UI और UX डिजाइन क्या है – UX UI Designing in Hindi

वर्तमान समय मे बाकी अलग अलग Professions की तरह ही UI और UX डिज़ाइनिंग Profession का भी काफी अधिक Demand है, इसका मुख्य कारण है की इन दिनों इंटरनेट Users और Educated लोगों की बढ़ोतरी काफी तेजी से हुई है इसीलिए हमे UI और UX डिजाइन क्या होता है? इस बारे मे अवश्य जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।

यह कहने मे कोई भी दिक्कत नहीं है की इन पिछले कुछ वर्षों मे जब से 4G इंटरनेट आया है, तब से इंटरनेट काफी अधिक सस्ता हो गया है और छोटे से छोटे गाँव एवं कस्बों मे भी अब इंटरनेट उपलब्ध है जिसकी वजह से इन दिनों स्मार्टफोन, इंटरनेट Users की संख्या मे काफी अधिक तेजी से बढ़ोतरी हुई है, जिसकी वजह से Tech Company भी तेजी से Grow हुए है।

इसी के साथ साथ बहुत सारे नए नए Tech Company की शुरुआत भी हुई है, ऐसे मे Tech Company को Grow करने के लिए एक अच्छे UI यानी यूजर इंटरफेस और एक अच्छे UX यानी यूजर Experience की आवश्यकता पड़ती है, इन सभी काम को बेहतर तरीके से एक UI और UX डिजाइनर ही कर सकता है।

इसीलिए वर्तमान समय समय मे UX और UI डिजाइनर की आवश्यकता काफी तेजी से बढ़ रही है, ऐसे मे हमे इंटरनेट के साथ आगे बढ़ने के लिए UI और UX डिजाइन क्या है और एक UI और UX डिजाइनर क्या होता है यह जानना जरूरी है तो चलिए अब हम UX और UI Designing से संबंधित समस्त जानकारी को प्राप्त करने की शुरुआत करते है।

यूएक्स डिज़ाइनिंग क्या होता है (What is UX Design in Hindi)

UX का पूरा नाम User Experience होता है, यह यूजर का अनुभव होता है की जब यूजर आपके System या Service का उपयोग कर रहा है तब उसे कैसा अनुभव हो रहा है, यूजर के अनुभव को बेहतर बनाने के लिए यूजर के अनुभव को Track किया जाता है और उसी के आधार पर System या Service के User interaction को डिजाइन किया जाता है ताकि यूजर का Experience बेहतर हो सके इसी पूरी प्रक्रिया को यूएक्स डिज़ाइनिंग कहा जाता है।

यूएक्स डिज़ाइनिंग के अंतर्गत System या Service मे User जब Enter करता है तब उसे कैसा अनुभव हो रहा है इसे पता लगाया जाता है जैसे अगर यूजर System या Service मे User Enter करते ही System या Service से Exist हो रहा है तब इससे पता चलता है की System का यूएक्स इतना अच्छा नहीं है इसे और बेहतर बनाने की आवश्यकता है, जिसके बाद यूएक्स से जुड़े सभी Terms मे सुधार किया जाता है।

अगर आपको यूएक्स डिज़ाइनिंग समझ मे नहीं आ रहा है तो इसे भी आसान भाषा मे उदाहरण से समझने की कोशिश करते है, जैसे की अक्सर हम अलग अलग मोबाइल का उपयोग करते रहते है, जिनमे से हमे कुछ मोबाइल को उपयोग करने मे इतना अच्छा नहीं लगता है जब कुछ ऐसे मोबाइल्स होते है जिनका उपयोग करने मे बहुत ही अच्छा महसूस होता है।

अब आपको जो अलग अलग तरह के मोबाइल का उपयोग करते हुए जो महसूस हुआ, यही उन सभी मोबाइल्स का यूएक्स यानी User Experience है और यूएक्स को बेहतर बनाने के प्रक्रिया को ही हम यूएक्स डिज़ाइनिंग कहते है।

UX डिजाइनर के कार्य –

एक UX डिजाइनर के यूजर अनुभव संबंधित अलग अलग कार्य होते है जो की निम्नलिखित है –

  • User के बारे मे research करता है।
  • User समस्याओ के बारे मे पता लगाता है।
  • Users के Intentions यानी मकसद को समझता है।
  • Competitive Analysis करता है।
  • Wireframes तैयार करता है।
  • Prototypes तैयार करता है।

यह भी जानिए : JAVA क्या है ? और कैसे सिखे

यूआई डिज़ाइनिंग क्या होता है (What is UI designing in Hindi)

यूआई का पूरा नाम User Interface होता है यह एक प्रकार का Layout या फिर Group of Design Element होता है जिससे यूजर Interact होता है।

जैसे की आपके मोबाइल मे आपको ऊपर की ओर Status bar, नीचे की ओर Buttons, बीच मे आपको अपने मोबाइल मे उपलब्ध सभी Apps के icon मिलते है, इन्ही सभी के Combination को हम आपके मोबाइल के Home Page का User Interface कहेंगे और इसी के डिज़ाइनिंग को यूआई डिज़ाइनिंग कहा जाता है।

मतलब System के उस Elements जिनसे User Interact होता है जैसे मोबाइल का Status Bar, Notification Panels, Application Icons, Transitions इत्यादि इन सभी के Combinations को ही UI कहा जाता है और इसी को Design करने की प्रक्रिया को यूआई डिज़ाइनिंग होता है।

यूआई डिज़ाइनिंग यूएक्स डिज़ाइनिंग का ही एक Part है मतलब यूएक्स डिज़ाइनिंग, यूएक्स डिज़ाइनिंग का एक Term है। इसे आसान भाषा मे समझते है यूएक्स डिज़ाइनिंग के तहत यूजर के अनुभव के बारे मे जानकारी प्राप्त की जाती है और उसी के आधार पर यूआई डिज़ाइनिंग की जाती है मतलब घूमा फिर के कहने का मतलब यह है की यूएक्स डिज़ाइनिंग के तहत यूआई डिज़ाइनिंग किया जाता है।

UI डिज़ाइनर के कार्य –

UI डिज़ाइनर का काम यूजर इंटरफेस को बेहतर बनाना होता है लेकिन इसके लिए इसे और कई सारे कार्य करने होते है जो की निम्नलिखित है –

  • Product या Service के Interface को आसान बनाता है।
  • Product या Service के Layouts को डिजाइन करता है।
  • Product या Service के Looks को आकर्षक बनाता है।
  • Product या Service मे मौजूद सभी Elements जो User से Interact करते है उन्हे इस तरह Design करता है जिससे यूजर उसे तुरंत समझ सके।

UX और UI डिज़ाइनिंग मे अंतर क्या है?

तो अब सवाल यह आता है की UI and UX difference in Hindi मतलब UI और UX मे अंतर क्या होता है तो आपको बता दे की बहुत सारे लोगों को UX और UI डिज़ाइनिंग का काम एक जैसा ही लगता है लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है दोनों का काम बिल्कुल अलग होता है लेकिन दोनों के काम का मकसद सिर्फ User को Satisficed करना होता है तो चलिए इसे हम एक एक कर के समझते है –

UX DesigningUI Designing
इसके तहत यूजर के जरूरत के बारे मे पता लगाया जाता है ताकि उसे पूरा किया जा सके। इसके तहत यूजर के Interface संबंधित जरूरत को पूरा किया जाता है, ताकि User को Interface को आसानी से समझ सके।
इसके तहत Product या Service मे हो रहे समस्याओ के बारे मे पता लगाया जाता है। इसके तहत Product या Service मे Interface सबंधित समस्याओ का पता लगाकर उन्हे पूरा किया जाता है।
इसमे यूजर के अनुभव पर काम किया जाता है। इसमे यूजर के सामने दिखाई देने वाले Interface पर काम किया जाता है।
इसमे Product या Service के सभी भागों पर काम किया जाता है। इसमे Product या Service के सिर्फ Interface यानी यूजर को किस तरह Product या Service दिखाई देगा इस पर काम किया जाता है।

UX और UI डिज़ाइनिंग कैसे सीखे ?

अगर आप UX और UI डिज़ाइनिंग सीखकर एक UX और UI डिजाइनर बनना चाहते है तो ऐसे मे आपको बता दे की वर्तमान समय मे ऐसे कई सारे तरीके है जिनकी मदद से इन्हे हम सिख सकते है तो चलिए इसे हम विस्तार से जानते है –

1. ऑफलाइन इंस्टिट्यूट की मदद से सीखिए.

अगर आप UX और UI डिज़ाइनिंग को Basic से लेकर Advance तक सीखना चाहते है तो इसके लिए आपको ऑफलाइन इंस्टिट्यूट जॉइन करना चाहिए, इसके माध्यम से आप UX और UI डिज़ाइनिंग को सिख सकते है, इसमे आपको UX और UI डिज़ाइनिंग को पूरी तरह सीखने के बाद Certificate भी प्रदान किया जाएगा जिसकी जरूरत आपको आगे चलकर पड़ सकती है।

वर्तमान समय मे कई सारे ऑफलाइन इंस्टिट्यूट मौजूद है जिनके माध्यम से आप UX और UI डिज़ाइनिंग को सिख सकते है और एक UX और UI डिजाइनर बन सकते है।

2. ऑनलाइन से UX और UI डिज़ाइनिंग सीखिए

वर्तमान समय मे ऑनलाइन भी एक ऐसा तरीका है जिसकी मदद से हम UX और UI डिज़ाइनिंग को सिख सकते है, लेकिन इसमे आपको काफी अधिक मेहनत करना पड़ेगा क्योंकि इसमे आप घर बैठे इंटरनेट की मदद से सिख रहे है तो हो सकता है की आपको Practical जानकारी कम हो, ऐसे मे आपको खुद से इसे बार बार Practice की आवश्यकता पड़ेगी।

ऑनलाइन से UX और UI डिज़ाइनिंग सीखने के लिए वर्तमान समय मे ऐसे कई सारे EdTech Platform है जिनके Paid Course को खरीदकर आप UX और UI डिज़ाइनिंग सिख सकते है जैसे –

  1. Simplilearn
  2. Coursera
  3. Knowledgehut इत्यादि।

अगर आप फ्री मे सीखना चाहते है तो वर्तमान समय मे UX और UI डिज़ाइनिंग के कोर्स फ्री मे बहुत ही कम उपलब्ध है। यूट्यूब पर बहुत कम मात्र मे UX और UI डिज़ाइनिंग के फ्री कोर्स उपलब्ध है जिन पर एक Basic लेवल पर आपको UX और UI डिज़ाइनिंग सिखाया जाता है।

FAQ’s (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)

अब हम UX और UI डिज़ाइनिंग से संबंधित कुछ अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के बारे मे जानते है –

UX और UI डिजाइनर कौन होता है?

एक UX डिजाइनर वह व्यक्ति होता है जिसे UX डिज़ाइनिंग से संबंधित समस्त जानकारी होती है और एक UI डिजाइनर वह व्यक्ति होता है जिसे UI डिज़ाइनिंग से संबंधित समस्त जानकारी होती है।

UX और UI का पूरा नाम क्या है?

UX का पूरा नाम User Experience और UI का पूरा नाम User Interface होता है।

क्या UX और UI डिज़ाइनिंग को फ्री मे सिख सकते है?

जी हाँ, हम UX और UI डिज़ाइनिंग को Basic लेवल पर यूट्यूब की सहायता से फ्री मे सिख सकते है क्योंकि वर्तमान समय मे UX और UI डिज़ाइनिंग को फ्री मे सीखने के बहुत अधिक Resource उपलब्ध नहीं है। अगर हमें UX और UI डिज़ाइनिंग को एक Advance लेवल पर सीखना है तब हमे ऑनलाइन या ऑफलाइन से Paid Course करना पड़ सकता है।

निष्कर्ष

अब हमने आपको इस लेख के माध्यम से UX और UI Designing से संबंधित सभी जानकारी को विस्तार से समझाने की कोशिश की है, उम्मीद है कि जिसे पढ़कर आप अब जान गए होंगे कि UX और UI और UX Designing क्या है (What is UI and UX Designing in Hindi) इस बारे में जानकारी ली होगी। अब अंत में हम आपको केवल यह बताना चाहते हैं कि UX और UI डिजाइनिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके तहत किसी उत्पाद या सेवा को उपयोगकर्ता के लिए उपयोग में आसान बनाया जाता है।

इस Article को लेकर अगर आपके मन मे कुछ भी सुझाव है तो आप उसे Comment मे लिखकर हमें बता सकते है और इस Article को सोशल मीडिया जैसे Twitter, Facebook इत्यादि पर भी अवश्य साझा कीजिये।

Leave a Comment