जेरॉक्स मशीन क्या है इसके प्रकार (Xerox Machine in Hindi)

नमस्ते दोस्तों, लगभग हम सभी को अपने जीवन मे कभी न कभी Xerox मशीन की आवश्यकता पड़ती ही पड़ती है भले ही आप लोगों को Xerox मशीन क्या है? इसके बारे मे बिल्कुल पता नहीं होगा तो आपको बता दे की Xerox मशीन की आवश्यकता हमें अक्सर अपने किसी दस्तावेज का फोटोकॉपी करवाते वक्त पड़ती है क्योंकि इसी के जरिए फोटोकॉपी के कार्य किए जाते है।

हम मे से लगभग सभी लोगों को अपने जीवन मे अपने दस्तावेजों को किसी न किसी कार्य के फोटोकॉपी करवाने की आवश्यकता पड़ती है ऐसे मे हम 2 मिनट मे ही काफी सारे दस्तावेजों के कई सारे फोटोकॉपी निकाल सकते है यह सब Xerox मशीन की वजह से ही मुमकिन हो पाया है क्योंकि Xerox मशीन मे ऐसी प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है जिसकी वजह से तुरंत ही हम बिना किसी कंप्युटर के अपने दस्तावेजों का फोटोकॉपी कर सकते है।

Xerox मशीन को चलाने के लिए भी एक Expert की आश्यकता नहीं पड़ती है बल्कि इसे कोई भी आसानी से चला सकता है लेकिन आज के समय मे ऐसे काफी सारे लोग है जिनको अपने जीवन मे Xerox मशीन की आवश्यकता पड़ती है लेकिन फिर भी उन्हे Xerox मशीन क्या होता है, इसके बारे मे उन्हे कोई जानकारी नहीं है।

इस वजह से मैंने आज का यह आर्टिकल लिखने का चयन किया जिसमे मैं आप सभी के साथ Xerox मशीन क्या है, Xerox मशीन कितने प्रकार के होते है, Xerox मशीन कैसे काम करता है एवं इससे जुड़े समस्त जानकारीयो को विस्तार से साझा करने वाला हूँ तो चलिए जानने की शुरुआत करते है।

जेरॉक्स मशीन क्या है – What is Xerox Machine in Hindi

जेरॉक्स मशीन एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो की किसी भी दस्तावेज या फोटो का कॉपी यानि Duplicate कुछ ही सेकंड मे करता है, यह मशीन “Xerography” नामक तकनीक का उपयोग करती है जिसके तहत यह एक तेज रोशनी के इस्तेमाल से किसी भी तरह के दस्तावेज या फोटो का कॉपी कर देती है, इसे सिर्फ जेरॉक्स मशीन के नाम से ही नहीं जाना जाता है बल्कि इसे फोटोकॉपीयर एवं फोटोकॉपी मशीन के नाम से भी जाना जाता है।

जेरॉक्स मशीन का आकार दिखने मे काफी बड़ा होता है क्योंकि इसका कार्य भी काफी बड़ा है एवं इसमे विशेष प्रकार का तकनीक एवं अलग अलग Components का उपयोग किया जाता है जिसकी वजह से यह मशीन किसी भी तरह के ऐसे दस्तावेज, चित्र जिसमे की कुछ लिखा है या प्रिंटेड है उसे तुरंत स्कैन करके उसकी एक Duplicate कॉपी पेपर पर प्रिन्ट कर देती है और यह प्रिन्ट किया हुआ दस्तावेज दिखने मे बिल्कुल हूबहू असली के जैसा होता है।

जेरॉक्स मशीन को अगर हम कंप्युटर के भाषा मे समझने का प्रयास करे तो यह एक प्रकार का Embedded System होता है जो की सिर्फ और सिर्फ दस्तावेजों और फोटो जिसमे की कुछ बना हुआ या लिखा हुआ है उसके Duplicate को कागज पर प्रिन्ट कर देती है यानि किसी दस्तावेज या फोटो का कॉपी बना देती है, यह मशीन मे तेज रोशनी वाली प्रिंटिंग तकनीक का उपयोग किया जाता है जिसकी वजह से इसे चलाने के लिए उच्च स्तर की बिजली लगती है।

जेरॉक्स मशीन का इतिहास (History)

जेरॉक्स मशीन काफी पुराना है, Xerography इसकी शुरुआत एवं इसका आविष्कार 1938 मे Chester Carlson जो की एक अमेरिकी Patent वकील, भौतिक विज्ञानी थे और आज के समय पर उन्हे आविष्कारक भी माना जाता है इन्होंने किया था इन्हे जेरॉक्स मशीन और Xerography का जनक भी कहा जाता है।

जिस समय Xerography का आविष्कार नहीं हुआ था तब Chester Carlson, Patent वकील के रूप मे न्यू यॉर्क मे कार्यरत थे और उस समय उन्हे काफी महत्वपूर्ण दस्तावेजों के कई सारे Copies की आवश्यकता पड़ती थी इस वजह से उन्होंने 1938 Xerography का आविष्कार किया फिर 1939 से 1944 के बीच IBM, General Electric जैसी 20 से अधिक कम्पनियों ने Carlson को मना कर दिया।

फिर 1944 मे Battelle Memorial Institute नामक जो की एक Non Profit Organization है उन्होंने इस रिसर्च पर निवेश किया उसके बाद Battelle और Haloid इन दोनों ने साथ सतह मे इस रिसर्च पर काम किया, उस समय Xerography को “Electrography” के नाम से जाना जाता था जो की थोड़ा Complex नाम था इस वजह से 1948 मे Haloid ने Electrography के नाम को बदलकर Xerography कर दिया और आने वाले नई मशीनो को जेरॉक्स मशीन कहा और उसी समय जेरॉक्स शब्द को Trademark कर दिया गया।

जेरॉक्स मशीन कितने प्रकार के होते है (Types)

आज के समय मे जेरॉक्स मशीन विभिन्न Variety’s के मौजूद है लेकिन जेरॉक्स मशीन मुखतः दो प्रकार के होते है :-

Analog Xerox Machine. इस तरह के जेरॉक्स मशीन का कार्य Lights के जरिए होता है जिसमे की किसी भी प्रकार का Memory भी नहीं लगा होता है यह सबसे पहले कागज के फोटो को उच्च स्तर के Lights के द्वारा स्कैन करते है फिर उन फोटो को Lights Reflection के माध्यम से कागज के फोटो का ड्रम मे एक पैटर्न बना देते है और उसी को पेपर पर छाप देते है।

Digital Xerox Machine. आमतौर पर इसी तरह के जेरॉक्स मशीन का उपयोग किया जा रहा है जिसमे एक तरह का Internal Memory भी मौजूद होता है जो की सर्वप्रथम कागज को स्कैन करता है और उस स्कैन किए हुए डेटा को कागज पर छाप देता है, इस तरह के जेरॉक्स के माध्यम से हम किसी कागज को स्कैन करके उसे कंप्युटर पर स्टोर कर सकते है।

जेरॉक्स मशीन कैसे काम करता है?

जेरॉक्स मशीन Xerography तकनीक पर कार्य करती है, जेरॉक्स मशीन के ऊपर मे पारदर्शी Glass लगा होता है जिसमे सबसे पहले उस दस्तावेज को रखा जाता है जिसका फोटोकॉपी करना होता है उसके बाद नीचे से एक उच्च Voltage की Green Light आती है जो की पूरे दस्तावेज को स्कैन कर लेता है और वह लेजर के जैसे Reflect होकर नीचे मौजूद ड्रम पर जाता है और फिर ड्रम घूम घूमकर उस Light को Observe कर लेता है यानि स्कैन कर लेता है।

अब कागज पर जो भी लिखा या Visual’s होता है उन सभी का ड्रम के ऊपर एक पैटर्न बन जाता है अब ड्रम के ही ठीक नजदीक एक टोनर लगा होता है जिसमे की प्रिटिंग के लिए Powder मौजूद होता है अब टोनर से कागज पर जो भी लिखा या Visual’s होता है वह ड्रम पर छप जाता है उसके बाद कागज मशीन के अंदर जाता है फिर ड्रम से स्याही कागज पर छप जाती है।

लेकिन अभी कागज पर हुआ प्रिन्ट Permanent नहीं होता है जिसके लिए कागज को आगे भेजा जाता है और आगे हिट की वजह से कागज पर स्याही हमेशा के लिए चिपक जाती है और जिसके बाद कागज को बाहर भेजा जाता है। भले ही यह प्रोसेस आपको लंबा लग रहा है लेकिन इस प्रोसेस को पूरा होने मे कुछ ही सेकंड लगता है और कुछ इस तरह जेरॉक्स मशीन काम करती है।

जेरॉक्स मशीन का उपयोग कैसे किया जाता है?

जेरॉक्स मशीन का साधारण सा उपयोग करने के लिए निम्नलिखित स्टेप्स को फॉलो कीजिए :-

  1. सबसे पहले जेरॉक्स मशीन के पावर बटन पर क्लिक करके उसे ऑन कीजिये।
  2. उसके बाद जेरॉक्स मशीन पर डले हुए पेपर का साइज़ जेरॉक्स मशीन पर सेट कर ले।
  3. अब मशीन मे उस दस्तावेज को उल्टा डाले जिसका आप फोटोकॉपी करना चाहते है।
  4. अब Start वाले बटन को Press कीजिए, जिसके कुछ ही समय बाद आपका फोटोकॉपी हो जाएगा।

ध्यान दे – जेरॉक्स मशीन कई सारे अलग अलग Brands के आते है ऐसे मे उन सभी का ऑपरेटिंग सिस्टम अलग हो सकता है।

जेरॉक्स मशीन के फायदे (Advantages)

जेरॉक्स मशीन ने फोटोकॉपी के दुनिया को बदलकर रख दिया है ऐसे मे इसके कई सारे फायदे है जिसके बारे मे एक एक के जानते है :-

1. समय का बचत करता है. जेरॉक्स मशीन इतना तेजी से दस्तावेजो का फोटोकॉपी करता है जिसमे हमें काफी कम समय लगता है जिसकी वजह से समय की काफी बचत होती है।

2. इस्तेमाल करना आसान है. जेरॉक्स मशीन को चलाने के लिए एक Professional की आवश्यकता नहीं होती है एक सामान्य व्यक्ति भी इसे कुछ ही समय मे चलाना सिख सकता है क्योंकि इसे इस्तेमाल करना काफी आसान है।

3. कई सारे Copy निकाल सकते है. जेरॉक्स मशीन सिर्फ और सिर्फ फोटोकॉपी के लिए बनाया गया होता है यह तेजी से फोटोकॉपी भी करता है जिस वजह से इससे कई सारे Copy निकाल सकते है।

4. पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाता है. अक्सर करके इलेक्ट्रॉनिक मशीन की वजह से पर्यावरण को काफी नुकसान होता है लेकिन यह जेरॉक्स मशीन किसी भी स्थान पर उपयोग किया जा सकता है क्योंकि यह पर्यावरण को किसी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचाता है।

5. पैसों का बचत करता है. जेरॉक्स मशीन की वजह से ही फोटोकॉपी इतना सस्ता है क्योंकि इसमे फोटोकॉपी की Cost बहुत ही कम आती है।

निष्कर्ष

जेरॉक्स मशीन जो की आज के समय मे हमारे जीवन का एक अहम हिस्सा बन चुका है लेकिन इसके बारे मे कुछ ही लोगों को जानकारी है ऐसे मे आज का यह आर्टिकल सभी के लिए जिन्हे जेरॉक्स मशीन के बारे मे बिल्कुल भी जानकारी नहीं है उन सब के लिए आज का यह आर्टिकल काफी उपयोगी साबित हुआ होगा, अब मैंने आप सभी के साथ जेरॉक्स मशीन से सबंधित अहम जानकारीयो को साझा कर दिया है।

उम्मीद ही की इस आर्टिकल को पढ़कर अब आपने जेरॉक्स मशीन क्या है (What is Xerox machine in Hindi) इसके बारे मे और इससे जुड़े समस्त अहम जानकारीयो को जान लिया होगा, अगर आप सभी के पास इस आर्टिकल से जुड़ा सवाल या सुझाव है तो उसे नीचे Comment मे लिख सकते है, अंत मे मैं अपने पाठकों से इस आर्टिकल को Facebook, Twitter इत्यादि आर शेयर करने का निवेदन करता हूँ।

Leave a Comment