Blogging tips in Hindi | ब्लॉगिंग टिप्स एक नये ब्लॉगर के लिए

हर एक नये ब्लॉगर को Blogging tips in Hindi के बारे में अवश्य जानना चाहिए क्योंकि बहुत सारे लोग किसी दुसरे को देखकर Motivate होकर बहुत जल्दी ब्लॉगिंग कि शुरुआत तो कर देता है लेकिन किसी कारण बहुत जल्दी ब्लॉगिंग छोड़ भी देता है।

इसलिए मेरा मानना यह है कि हर एक नये ब्लॉगर को इस लेख में बताएं गए बेहतरीन ब्लॉगिंग टिप्स के बारे में अवश्य जानना चाहिए ताकि छोटी मोटी परेशानीयो का चुटकी में सामना कर सके और ब्लॉगिंग को छोड़ने के बजाय ब्लॉगिंग में और अधिक दिलचस्पी लगा बैठे।

यह बात कहने में शायद कोई भी बुराई नही है कि जिस तरह से इंटरनेट आगे बढ़ रहा है उसी तेजी से डिजीटल करियर ऑप्शन भी हमारे सामने आते जा रहे है, उसी में से ब्लॉगिंग भी है जिसमें हम डिजीटली काम करते है और ऑनलाइन दुनिया में जीते है।

लोगो को जितना ब्लॉगिंग आसान लगता है उतना है नही। ब्लॉगर्स को ना ही रात को नींद आती है और ना ही सुबह को चैन उसके लिए रात और दिन दोनो बराबर ही होते है, एक ब्लाॅगर कभी किसी व्यक्ति से अपने Thoughts को नही कहता, लेकिन वह अपने Thoughts को लिखता जरुर है।

इस लेख के माध्यम मैं आपके साथ अपने ब्लॉगिंग Journey के बारे में बात करने वाला हूं एवं आपके साथ ऐसे कुछ मेरे महत्वपूर्ण ब्लॉगिंग टिप्स शेयर करने जो आपको अपने ब्लॉगिंग करियर में बहुत काम आएंगे और शायद जिन टिप्स कि वजह से मै इस वक्त मैं आपके अपनी मन कि बात कह रहा हूँ तो चलिए जानते है इन Blogging tips in Hindi के बारे मे और कुछ नया सिखते है।

Blogging tips in Hindi – बेहतरीन ब्लॉगिंग टिप्स

ब्लाॅगिंग टिप्स के बारे में जानने से पहले आपको यह बता दे कि ब्लॉगिंग मुख्य रुप से प्रेसर वाला काम नही होता है बल्कि यह एक Passion, Journey और अपनी कहानी होता है इसमें हमे अपनी खुद के Experience और Knowledge को लेख यानी Article’s के माध्यम से अन्य लोगो के साथ शेयर करना होता है। नीचे दिये गएं सभी टिप्स को अवश्य पढ़ीएगा यह आपके इस Blogging Journey में बहुत काम आएगा.

1. समस्याओं पर नही समाधान पर फोकस किजीए

जब हम शुरुआत में अपना ब्लॉग बनाते है तब हमें ब्लॉगिंग कि जिरो Knowledge होती है और इस ब्लॉगिंग कि Journey के दौरान हमारे सामने ऐसे बहुत सारे मुश्किले आनी बाकी होती है। लेकिन बहुत सारे लोग अपनी इस ब्लॉगिंग सफर के दौरान कुछ गलतीया कर देते है जिनसे वे Demotivate होकर ब्लॉगिंग छोड़ देते है यह हमारी सबसे बड़ी गलती होती है।

आपको बता दे कि आपके इस ब्लॉगिंग के सफर के दौरान आपके सामने मुश्किले तो जरुर आएंगे, लेकिन अगर हम उन मुश्किलो में फंस गएं तो कभी भी Succesfull ब्लॉगर नही बन पाएंगे ऐसे स्थिति में हमें समस्या पर नही समाधान पर फोकस करना है तभी हम ब्लॉगिंग कि इस सफर में कहीं ऊंचाई पर पहुंच पायेंगें।

मैने यह Experience किया है कि जितनी भी हमारे इस ब्लॉगिंग कि Journey में समस्याएं आती है सब समय के साथ खत्म हो जाती है।

2. गूगल पर नये Keywords सर्च करते रहे

मानो या ना मानो लेकिन गुगल पर हमें ऐसे भी सवाल मौजूद हैं जिनका जवाब अभी भी गुगल पर मौजूद नही है जरुरत है तो हमें उन सवालो को ढूंढ कर उन सवालो पर आर्टिकल लिखकर अपने ब्लॉग के माध्यम पोस्ट करने कि। अगर हम ऐसा करते है तो हमारा ब्लॉग जल्दी तेजी से गुगल में रैंक करेगा क्योंकि उन Keywords जिन पर एक भी आर्टिकल मौजुद नही होते है उन पर हमारा ब्लॉग बहुत ही कम समय में रैंक करने लगेगा।

इसलिए मेरा मानना यही है कि गुगल पर रोजाना नये Keywords सर्च करते रहे और यह देखे कि उन Keywords पर Competition कितना है और इन Keywords का सर्च Volume कितना है। जिस Keyword का सर्च Volume जितना अधिक होगा उतना ही अधिक हमारे ब्लॉग पर ट्रैफिक आएगा और जिस Keyword पर जितना कम Competition होगा उतनी ही जल्दी हमारा ब्लॉग उस Keyword पर रैंक करेगा।

3. अच्छे ब्लॉग पढें

जितना हम ज्यादा पढ़ेंगें उतना ही अधिक हमारा लिखावट में सुधार होगी और एक नए ब्लॉगर के लिएयजो सबसे ज्यादा जरुरी होता है वह Content है। यानी कि हम अपने Content को जितना बेहतर तरिके से लिखेंगें उतना ही ज्यादा विजिटर्स को content पसंद आएगा जिससे हमारा Content गुगल पर Organically रैंक करेगा।

इसलिए हमें ऐसे ब्लॉग को पढ़ना बहुत जरुरी है जिनका लिखने का स्टाइल लोगो को बहुत पसंद आता है और लोग उनके Content कि तारीफ करते है क्योंकि ऐसा करने से भी हमारे Contin में भी Improvement होगा इसलिए अच्छे ब्लॉग पढ़ें जो आपके ब्लॉग से काफ़ी आगे हो।

4. Competitor के ब्लॉग ना पढें

मेरा यह मानना है कि कभी भी अपने Competitor के द्वारा लिखे गए आर्टिकल को नही पढ़ना चाहिए क्योंकि इससे रैंकिंग पर प्रभाव पड़ता है कुछ ऐसे, जब हम अपने किसी आर्टिकल को लिखने से पहले उस आर्टिकल के Competitor के आर्टिकल को पढ़ते है तो हम Competitor के तरह ही अपने आर्टिकल को लिखने लगते है जिससे Plagiarism एवं कॉपी Content का दिक्कत आ सकता है।

जिससे हमारा Content अपने Competitor के ऊपर रैंक नही करेगा क्योंकि गुगल काॅपी या Plagiarised Content को कभी भी रैंक नही करता है। इसलिए मेरा यह मानना है कि Competitor का ब्लॉग नही पढ़ना चाहिए।

5. कमेन्ट का रिप्लाई किजीए

एक ब्लॉगर को काम करने का मजा तभी आता है जब वह कमेंट्स को पढ़ता है क्योंकि कमेन्ट में ही आपके Content कि तारीफ, लोगो के समस्याएं मौजुद होती है जिससे हमें आगे बिना Demotivate हुए काम करते रहने का inspiration मिलता है, यही वजह है कि हमें लोगो द्वारा किए गए कमेंट्स को पढ़ना चाहिए और उनका रिप्लाई करना चाहिए।

एक ब्लॉगर के लिए उसका सबसे महत्वपूर्ण पार्ट कमेन्ट सेक्शन ही होता है क्योंकि यही पर ही आपके कामो का परिणाम लोगो के द्वारा मिलता है जो आपके आगे के सफर में बहुत महत्वपूर्ण काम आते है।

6. Google के अपडेट को देखते रहे

यह एक बहूत महत्वपूर्ण चीज है जिसे हमें ध्यान में रखना पड़ता है वरना हमारे सालो कि मेहनत कुछ ही दिनो में खराब हो सकती है, गुगल हर रोज अपने Algorithm एवं सर्च रिज़ल्ट पर नए नए अपडेट लाता रहता है ताकी एक बेहतर Content गुगल पर रैंक करें और यूजर्स को बेहतर Experience प्राप्त हो।

गूगल का अपडेट जब कभी भी आता है तो कुछ ही दिनो के भीतर इसका प्रभाव हमारे साइट पर दिखने लगता है, या तो हमारी साइट कि रैंकिंग नीचे गिर जाती है या फिर रैंकिंग अच्छी हो जाती है दोनो ही केस में हमें सावधान रहना चाहिए और गुगल के अपडेट को समझकर उसे अपने साइट पर implement करें।

7. सर्च इंजन को समझिए

ब्लॉगर बनने के लिए जितना जरूरी हमारा content लिखना होता हैं उतना ही जरूरी सर्च इंजन को समझना क्योंकि अगर हम यह समझ गए की सर्च इंजन कैसे काम करता हैं तो बढ़ी आसानी के साथ अपने ब्लॉग के पोस्ट को सर्च इंजन के सर्च रिजल्ट मे पहले पेज पर रैंक करा सकते हैं,

इसलिए सर्च इंजन को समझना बेहद ही आवश्यक हैं हर एक नए ब्लॉगर के लिए, ताकि वह आने वाले समय मे Profassional ब्लॉगर बन सके।

8. कभी भी गलत Content न लिखे

अगर आप यह सोचते हैं की मैं कुछ भी content लिखकर ब्लॉगर बन जाऊंगा तो आप बहुत गलत सोच रहे हैं क्योंकि एक ब्लॉगर के लिए जितना महत्वपूर्ण ब्लॉग होता हैं उतना ही महत्वपूर्ण ब्लॉग मे लिखे गए content होना चाहिए। क्योंकि content ही एक ऐसी चीज हैं जिसकी वजह से ब्लॉगर को जाना जाता हैं।

इस वजह से ऐसे content लिखे जो Readers, विज़िटर्स को बेहद पसंद आए और उस content की वजह से विज़िटर्स की मदद हो सके, इसीलिए कभी भी गलत Content न लिखे जो सर्च इंजन के नियमों का उलँघन करता हो या फिर जिससे विज़िटर्स का नुकसान हो।

9. Backlink कम और Content कि Quality पर ज्यादा फोकस करें

आप सभी को यह बता दे की जब भी कोई नया ब्लॉगिंग की इंडस्ट्री मे आता हैं तो वह सबसे ज्यादा प्रभावित backlink से होता हैं क्योंकि बहुत सारे ब्लॉगर्स ने backlink को बढ़ा चढ़ाकर बताया हैं, मैं भी यह मानता हूँ की एक अच्छी quality के backlink से ब्लॉग की रैंकिंग पर प्रभाव पड़ता हैं लेकिन बिना अच्छी Quality content के Backlink की कोई वैल्यू नहीं हैं।

इसीलिए जब आप ब्लॉगिंग की शुरुआत करें तो जब तक ब्लॉग 1 साल पुराना न हो जाएं तब तक backlink पर कम और Content कि Quality पर ज्यादा फोकस करें।

10. ब्लॉग पोस्ट को updated रखिए

वर्तमान यह भी एक ब्लॉगिंग इंडस्ट्री का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका हैं, अगर आप अपने पुराने content यानि old ब्लॉग पोस्ट को हर सप्ताह update नहीं करते हैं तो इससे आके ब्लॉग की रैंकिंग पर कॉफी बुरा असर पड़ने वाला हैं इससे कुछ ही महीनों के भीतर आपके साइट की रैंकिंग नीचे जा सकती हैं।

यह मेरा पर्सनल experience रहा हैं, इसीलिए अपने ब्लॉग के सभी पोस्ट को Update करते रहिए ताकि आपके ब्लॉग की रैंकिंग सदैव बढ़ते रहे।

FAQ’s – Blogging tips in Hindi

ब्लॉगर बनने के लिए किन किन चीजो की जरूरत होती है?

ब्लॉगर बनने लैपटॉप या कंप्युटर/मोबाईल, इंटरनेट कनेक्शन, डोमेन, होस्टिंग और सबसे महत्वपूर्ण writing skill की जरूरत होती हैं।

ब्लॉग कितने दिनों मे रैंक करना शुरू हो जाता है?

यह कभी भी फिक्स नहीं हैं, यह बहुत सारी चीजों पर depend हैं लेकिन अगर आप रोजाना एक से दो पोस्ट लिखते हैं एवं पूरी लग्न और मेहनत के साथ काम करते हैं तो एक से दो महीने के अंदर ही हमें रिजल्ट मिलने लगता हैं एवं ब्लॉग रैंक करना शुरू हो जाता हैं।

क्या हम फ्री मे ब्लॉगिंग कर सकते है?

जी हाँ। हम blogger.com पर फ्री मे ब्लॉग बना सकते हैं और बिल्कुल फ्री मे ब्लॉगिंग कर सकते हैं।

निष्कर्ष

उम्मीद हैं की आपने इस लेख को पढ़कर Blogging tips in Hindi के बारे मे जान लिया होगा और इस लेख के माध्यम से आज आपने बहुत कुछ सिखा होगा। अगर आपके मन मे ब्लॉगिंग, इंटरनेट, यूट्यूब, सोशल मीडिया से जुड़े कोई भी सवाल हैं तो नीचे कमेन्ट मे लिखकर अवश्य पूछिएगा।

आप सभी लोगों से निवेदन हैं की इस लेख को सोशल मीडिया पर साझा करके नए ब्लॉगर तक इस लेख को अवश्य पहुचाएं ताकि वे भी जान सके और यह लेख कैसा लगा नीचे कमेन्ट मे लिखकर अवश्य बताएं।

Leave a Comment