डेटा साइंस क्या है? डाटा साइंटिस्ट कैसे बने (Data science in Hindi)

डाटा साइंस एल्गोरिथम, मशीन लर्निंग के सिद्धांत और अन्य विभिन्न टूल्स से संबंधित होता है। Data Science की मदद से महत्वपूर्ण और उपयोगी जानकारी को डेटा रिकॉर्ड, संग्रह और एनालिसिस किया जाता है। हमारी लाइफ में Data Science बेहद जरूरी विज्ञान है जिसकी मदद से टेक्नोलॉजी को और सिंपल और आसान बना दिया गया है।

आज के समय में डाटा साइंस की वजह से हमारे पास काफी एडवांस मशीने है जिससे पहले की तुलना में बहुत आसानी से काम किया जा सकता है। भविष्य में भी डाटा साइंस का बहुत-बहुत ज्याद उपयोग है। इसलिए अपना करियर डाटा साइंस बना सकते है।

आप डाटा साइंस की अच्छी पढ़ाई करके एक data scientist बन सकते है जिसकी सैलरी भी काफी शानदार होती है। अब आपके मन में कुछ सवाल होंगे कि आखिर डाटा साइंस क्या है, क्यों करें और डाटा साइंटिस्ट कैसे बने, सैलेबस क्या है, सैलेरी कितनी होगी इत्यादि।

इन सभी सवालों का जवाब मैं आपको इसी आर्टिकल में दूंगा, इसलिए इस आर्टिकल को A to Z समझने की कोशिश करे। एक और बात कि मैने यहां पर डाटा साइंस क्या है, को सरल भाषा में बताने की कोशिश की है।

Data Science क्या है (What is Data Science in Hindi)

डेटा साइंस है जिसमें प्रोफेशनल एक्सपर्ट (डेटा साइंटिस्ट) विभिन्न तरह के डाटा का विश्लेषण करके उपयोगी डाटा को निकालते है, और फिर इस डाटा का अनेक विज्ञानिक तरीके से उपयोग करते है। डेटा साइंस में डेटा विश्लेषण के लिए विभिन्न टूल्स का इस्तेमाल करते है, जैसे Data Engineering, Visualization, Statistics, Programming, Mathematics और Analytics इत्यादि का इस्तेमाल किया जाता है।

डेटा साइंस में सबसे पहले डाटा को एकत्रित किया जाता है और क्लिन किया है, और फिर उसे प्रोसेस में डाला जाता है। और अंत में उसे एनलाइस किया जाता है। यह डाटा अनेक जगहों से लिया जाता हैं, जैसे देश की जनगणना में महिलाएं, पुरूष, निरक्षरता, साक्षरता, युवा, बच्चे, बुजुर्ग, गवर्मेंट और प्राइवेट कर्मचारी कितने है इत्यादि।

डेटा साइंस के उदाहरण (Examples)

उदाहरण : जब आप यूट्यूब पर विडियों देखते है तो आपको उसी वीडियों टॉपिक से संबंधित अन्य विडियों Automatically Recommended होते हैं। और जब आप गूगल पर कोई प्रोडक्ट सर्च करते हो तो आपको फेसबुक, इंस्टाग्राम और अमेजन पर भी उसी प्रोडक्ट से संबंधित विज्ञापन दिखाई देते हैं। ऐसा क्यों होता है, तो यह सब Data Science का कमाल है।

डाटा साइंस का इस्तेमाल केवल कस्टमर तक पहुंचने के लिए ही इस्तेमाल नही होता है, बल्कि इसका दायरा बहुत ज्यादा बड़ा है। और भविष्य में इसकी बढ़ती जरूरतों के आधार पर इसका दायरा और भी ज्यादा बढ़ रहा है।

डेटा साइंस के अनेक उदाहरण हैं, जैसे-

  1. मौसम का पुर्वानुमान लगाना
  2. बीमारी का पता लगाने के लिए मशीने
  3. धोखाधड़ी का पता लगाने में
  4. ऑटोमेटिक डिजिटल विज्ञापन में
  5. अपराधिक मामलों में अपराधिक को पकड़ने के लिए इत्यादि।

डाटा साइंस के महत्वपूर्ण तत्व (Important Facts)

डाटा साइंस के तीन महत्वपूर्ण घटक देखने को मिलते हैं, जैसे- बिजंनेस इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग और बिग डाटा।

Business Intelligence : बिजनेस क्षैत्र में बिजनेस के संचालन के लिए कंप्यूटर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होता है और प्रतिदिन बड़ी मात्रा में डाटा मिलता है। यह सभी डाटा डेटा साइंटिस्ट द्वारा एनालिसिस करके ग्राफ और चार्ट में प्रस्तुत किया जाता है। जिसे बाद में आसानी से समझकर बिजनेस ग्रोथ के लिए निर्णय लिया जाता है।

Machine learning : आज के समय में हर जगह पर मशीनों का इस्तेमाल होता है लेकिन आज की मशीनो को पहले की तुलना में इस्तेमाल करना बेहद आसान है। यह सब डाटा साइंस की मदद से होता है, और इसी की मदद से फाइनेंशियल सिस्टम में विभिन्न रूझानों की भविष्यवाणी भी की जा सकती है।

Big Data : आज इंटरनेट काफी फैल गया है, जिससे बहुत ही ज्यादा मात्रा में हमें डाटा मिलता हैं, जैसे व्यूअर्स, सब्सक्राइबर्स, वीडियोज, फोटो, लेख, रिव्यू, निर्देश इत्यादि। इन सभी डाटा को एनालिसिस करके सरल डाटा में बदल दिया जाता है।

डाटा साइंस क्यों करें, इसके फायदे (Benefits)

आपको डाटा साइंस कोर्स क्यों करना चाहिए, इसके निम्न कारण हैं-

एक भारतीय डेटा साइंटिस्ट प्रति वर्ष 19 से 23 लाख रूपयें आसानी से कमा सकता है जो इंजीनियर जैसे किसी अन्य प्रोफेशन से काफी ज्यादा है।

अगर आप कंप्यूटर विज्ञान, इंजीनियरिंग, सांख्यिकी या गणितीय क्षैत्र के स्टूडेंट है तो आप डेटा साइंस कोर्स को चुन सकते है।

इसके अलावा मैनेजमेंट बैकग्राउंड के छात्र भी MBA की बजाय डेटा साइंस का विकल्प ले सकते है।

IBM (International Business Machines) की एक रिपोर्ट में बताया गया कि बित्त और बीमा के क्षैत्र में डेटा साइंटिस्ट की मांग भविष्य में 59% से भी ज्यादा है।

इस कोर्स के साथ विद्यार्थी वित्त और प्रबंधन में भी करियर को बढ़ावा देने का अनुभव कर सकते है।

एक लोकप्रिय जॉब लिस्टिंग वेबसाइट है जिसमें हर साल डेटा साइंटिस्ट जॉब पोस्टिंग में 29% की वृद्धि का रिकॉर्ड देती है। अत: भविष्य में इसकी काफी ज्यादा डिमांड है।

डाटा साइंस के उपयोग क्या है (Data Science Uses)

डाटा साइंस के काम करने का दायरा बहुत बड़ा है, मतलब इस साइंस का उपयोग अनेक जगह पर किया जा सकता हैं। जैसे-

  1. दुनिया बहुत बड़े प्लेटफॉर्म जैसे YouTube, Facebook, Netflix और Google इत्यादि पर Content का सुझाव देने के लिए डाटा साइंस का उपयोग होता है।
  2. गूगल में यूजर्स को बेहतर खोज रिजल्ट देने के लिए डाटा साइंस का ही इस्तेमाल किया जाता है। और Gmail में भी Spam Filtering इसी साइंस के तहत सुविधा मिलती है।
  3. इस साइंस की मदद से आकाशवाणी भी की जाती है, जिसमें हवाई जहाज, वायु, पानी, हवा इत्यादि से डाटा लेकर आकाशवाणी की जाती है।
  4. Google Assistant, Alex और Siri जैसे Speech Recognition System में भी इसी साइंस का उपयोग होता है।
  5. विभिन्न तरह की ऑटोमेटिक काम करने वाली मशीनों को भी डाटा साइंस से तैयार किया जाता है।
  6. इस एडवांस समय में Driverless Cars भी आ रही है जो डाटा साइंस की मदद से बनाई गयी है। इसी तरह डेटा साइंस के अनेक उपयोग हैं।

डेटा साइंटिस्ट कैसे बने (How become Data Scientist in Hindi)

अब तक हमने जाना कि डाटा साइंस क्या है? चलिए अब हम डाटा साइंटिस्ट कौन होता है, के बारे में जानने की कोशिश करते है।

Data Scientist कौन होता है, तो यह एक प्रोफेशनल व्यक्ति होता है जो Data Engineering, Programming, Statistics, Analytics इत्यादि का उपयोग कर Big Data को एनालिसिस करता है। यह डाटा को एनालिसिस करके उपयोगी डाटा को निकालता है। अगर आप एक डेटा साइंटिस्ट बनना चाहते है तो आपको निम्नलिखित स्टेप को फॉलो करना होगा।

#1. Bachelor की डिग्री ले : डेटा साइंटिस्ट बनने के लिए आपको इंजीनियरिंग, IT, गणित या किसी अन्य विज्ञान संबंधित क्षैत्र में बैचलर की डिग्री प्राप्त करें। इसके अलावा आप इसी कोर्स के दौरान इंटर्नशिप पर भी विचार करें ताकि आपको काम करने का अनुभव भी मिलें।

#2. डेटा साइंस से संबंधित सर्टिफिकेट ले : आप डिग्री लेने के बाद ऑनलाइन या ऑफलाइन तरीके से डेटा विश्लेष और डेटा विज्ञान से संबंधित पढ़ाई कर सकते है और अपने कौशल को अधिक बढ़ा सकते है। इससे आप बहुत जल्दी डेटा साइंटिस्ट की जॉब ले सकते है।

#3. डेटा साइंस के काम का अनुभव ले : आप शुरूआत में जूनियर डेटा साइंटिस्ट या जूनिय डाटा एनालिस्ट के रूप में इंर्टनशिप या एंट्री लेवल जॉब ले। और फिर 1 से 3 साल तक का अनुभव ले।

#4. अच्छा पोर्टफोलियों बनाए : एक अच्छी नौकरी के लिए अपने पोर्टफोलियों अच्छा बनाए, जिसमें आपके अनुभव, क्षमता और कौशल का प्रमाण हो।

#5. डेटा साइंस में मास्टरी करें : अनुभव और इंटर्नशिप करने के बाद आपको डेटा इंजीनियरिंग, कंप्यूटर विज्ञान, व्यवसाय प्रशासन या संबंधित क्षैत्र में मास्टर की डिग्री लेनी चाहिए। इस डिग्री के आप शानदार सैलेरी वाली जॉब ले सकते है।

#6. डॉक्टरेट की उपाधि भी ले : इतना सब कुछ करने के बाद आपको डॉक्टरेट की भी पढ़ाई करनी चाहिए, जिससे आप सबसे सीनियर डेटा साइंटिस्ट बन जाएंगे।

Data Scientist बनने के लिए योग्यता (Eligibility)

  1. Physics, Chemistry और Mathematics के साथ 12वीं की शिक्षा
  2. Computer, Physical, Mathematics, Statistic या Engineering साइंस में B.Tech या B.Eng. डिग्री
  3. DS, Mathematics या किसी अन्य विज्ञान संबंधित क्षैत्र में M.Tech, MS या M.Engडिग्री
  4. इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL, PTE (अनिवार्य)
  5. GMAT/GRE अंको की जरूरत

डेटा साइंटिस्ट बनने के लिए कोर्स (Course)

Data Scientist Kaise Bane, इसके लिए कोर्सस-

  • पोस्ट ग्रेजुएट (PG) डिप्लोमा: Business Analytics (PGDBA)
  • पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम : (PGP-DSE) – डाटा साइंस और इंजीनियरिंग पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा: बिज़नेस एनालिटिक्स
  • MBA : Data Science और Data Analytics
  • MSc : बिज़नेस &डाटा एनालिटिक्स
  • Graduate Certificate : बिग डाटा और विजुअल एनालिटिक्स
  • BSc in Applied Mathematics
  • Program : data science, business analytics and big data

डेटा साइंटिस्ट के लिए अलग अलग पद

डाटा विज्ञान से संबंधित अनेक तरह की पद होती हैं, जिसमें डाटा स्टोरी, आर्टिटेक्ट डाटा, एनालिस्ट, टेलर डाटा, इजीनियर डाटा और डाटा साइंटिस्ट शामिल हैं।

आप अपने क्षैत्र में अधिक अनुभव और स्किल के आधार पर अनेक पद प्रमोशन ले सकते हैं। जैसे-

  1. डाटा मैनेजर
  2. डाटा डिजाइनर
  3. डाटा एक्सपोर्टर
  4. डाटा कलेक्टर
  5. डाटा मोडिफाइडर
  6. डाटा सेंडर

डेटा साइंटिस्ट बनने के लिए प्रमुख संस्थान (Best college)

भारत देश में डेटा साइंस के लिए बेस्ट भारतीय कॉलेज निम्नलिखित हैं-

  1. अंतर्राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान बैंगलोर
  2. आईआईटी दिल्ली
  3. अहमदाबाद विश्वविद्यालय
  4. भारतीय विज्ञान संस्थान बैंगलोर
  5. आईआईएम कलकत्ता
  6. आईआईटी हैदराबाद
  7. आईआईटी मद्रास
  8. ग्रेट लर्निंग मुंबई
  9. भारतीय विज्ञान संस्थान, बैंगलोर
  10. गोवा प्रबंधन संस्थान
  11. आईआईटी कलकत्ता etc.

एक डेटा साइंटिस्ट की सैलरी  कितनी होती है ?

भारत देश में एक डेटा साइंटिस्ट को अपने शुरूआती समय में प्रतिवर्ष 6 से 10 लाख रूपयें मिलते है। लेकिन आप डाटा साइंस में जैसे-जैसे अनुभव बढ़ेगा, आपकी सैलेरी भी उसी तरह से बढ़ती रहेगी। भारत देश में डाटा साइंटिस्ट की औसतन सालाना इनकम 8.50 लाख रूपयें है। जबकि विदेशों में डाटा साइंटिस्ट की सैलेर काफी हाई होती हैं।

FAQs – अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

इस आर्टिकल में हमने अब तक जाना कि डाटा साइंस क्या है और डाटा साइंटिस्ट कैसे बने? इसके अलावा मैने आपको Data Science के बारे अनेक अन्य महत्वपूर्ण जानकारीयां भी दी हैं। तो चलिए अब हम डाटा साइंस से संबंधित कुछ आवश्यक FAQs पर चर्चा करते हैं।

डाटा साइंस (Data Science) सामान्य भाषा मे क्या है?

यह एक ऐसी विज्ञान है, जिसमें डाटा का अध्ययन करके महत्वपूर्ण और आवश्यक जानकारी निकाली जाती है। इस साइंस में हम विभिन्न Algorithms और Scientific Methods का उपयोग करके विभिन्न तरह के डाटा से आवश्यक डाटा को निकाला जाता है।

डाटा साइंटिस्ट (Data Scientist) क्या होता है?

यह एक तरह का Professional व्यक्ति होता है, जिसके पास Data Engineering, Programming, Statistics, Mathematics, Analytics और Visualizationजैसे टूल्स की अच्छी समझ होती है। और इन्ही टूल्स की मदद से वह समस्या का पता लगाकर समाधान निकालने योग्य होता है।

एक डाटा साइंटिस्ट क्या-क्या करता हैं?

एक डाटा साइंटिस्ट,  सबसे पहले समस्या से संबंधित डाटा को एकत्रित करता है। और फिर उसके बाद उस डाटा को Clean, Process और Analyse करता है। अब वह उपयोगी डाटा से एक Data Model बनाता है और उसे Trained व Evaluate करता है। इसके बाद अंत में वह Model का Result Communicate करता है।

निष्कर्ष

हमने इस लेख में अब तक जाना कि डेटा साइंस क्या हैं, इसके फायदे क्या है, यह उपयोगी क्यों है और भविष्य में डाटा साइंस का स्कॉप क्या होगा? इसके अलावा हमने यह भी जाना कि डेटा साइंटिस्ट कैसे बने, डेटा साइंटिस्ट क्या करता है, डेटा साइंटिस्ट की सैलेरी कितनी होती है और डेटा साइंटिस्ट बनने के लिए योग्यता, शिक्षा, कोर्स और टेक्निकल स्किल्स क्या है?

मैने आपको यहां पर Data Science Kya Hai और Data Scientist Kaise bane,से संबंधित सभी आवश्यक जानकारीयां दी हैं। उमीद है कि आपको इस आर्टिकल में अपने लिए डाटा साइंस से संबंधित आवश्यक जाकारीयां जरूर मिली होगी।

Leave a Comment