कंप्युटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कैसे सीखे (कम समय मे)

आज के समय मे प्रोग्रामिंग कैसे सीखे? यह सवाल हर व्यक्ति के मन मे अवश्य रहता हैं, क्योंकि जिस तरह टेक्नोलॉजी, कंप्युटर, इंटरनेट इन सारी चीजों का महत्व दैनिक जीवन मे बढ़ता जा रहा हैं उसी तरह ही हर एक क्षेत्र मे हमें प्रोग्रामिंग की आवश्यकता पद्धति जा रही हैं लेकिन बहुत ही कम लोगों को ही प्रोग्रामिंग का ज्ञान होता हैं।

अगर आप भी यह जानने मे रुचि रखते हैं की कंप्युटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कैसे सीखे? इसका मतलब आप भी कंप्युटर के क्षेत्र मे अपना करिअर बनाना चाहते हैं. वैसे तो हम एक तरफ देखे तो बाकी सारी चीजों की तरह ही कंप्युटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी एक गणित की तरह ही हैं जिसके Fundamentals को एक बार पूरी समझने के बाद हम किसी भी तरह के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को आसानी से सिख सकते हैं।

बहुत सारे लोगों, स्टूडेंट्स को प्रोग्रामिंग बहुत ही ज्यादा complicated लगता हैं जिस वजह से वे कंप्युटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने मे रुचि नहीं रखते हैं. लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं हैं बाकी सारी चीजों की तरह ही प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी एक सीखने की चीज हैं. जिसे अगर हम सिख जाते हैं तो हमें प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी सामान्य लगेगा।

अगर आपके भी मन मे कंप्युटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने ख्याल आया हैं. और आपने भी प्रोग्रामिंग को सीखने का मन बना लिया हैं तो इस आर्टिकल को पढ़ना आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होने वाला हैं क्योंकि इस आर्टिकल मे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कैसे सीखे? से संबंधित विस्तार से जानकारी दी हैं जो आपके प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने की इस Journey मे बहुत ही मददगार साबित होंने वाले हैं।

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है?

जिस तरह अलग अलग क्षेत्र के व्यक्ति को अलग अलग भाषाओ का ज्ञान होता हैं व उन लोगों को उन्ही के भाषा माध्यम से समझाया जा सकता हैं और उन्ही के भाषा के माध्यम से किसी कार्य को करने के लिए आदेश दिया जा सकता हैं. उसी तरह कंप्युटर को किसी कार्य को करवाने के लिए उन्ही के भाषा के माध्यम से हमें प्रोग्राम बनाकर समझाना होता हैं।

जिस भाषा के माध्यम से हम कंप्युटर से Interact करते हैं वही भाषाएं कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कहलाती हैं. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की मदद से ही हम किसी भी प्रकार के सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को develop करते हैं. प्रोग्राम के मदद से ही कोई भी व किसी भी प्रकार का सॉफ्टवेयर बनता हैं। वर्तमान मे बहुत सारी प्रसिद्ध कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज उपलब्ध हैं जैसे. C langauge, C++, Java, Python, PHP, Ruby, HTML इत्यादि।

प्रोग्रामिंग कैसे सीखे ?

अगर हम प्रोग्रामिंग सीखने मे अधिक कठिनाईयो का सामना नहीं करना चाहते हैं व कम समय मे बहुत ही जल्दी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखना चाहते हैं तो इसके लिए हमें छोटे छोटे स्टेप्स उठाने चाहिए. व प्रोग्रामिंग के सभी Fundamental’s को समझना चाहिए इससे हमें प्रोग्रामिंग को जल्दी सीखने मे मदद मिलेगी. कंप्युटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने के लिए नीचे बताएं गए सभी स्टेप्स को फॉलो कीजिए।

1. प्रोग्रामिंग सीखने का कारण क्या है? यह समझे

हर कोई का अपना एक मकसद होता हैं प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने का इसी जिसके आधार पर हम प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखते हैं और इसी के आधार पर यह भी Decide होता हैं कौन से और किस तरह के प्रोग्राम्स को सीखना चाहिए क्योंकि आज के समय मे हर एक Field मे अलग अलग तरह के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज उपलब्ध हैं।

मान लीजिए की आपने HTML प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सिखा हैं और आपको आगे चलकर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की सहायता से मोबाइल Games बनाने हैं. ऐसे मे आप मोबाइल Games नहीं बना पाएंगे क्योंकि मोबाइल Games बनाने के लिए C++, Java जैसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का उपयोग किया जाता हैं।

ऐसे मे आपका HTML प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखना बेकार हो जाएगा क्योंकि HTML प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का उपयोग वेब पेज को design करने के लिए किया जाता हैं. इसीलिए पहले यह Decide करेँ की प्रोग्रामिंग क्यों सीखना चाहते हैं और उसी के According किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने की शुरुआत करे।

2. एक समय मे एक ही प्रोग्रामिंग लैंग्वेज पर फोकस कीजिए

बहुत सारे नए Programmers इस वजह से प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नहीं सिख पाते हैं क्योंकि वे बिल्कुल नए होते होते हैं और उन्हे किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का ज्ञान पूरा नहीं होता हैं. ऐसे मे किसी भी एक Spacephic प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने के बजाय व एक समय मे कई सारे अलग अलग प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने का प्रयास करता हैं और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने मे असफल हो जाता हैं।

यह गलती एक नए Programmer को बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि कोई भी व्यक्ति एक साथ सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को नहीं सिख सकता हैं. इसके लिए सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को एक एक करके सीखना पड़ता हैं। अगर हम शुरुआती समय मे C++ जैसे उच्च स्तर के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखते हैं और जब C++ का पूरा ज्ञान हो जाता हैं।

तब हमारे लिए बाकी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखना बहुत ही आसान हो जाता हैं और हम कम से कम समय मे बाकी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सिख सकते हैं. इसीलिए एक समय मे एक ही प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखिए।

3. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के “Basics और Fundamentals” को समझे

सभी तरह के प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के कुछ Basics concepts और Fundamentals होते हैं. जैसे data types, input, output, basic syntax, loops, if-else, arrays इत्यादि. जिन चीजों को अगर हम समझ जाते हैं तो किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को बहुत कम समय के अंदर मे बड़ी आसानी के साथ सिख सकते हैं।

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की एक यह खासियत होती हैं की सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज एक दूसरे से कॉफी ज्यादा Simuler होती हैं. लेकिन सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का Markup अलग अलग होते हैं। जिस वजह से हम अगर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के “Basics और Fundamentals” को समझ जाते हैं तो हमें बाकी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने मे बहुत ज्यादा आसानी होगी लेकिन इसका मतलब यह नहीं हैं की सभी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज एक सामान होती

4. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के “syntax” पर अधिक ध्यान दे

जिस तरह किसी भी इंसानी भाषा को सीखने के लिए हमें उस भाषा के ग्रामर को समझना बेहद जरूरी होता हैं कुछ उसी तरह ही किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने के लिए syntax को समझना बेहद जरूरी होता हैं. syntax भी बिल्कुल ग्रामर की तरह ही Work करता हैं इसी के तौर पर हम एक सटीक प्रोग्राम बना सकते हैं।

इसे उदाहरण से समझिए अगर हम सही syntax के बिना हम अगर किसी भी command को execute करने की कोशिश करते हैं तो ऐसे मे command execute नहीं हो पाएगा और हमारा प्रोग्राम बनने मे असफल हो जाएगा. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज मे syntax तत्व variable, कीवर्डस्, operators को कहा जाता हैं।

5. प्रोजेक्ट बनाने की कोशिश कीजिए.

जब हम प्रोग्रामिंग के फील्ड मे बिल्कुल नए होते हैं तब हमें छोटे छोटे प्रोजेक्ट्स बनाने की कोशिश करनी चाहिए इससे हमारा प्रोग्रामिंग Skill दिन ब दिन बेहतर होती जाएगी. प्रोग्रामिंग सिखते सिखते प्रोजेक्ट बनाना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि इससे आगे चलकर हमारे प्रोग्रामिंग के करियर में बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ेगा।

इसका कारण यह है कि जब आगे हम प्रोग्रामिंग में अपना करियर बनाने के लिए किसी जाॅब या Placement कि तैयारी करेंगें तब हमें प्रोजेक्ट्स कि आवश्यकता होगी. इसलिए शुरुआती समय में छोटे प्रोजेक्ट्स बनाइए और धीरे धीरे अपने प्रोजेक्ट्स को Complex किजीए।

उदाहरण के तौर पे आपको बता दे कि अगर आप HTML, PHP सिख रहे है तो कोई छोटा वेब पेज प्रोजेक्ट बना दीजिए, अगर आप C++, C#, Python जैसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिख रहे है तो साधारण सा कोई App बना दीजिए. कुछ इस तरह के छोटे छोटे प्रोजेक्ट्स से शुरुआत करें इससे आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सिखने में बड़ी आसानी होगी।

6. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से संबंधित बुक को पढ़िए

वाकई मे वर्तमान मे भी जानकारी पाने का सबसे अच्छा साधन बुक्स को ही माना जाता हैं क्योंकि बुक्स के माध्यम से सीखने से हमारा फोकस लेवल बढ़ता हैं जिससे हम बेहतर प्रोग्राम बना पाएंगे इसीलिए अगर आप प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सिख रहे हैं तो ऐसे मे बुक्स आपकी बहुत ही ज्यादा हेल्प कर सकता हैं प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने मे।

जिस भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को आप शुरुआती समय मे सिख रहे हो जैसे C++, Java script, HTML इत्यादि. उस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से संबंधित आपको बुक्स मिल जाएंगे जिनको आप पढ़कर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को बहुत ही जल्दी सिख सकते हैं क्योंकि बुक्स मे हमें वह major समस्याओ का समाधान मिल जाएगा. जो समस्याए एक नए प्रोग्रामर को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखते वक्त आती हैं।

जिससे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखते वक्त आपके सामने आने वाली Key Errors, Name Errors, Logic Errors, Runtime Errors, Syntax Errors को बहुत ही जल्दी खत्म कर पाएंगे।

7. Consistency के साथ प्रैक्टिस कीजिए

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने के लिए Consistency बहुत ही ज्यादा जरूरी हैं. अगर हम कोई भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सिख रहे हैं और उस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज मे कुछ नया प्रोजेक्ट बनाने की प्रैक्टिस Consistency के साथ रोजाना नहीं करते हैं तो ऐसे मे हम बहुत ही जल्दी हम प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के Basics Concepts जैसे Basic syntax, Variable declaration, Data types and structures, debugging, Object oriented programming को भूल जाएंगे।

जिससे बाद मे हमें प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से प्रैक्टिस करते वक्त व प्रोजेक्ट बनाते वक्त हमें कॉफी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा व हम अनिवार्य रूप से एक नया प्रोजेक्ट नहीं बना पाएंगे जिससे हमे फिर से प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के “Basics Concepts” को सीखना पड़ेगा इसीलिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को जल्दी सीखने के लिए Consistency के साथ प्रैक्टिस कीजिए।

8. प्रोग्रामिंग सिखने में परेशानी हो तब “Stackoverflow.com” का इस्तेमाल किजीए

Stackoverflow.com” programmers के लिए बहुत ही ज्यादा मददगार वेबसाइट हैं इसके माध्यम से रोजाना लाखों programmers अपने प्रोग्राम से संबंधित Errors को solve करते हैं. यह वेबसाइट वाकई मे Beginner programmers के बहुत ही मददगर साबित हुई क्योंकि जब हमें प्रोग्रामिंग लैंग्वेज मे कुछ नया प्रोजेक्ट बनाते वक्त कोई भी error का सामना कर रहे हैं।

तो ऐसे मे आप Stackoverflow.com वेबसाइट पर प्रोफाइल बनाकर. Add Question वाले सेक्शन मे जाकर अपने प्रोग्राम से संबंधित Errors को add कर सकते हैं. जिससे कुछ दिनों के भीतर ही Expert Programmers आपके error का solution आपके Question के नीचे पोस्ट कर देंगे. जिसकी वजह से आप बहुत कम समय मे प्रोग्रामिंग को सिख पाएंगे।

9. प्रोग्रामिंग में Expert बनने के लिए Learning करते रहे

किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखने के लिए हमें रेगुलर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे “Learning” करती रहनी चाहिए. क्योंकि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज मे इतने सारे Concepts होते हैं जिनके बारे मे हमें पता नहीं होता हैं. ऐसे मे हमें कभी भी किसी भी Concepts से संबंधित errors का सामना करना पड़ सकता हैं।

इसीलिए हमें प्रोग्रामिंग में Expert बनने के लिए रेगुलर Learnings करते रहना चाहिए. जिससे हम अपने प्रोजेक्ट को बनाते वक्त आने वाले errors को बहुत ही जल्दी solve कर पाएंगे और अपने प्रोग्रामिंग Knowledge की मदद से एक बेहतर प्रोजेक्ट तैयार कर पाएंगे।

10. कंप्युटर Institute Join कीजिए

अगर आप प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे मे बिल्कुल भी Knowledge नहीं हैं और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को लेकर बहुत ही ज्यादा सिरियस हैं साथ मे बहुत ही कम समय मे बहुत ही जल्दी किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखना चाहते हैं तो ऐसे मे आप कोई कंप्युटर Institute जो की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिखाती हो उसे join कर सकते हैं।

जिससे जब आप प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की मदद से कोई भी प्रोजेक्ट बनाएंगे तब हो सकता हैं की आपके सामने Errors आ जाएं. ऐसे समय मे आप उन Errors को Solve करने के लिए Teacher का मदद ले सकते हैं. जिससे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को आप बहुत ही जल्दी सिख पाएंगे।

FAQ’s – programming kaise sikhe

प्रोग्रामिंग फ्री मे कैसे सीखे?

आज के समय मे प्रोग्रामिंग फ्री मे सीखने के लिए बहुत सारे साधन हैं. अगर आप फ्री मे प्रोग्रामिंग सीखना चाहते हैं तो यूट्यूब मे उपलब्ध फ्री प्रोग्रामिंग कोर्स के माध्यम से, इंटरनेट पर उपलब्ध प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से संबंधित आर्टिकल्स के माध्यम से फ्री मे प्रोग्रामिंग सिख सकते हैं।

जल्दी प्रोग्रामिंग सीखने के लिए क्या करे?

जल्दी प्रोग्रामिंग सीखने के लिए रेगुलर 2 से 3 घंटे प्रैक्टिस कीजिए व रोजाना नए प्रोजेक्ट्स बनाने का प्रयास करे।

कंप्युटर प्रोग्राम क्या होता है?

किसी Specific काम को कंप्युटर को करवाने के लिए या करने के लिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की मदद से बनाई गई instructions के Groups को कंप्युटर प्रोग्राम कहा जाता हैं और इन कंप्युटर प्रोग्राम बनाने वाले व्यक्तियों को programmer कहा जाता हैं।

निष्कर्ष

ऊपर दिए गए सभी जानकारी को अगर आप ध्यानपूर्वक रेगुलर Consistency के साथ फॉलो करते हैं तो आप बहुत ही कम समय के अंतर्गत आप प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सिख जाएंगे. अगर हम सिर्फ एक complicative प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सिख जाते हैं तो बाकी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखते वक्त हमें अधिक कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

उम्मीद हैं की आप सभी लोगों ने इस लेख के माध्यम से दी गई जानकारी की मदद से आपने बहुत कुछ सिखा होगा और यह जान लिया होगा की प्रोग्रामिंग कैसे सीखे? अगर आपके मन मे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से संबंधित कोई भी सवाल है तो आप हमसे नीचे कमेन्ट मे पूछिएगा और इस लेख को Twitter, LinkedIn, Facebook जैसे सोशल मीडिया पर भी शेयर कीजिए।

Leave a Comment