इस Version के Release होने के बाद इसी Version के कुछ और Versions जैसे Android 5.0.1 और Android 5.0.2 निकाले गए थे।

Android 6.0 Marshmallow

एंड्रॉयड के इस Version के आते तक एंड्रॉयड काफी लोकप्रिय हो चुका था और एंड्रॉयड का उपयोग हर जगह किया जाने लगा था इस Version का नाम गूगल ने Marshmallow रखा था जिसे की उन्होंने 2 अक्टूबर 2015 को Release किया था जिसमे की काफी सारे नए नए Features Add किए थे जैसे –

  • इसमे App Standby का Feature Add किया गया था।
  • यह Native Fingerprint reader Supportable था।
  • इसके अंदर Priority mode का नाम बदलकर do not Disturb mode कर दिया गया था।
  • इसमे Experimental तौर पर Multi-window feature जोड़े गए थे।
  • इसमे Apps के लिए 4K display mode जोड़ा गया था।
  • इसमे Automatic full data backup और Apps को Restore कर सकते थे।
  • यह यूएसबी सी Support करता था।
  • यह Native Fingerprint reader Supportable था।

एंड्रॉयड का यह Version Release होने के बाद इसी का एक और Version Release किया गया था।

Android 7.0 Nougat

एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम का अगला Version Android 7.0 था जिसे की काफी प्रसिद्ध Desert Nougat का नाम दिया गया था इस Version को गूगल ने पूरी तरह से 22 अगस्त 2016 को Release किया था जिसमे की गूगल ने काफी सारे नए नए Features Add किया था जैसे –

  • यह Color calibration को दिखाने की क्षमता रखता था।
  • इसमे हम Overview Button पर Double Tap करके आखिरी बार Open किए गए App पर Switch कर सकते थे।
  • इसमे Emergency Information का भाग Add किया गया था।
  • Overview वाले Button मे Clear All का विकल्प Add किया गया था।
  • File Browser को Improve किया गया था।
  • Overview Screen को Redesigned किया गया था।
  • Doze Functionality को Improve किया गया था।

इस Version को Release करने के बाद इसी का एक और Version Release किया गया था जिसमे भी काफी सारे Features जोड़े गए थे जैसे –

  • पावर Button Menu मे Restart का विकल्प जोड़ा गया था।
  • Touch और Display Performance को बढ़ाया गया था।
  • Wallpaper का Metadata और बेहतर कर दिया गया था।

इसके बाद इसी के कुछ और Versions Release किए गए थे।

Android 8.0 Oreo

एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम का अगला Version Android 8.0 था जिसे Oreo नाम द्या गया था यह भी काफी लोकप्रिय Version साबित हुआ जिसे की 21 अगस्त 2017 को Release किया गया इसमे गूगल ने काफी सारे विभिन्न तरह के नए नए Features जोड़े थे और इसमे काफी सारा improvement भी किया था जैसे –

  • इसमे नए emojis जोड़े गए थे और Emojis मे काफी सारे Improvements भी किया गया था।
  • Icons को Adaptive बनाया गया था।
  • Notifications मे काफी सारा Improvement किया गया था जैसे Notification channels, Notification dots, Notification snoozing, Notification shade multi-colors इत्यादि।
  • इसमे Downloadable Fonts Add किया गया था।
  • इसमे WIFI Assistant का नया Function Add किया गया था।
  • यह Multiple Display Supportable था।
  • इसमे Color Management का नया feature add किया गया था।

Android 9.0 Pie

यह एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम का नौवा Version है जिसे की Android Oreo नाम दिया गया था इस Version का पहला Announcement गूगल ने 6 मार्च 2018 को किया था लेकिन इसे गूगल ने पूरी तरह Release 6 अगस्त 2018 को किया था, इसमे काफी सारे नए नए Features जोड़े गए थे जैसे –

  • यूजर इंटरफेस को Round Corner का Shape दिया गया था।
  • Volume Slider को दोबारा Design किया गया था।
  • इसमे Battery Percentage On Display पर दिखाया गया था।
  • Auto Brightness के Feature पर बदलाव किया गया था अब यह यूजर के हिसाब से काम करता था।
  • इसमे Call recording का विकल्प पूरी तरह बंद कर दिया गया था।
  • इसमे Battery Saver का Orange Overlay Notification बार और Status बार से Hide कर दिया गया था।

Android 10

अब यह एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम का दसवा Version था जिसे की Android 10 नाम दिया गया था इसे कोई और नाम नहीं दिया गया था इस Version को गूगल ने 3 सितंबर 2019 को Release किया इसमे भी गूगल ने काफी सारे नए नए Features जोड़े और काफी चीजों पर Improvement भी किया जैसे –

  • इस वाले Version मे Background पर Location या फिर Image, Audio, Video फाइल को Access करने के लिए नए Permission का आवश्यकता पड़ता था।
  • यह Foldable Phones मे भी Supportable था।
  • इसमे TLS v1.3 का Support जोड़ा गया था।
  • यह Application पर biometric Authentication अच्छी तरह से Support करता था।
  • यह WPA3 वाईफाई Security Protocols को Support करता था।

Android 11

यह एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम का 11वां Version था जिसे Android 11 ही नाम दिया गया था इसी किसी भी प्रकार का अलग से कोई नाम नहीं दिया गया था, इस Version की Announcement गूगल ने 19 फरवरी 2020 को किया था लेकिन इस Version को 8 सितंबर 2020 को Release किया गया था जिसमे की काफी सारे अलग अलग प्रकार के Features थे जैसे –

  • इसमे Chat bubbles Add किए गए थे।
  • इसमे Screen recorder Add किया गया था।
  • इसमे New Permission Control Add किया गया था।
  • इसमे One time Permission और Permission Auto Reset का Feature Add किया गया था।

Android 12

यह एंड्रॉयड OS 12वां Version था जिसे की गूगल ने 18 फरवरी 2021 को Announce किया था और इसे 4 अक्टूबर 2021 को Release कर दिया, इसमे काफी सारे नए नए Features जोड़े गए थे और काफी सारे Improvements भी किया गया था जैसे –

  • इसमे Scrolling Screenshot का Feature Add किया गया था।
  • इसमे वाईफाई शेरिंग को और आसान बना दिया गया था।
  • इसमे नया Privacy Dashboard जोड़ा गया था।
  • इसकी Performance मे पहले से अधिक Improvements किए गए थे।

इसके अलावा इसमे और भी कई सारे Features जैसे Bold Text, Greyscale इत्यादि को Add किया गया था।

Android 13

यह एंड्रॉयड का सबसे Latest Version है जिसे की गूगल ने 16 अगस्त 2022 को Release किया था, इसमे गूगल द्वारा इतना अधिक Improve नहीं किया था और न ही इसमे काफी सारे Features जोड़े गए थे इसमे गूगल ने कुछ कुछ Features Add किया था जैसे इसमे यूजर का अनुमति लिए बिना कोई भी App Notification नहीं भेज सकता, इसे Bluetooth LE Audio और LC3 Audio के लिए Supportable बनाया गया है इत्यादि।

FAQ’s (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)

Android फोन क्या है?

एंड्रॉयड फोन किसी भी प्रकार का कोई फोन नहीं है और एंड्रॉयड फोन वे फोन होते है जिनमे की एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम Installed रहते है।

Android को किसने बनाया है?

वैसे तो एंड्रॉयड को Andy Rubin, Rich miner, Nick sears और Chris White इन चारों ने मिलकर बनाया है लेकिन इसके डेवलपमेंट का पूरा श्रेय गूगल पर जाता है क्योंकि शायद इसी की वजह से ही एंड्रॉयड इतना आगे बढ़ पाया है।

Android का Latest Version कौन सा है?

Android 13 यह Android का Latest Version है।

निष्कर्ष

एंड्रॉयड ने मोबाइल फोन की इंडस्ट्री को काफी अधिक बदल कर रख दिया है और इसी की वजह से शायद अब हम सस्ते दाम पर स्मार्टफोन का उपयोग कर पा रहे है, आज का समय ऐसा है की आपको हर एक क्षेत्र मे लाखों एंड्रॉयड Users मिल जाएंगे। अब हमने आप सभी पाठकों के साथ Android kya hai, इससे जुड़े समस्त जानकारीयो को विस्तार से साझा कर दिया है।

उम्मीद है की आज का यह आर्टिकल आपके लिए काफी अधिक उपयोगी रहा होगा एवं इस आर्टिकल की सहायता से आप सभी ने एंड्रॉयड क्या है (What is Android OS in Hindi)और इससे जुड़ी जानकारीयो को यह जान लिया होगा। अंत मे मेरा आप सब से यही निवेदन है की इस आर्टिकल को लेकर अगर आपके मन मे कोई सवाल या सुझाव है तो उसे नीचे Comment मे लिखना न भूले और इस आर्टिकल को Facebook, Twitter इत्यादि पर भी शेयर करे।

Leave a Comment