PHP क्या है, इसकी विशेषताएं – What is PHP in Hindi

अगर आप भी कंप्युटर मे दिलचस्पी रखते हैं तो क्या आपको यह पता हैं की PHP क्या है? अगर नहीं तो इस लेख को आपको अवश्य ध्यानपूर्वक Read करना चाहिए क्योंकि इस लेख मे हम PHP क्या हैं? और PHP कैसे सीखे इस पर हम सम्पूर्ण जानकारी के साथ चर्चा करने वाले हैं अगर आपको भी इंटरनेट इत्यादि चीजों के बारे मे जानना पसंद तो आपको PHP के बारे मे भी जरूर जानना चाहिए।

टेक्नोलॉजी को विकसित करने के कंप्युटर क्या बहुत ही बड़ा योगदान रहा हैं क्योंकि कंप्युटर से आज के समय मे इंटरनेट से संबंधित हर तरह के काम कर सकते हैं, यह कहना बिल्कुल सही होगा की आज के समय मे कंप्युटर के बिना जीवन जिने की कल्पना नहीं की जा सकती क्योंकि वर्तमान मे हर एक क्षेत्र मे कंप्युटर की आवश्यकता पड़ रही हैं।

यह कहने मे कोई बुराई नहीं हैं की जिस तरह हर घर मे आज के समय मे मोबाइल फोन मौजूद हैं उसी तरह आने वाले समय मे हर घर मे कंप्युटर होगा और जिस हर बच्चे को वर्तमान मे अंग्रेजी सिखाया जा रहा हैं उसी तरह आने वाले समय मे हर बच्चे को Programming Languages जैसे PHP, HTML, Python सिखाया जाएगा।

लेकिन सवाल यह उठता हैं की आखिर PHP, HTML, Python यह सब क्या हैं तो आपको बता दे की यह सब एक प्रोग्रामिंग भाषा हैं, विस्तार से जानने के लिए “HTML क्या हैं” और “Python क्या हैं” इन दोनों को पढ़ सकते हैं तो चलिए इस लेख के माध्यम से जानते हैं की PHP क्या हैं ? और टेक्नोलॉजी के बारे मे कुछ नया सीखते हैं।

पीएचपी क्या है – What is PHP in Hindi

PHP एक Dynamic ओपन सोर्स Server स्क्रिप्टिंग भाषा हैं, Server स्क्रिप्टिंग भाषा इसीलिए कहा जाता हैं क्योंकि PHP का execution server की तरफ से होता हैं। जिसका निर्माण रैसमस लेरडॉर्फ ने 1994 मे C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल करते हुए किया था, और 1995 मे PHP का प्रथम वर्ज़न को Release कर दिया गया यह एक ऐसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज हैं जिसे खास तौर पर Web development के लिए बनाया गया हैं, इसे HTML प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के साथ Embed करके उपयोग लाया जाता हैं।

वैसे तो PHP का पूरा मतलब Hypertext preprocessor होता हैं लेकिन इसका मूल नाम “Personal home page” हैं. PHP एक Object oriented लैंग्वेज भी हैं यानी की PHP के अंदर Classes के माध्यम से objects भी बना सकते हैं।

Class एक प्रकार का blue print होता हैं जो की Objects को बनाने के लिए उपयोग मे लाया जाता हैं और objects उस class का एक instance होता हैं जो की उस Blue print को इस्तेमाल करके बनाया जाता हैं। अगर Class एक template हैं तो object एक blue print की सहायता से बने जाने वाला Instance हैं।

PHP इन दिनों धीरे धीरे कॉफी ज्यादा इम्प्रूव होती जा रही हैं और PHP एक Stable लैंग्वेज के तौर पर विकसित हो रही हैं जो वाकई मे PHP को एक बेहतर, Easy to use प्रोग्रामिंग भाषा बनाता हैं।

PHP का इतिहास

PHP लैंग्वेज का development 1994 मे शुरू हो चुका था जब रैसमस लेरडॉर्फ personal web programming करने के लिए C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल करके जब Common Gateway interface (CGI) प्रोग्राम लिख रहे थे, इन C programs को उन्होंने Personal home page को मैनेज करने के लिए बनाया था फिर उन्होंने इसे PHP यानी की Personal home page बनाने वाली प्रोग्रामिंग भाषा कहा लेकिन फिर उन्होंने अपने इस काम को बढ़ाया और इसे PHP का नाम दिया।

उसके बाद PHP लैंग्वेज का उपयोग Simple dynamic web application बनाने के लिए किया जाने लगा उसके बाद रैसमस लेरडॉर्फ ने PHP को 1995 मे Release कर दिया जिस्मे Form handling के लिए कुछ टूल मौजूद थे. इस Release के इस्तेमाल से बहुत सारे web developers की मदद हुई।

इस लैंग्वेज के Simple limited consistent syntax Developers को और अधिक प्रभावित करने लगा जिसकी वजह से Developers इसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के तौर पर accept करने लगे जिससे PHP का विकास तेजी से होने लगा लेकिन हैरान करने वाली यह बात थी की रैसमस लेरडॉर्फ ने PHP को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का दर्ज नहीं दिया था।

PHP उस समय इतना Simple था की एक बार इस्तेमाल करने के बाद Developers PHP की जगह दूसरी लैंग्वेज को इस्तेमाल करना ही नहीं चाहते थे, November 1997 मे एक team Hire की गई जो PHP की Development के लिए काम कर रही थी उसके बाद 1997 मे PHP3 पर काम शुरू हुआ जिसे 1998 मे release किया गया, उसके बाद 22 मई 2000 को PHP4 को release किया गया जो की Zend engine पर आधारित थी।

अब उसके बाद 01 जुलाई 2005 को PHP5 को लाया गया जो की Zend engine II पर आधारित थी व PHP 5 मे PHP data objects (PDO’s) मौजूद थे फिर PHP6 एक प्रकार का Experiment था जिसे कभी भी Release नहीं किया गया, उसके बाद 3 दिसंबर 2015 को PHP7 लाया गया जो की 10 जनवरी 2019 तक चला जिसके बाद 26 नवंबर 2020 को PHP8 को Release किया गया जो की अभी तक चल रहा हैं।

PHP की विशेषताएं – Features of PHP

आज के समय मे PHP विभिन्न कामों के लिए उपयोग मे लाया जाता हैं और PHP प्रोग्रामिंग भाषा को इतना अधिक विकास करने के आज के समय मे PHP मे विभिन्न प्रकार के Features मौजूद हैं जो निम्नलिखित हैं –

  1. PHP प्रोग्रामिंग लैंग्वेज एक ऐसा लैंग्वेज हैं जो सर्वर पर पर Run होता हैं जिसकी वजह से PHP सर्वर पर फाइल बना, पढ़, लिख और हटा सकता हैं, जो की इस इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को और बेहतर बनाती हैं।
  2. PHP एक ओपन सोर्स लैंग्वेज हैं जिसकी वजह से यह बिल्कुल फ्री हैं जिसे कोई भी उपयोग कर सकता हैं इसके लिए हमें बस एक सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करने की आवश्यकता पड़ती हैं जिसके बाद आप इसे अपने System पर ही सर्वर बनाकर उपयोग कर सकते हैं।
  3. PHP के माध्यम से प्रोजेक्ट बनाते वक्त आने वाले Errors को solve करने के लिए हम इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं इंटरनेट से हमें पर्याप्त जानकारी मिल जाएगी व बहुत सारे पहले से बने बनाएं PHP के codes और स्क्रिप्ट्सऑनलाइन हमें मिल जाएंगे।
  4. PHP बाकी server side script प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से गति मे अधिक तेज होती हैं।
  5. PHP एक platform independent प्रोग्रामिंग लैंग्वेज हैं यानी की PHP के द्वारा बनाए गए Web pages, panels इत्यादि को हम किसी भी “Operating system” जैसे Linux, Mac, Windows मे आसानी से उपयोग मे ला सकते हैं।
  6. PHP लैंग्वेज के माध्यम से बनाई गई वेबसाइटस्, Applications सभी प्रकार के होस्टिंग सर्विस को सपोर्ट करता हैं।
  7. PHP लैंग्वेज मे HTML-CSS के codes के साथ embed कर सकते हैं और Dynamically उपयोग मे ला सकते हैं।
  8. PHP easy to learn प्रोग्रामिंग लैंग्वेज हैं यानी इसे बहुत आसानी से सिखा जाता हैं, अगर आपको किसी भी अन्य प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का ज्ञान हैं तो आप आसानी से बहुत जल्दी PHP को सिख सकते हैं और उपयोग कर सकते हैं।

PHP का इस्तेमाल कहाँ इस्तेमाल किया जाता और किया गया हैं

PHP के users अत्यधिक होने व HTML-CSS जैसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के साथ Comfortable होने के कारण लगभग हर एक इंटरनेट के क्षेत्र मे PHP का उपयोग लेकिन PHP का इस्तेमाल बहुत सारे प्रसिद्ध कार्यों के लिए किया जाता हैं जो की नीचे दिए गए हैं।

1. Web development मे

PHP स्क्रिप्टिंग भाषा को Web development के लिए एक सटीक प्रोग्रामिंग भाषा माना जाता हैं क्योंकि यह एक Server पर based Dynamic प्रोग्रामिंग भाषा हैं जिसकी वजह से यह गति मे बाकी server based स्क्रिप्टिंग भाषा मे से सबसे तेज हैं और इसे HTML के साथ embed किया जा सकता हैं जिससे Web development मे सहायता मिलती हैं।

2. Desktop App बनाने के लिए

अगर आप server based deskop apps बनाना चाहते हैं तो इसके लिए एक बेहतर सुझाव PHP भी है क्योंकि PHP के माध्यम से हम Desktop App बना सकते हैं।

3. WordPress Designing के लिए

WordPress को आज तक का सबसे बेहतर और पुराना वेबसाइट Builder माना जाता हैं, WordPress पूरी तरह PHP based हैं यानी अगर हम WordPress के माध्यम से वेबसाइटस् बनाते हैं तो PHP का इस्तेमाल करके WordPress के माध्यम से हम अपने वेबसाइट को और अच्छी तरह से customize कर सकते हैं।

4. Facebook App बनाने के लिए

Facebook को आप अवश्य जानते होंगे आपको बता दे की शुरुआती समय मे Facebook App को सिर्फ PHP स्क्रिप्टिंग भाषा की मदद से develop किया गया था, अभी भी Facebook PHP स्क्रिप्टिंग भाषा का उपयोग करता हैं लेकिन उसके साथ और भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज शामिल हैं।

5. PDF फाइल बनाने के लिए

PHP स्क्रिप्टिंग भाषा के माध्यम से हम पीडीएफ़ फाइल Generate कर सकते हैं, इसके लिए FPDF की जरूरत पड़ती हैं जो की एक PHP class हैं. जिसकी मदद से हम बहुत कम समय मे PDF फाइल बना सकते हैं।

6. E-commerce के लिए

आपको यह बता दे की E commerce इंडस्ट्री मे भी PHP का इस्तेमाल किया जाता हैं क्योंकि PHP स्क्रिप्टिंग भाषा का इस्तेमाल करके हम एक “E-commerce वेबसाइट” बना सकते हैं और बहुत सारी ऐसी e commerce वेबसाइटस् जो PHP को इस्तेमाल करके बनाई गई हैं।

PHP Version Types (PHP versions in Hindi)

PHP का सबसे पहला Version 1994 मे Release किया गया था जिसे Persnol home page tools के नाम से जाना जाता था, उसके बाद खामियों मे सुधार करने के लिए समय समय पर नए PHP के Version Release होते गए।

PHP VersionsRelease date
Persnol home page tools1994
PHP 2.0November 1997
PHP 3.020 October 2000
PHP 4.0 22 May 2000
PHP 5.013 July 2004
PHP 6.0Never Released
PHP 7.003 December 2015
PHP 8.026 November 2020
PHP 8.1.709 Jun 2022

PHP कैसे सीखे ?

अगर आपके मन मे PHP कैसे सीखे? यह सवाल हैं तो आपको यह बता दे की आज के समय मे हम इंटरनेट के माध्यम से कुछ भी चीज सिख सकते हैं, उसी तरह PHP को सीखने के हमारे पास बहुत सारे Option मौजूद हैं जिसकी मदद से हम Basic से लाकर Advance तक PHP स्क्रिप्टिंग भाषा को सिख सकते हैं. PHP स्क्रिप्टिंग भाषा को सीखने के लिए नीचे दिए गए तरीके को फॉलो कीजिए।

1. इंटरनेट की मदद से सीखिए

आपको यह बता दे की इंटरनेट एक ऐसा सोर्स हैं जिसमे लगभग सभी तरह की जानकारी उपलब्ध हैं, अगर आप PHP प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखना चाहते हैं तो इंटरनेट पर आपको ऐसे बहुत सारे वेबसाइटस् मिल जाएंगे जिसके माध्यम से PHP प्रोग्रामिंग भाषा को सिख सकते हैं उदाहरण के लिए कुछ वेबसाइटस् के नाम नीचे दिए गए हैं।

  1. w3schools
  2. tutorialspoint
  3. javatpoint.com

2. Books को पढ़कर सीखिए

हर किसी को Books पढ़ना पसंद नहीं होता हैं लेकिन आपको यह बता दे की आज के समय मे भी कुछ नया सीखने का सबसे अच्छा तरीका Books ही हैं क्योंकि Books Experiences से लिखी जाती हैं अगर आप PHP को बहुत ही कम खर्च मे सीखना चाहते हैं तो इसके लिए PHP Books खरीद सकते हैं जिसके माध्यम से Basic से लेकर advance तक की PHP की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए PHP स्क्रिप्टिंग भाषा से संबंधित कुछ Books के नाम नीचे दिए गए हैं।

  1. PHP: The Complete Reference
  2. PHP 7 Programming Cookbook
  3. PHP: 3 books in 1 : PHP Basics for Beginners

3. यूट्यूब से सीखिए

कुछ सालों मे यूट्यूब इतना अधिक Grow हुआ हैं की आज के समय मे लगभग हर जानकारी यूट्यूब पर वीडियो के माध्यम से उपलब्ध हैं ऐसे मे अगर आप PHP सीखना चाहते हैं तो मैं आपको यूट्यूब के माध्यम से फ्री मे PHP सीखे यह Recommended करूंगा, क्योंकि यूट्यूब पर PHP के Basic कोर्स बिल्कुल फ्री मे उपलब्ध हैं।

PHP सीखने के लिए कुछ टिप्स

अगर आप PHP को बहुत ही कम समय मे जल्दी सीखना चाहते हैं तो नीचे कुछ tips दिए गए हैं जिनको फॉलो करके कम से कम समय मे PHP को सिख सकते हैं।

1. Syntax और Basic fundamentals पर ध्यान दीजिए.

सिर्फ PHP ही नहीं बल्कि किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने के लिए हमें उस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के Syntax और Basic fundamentals पर ध्यान देना बहुत ज्यादा देना चाहिए क्योंकि किसी भी प्रोजेक्ट को बनाते वक्त हम प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के Syntax को इस्तेमाल करना ही पड़ता हैं, और Basic fundamental’s के आधार पर ही हम PHP भाषा की मदद से कोई भी प्रोजेक्ट तैयार कर सकते हैं।

2. रोजाना प्रैक्टिस कीजिए.

सिर्फ प्रोग्रामिंग सीखने के लिए ही नहीं बल्कि हर एक प्रकार के skill को सीखने के लिए हमें रेगुलर प्रैक्टिस की आवश्यकता अवश्य पड़ती हैं, क्योंकि रेगुलर प्रैक्टिस से हमारी Skill day by day इम्प्रूव होती जाती हैं इसीलिए PHP को सीखने के लिए कम से कम 1 से 2 घंटे रोजाना प्रैक्टिस कीजिए।

3. छोटे प्रोजेक्ट से शुरुआत कीजिए.

सिर्फ प्रोग्रामिंग ही नहीं बल्कि किसी भी काम को सटीकता से करने के लिए हमें छोटे छोटे स्टेप्स उठाने पड़ते हैं इसीलिए अगर PHP प्रोग्रामिंग भाषा को जल्दी सीखना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले Syntax और Basic fundamentalas को समझकर छोटे छोटे प्रोजेक्ट बनाइये और बाद मे धीरे धीरे अपने प्रोजेक्ट को Complex कीजिए।

FAQ’s – PHP in Hindi

ASP और PHP मे क्या अंतर है?

ASP एक open source server side framework हैं जो की एक dynamic web page बनाने के काम आता हैं जब की PHP एक Dynamic ओपन सोर्स Server स्क्रिप्टिंग भाषा हैं जो Web development के काम आता हैं, PHP को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के रूप मे भी इस्तेमाल किया जाता हैं जो की इन दोनों मे एक बड़ा अंतर Create करता हैं।

क्या हम PHP को फ्री मे सिख सकते है?

जी हाँ आज के समय मे हम PHP के Basic जानकारी को फ्री मे इंटरनेट के जरिए सिख सकते हैं।

क्या PHP फ्री है?

जी हाँ । PHP एक Open source स्क्रिप्टिंग भाषा होने के कारण यह बिल्कुल फ्री हैं।

निष्कर्ष

वेब डेवलपमेंट के लिए PHP काफी महत्वपूर्ण प्रोग्रामिंग भाषा है जिसे आज के समय मे सभी Programmers को अवश्य सीखना चाहिए। अब उम्मीद हैं की आपने इस लेख मे दी गई जानकारी को पढ़कर यह जान लिया होगा की पीएचपी क्या है (What is PHP in Hindi) और आपने फिर इस लेख के माध्यम से कुछ नया सिखा होगा, अगर आपके मन मे इंटरनेट से संबंधित कोई भी सवाल हैं तो आप उसे नीचे कमेन्ट मे लिखकर पूछ सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा कॉमेंट करना मत भूलिएगा और इस लेख को सोशल मीडिया जैसे Twitter, Facebook, Linkdin पर भी शेयर कीजिए

Leave a Comment