फोन हैक कैसे होता है? हैकर्स फोन को हैक कैसे करते है

हर एक मोबाइल चलाने वालो के लिए यह जानना जरुरी है कि फोन हैक कैसे होता है? और हैकर्स फोन को हैक कैसे करते है? जिससे आप और आपका फोन हैक होने के खतरे से बचे रहे,

इस लेख के माध्यम से हम विस्तार से उन सभी कारणो को जानने वाले है जिनकी वजह से हमारा फोन हैक होता है। इस बात कि गैरेंटी देता हूं कि, इस लेख को पुरा पढ़ने के बाद आपका फोन पुरी तरह सुरक्षित रहने वाला है।

अक्सर दिन ब दिन हम नये नये ऐसे फोन हैक होने के खबरे सुनने को मिलते है। जिनको सुनकर हमारे अंदर भी कहीं ना कहीं फोन हैक डर बैठ जाता है। क्योंकि फोन में हमारी पुरी Personal Information, फोटोज, विडीयोज, मेजेस एवं सभी प्रकार कि बहुत किमती जानकारी मौजुद होती है।

अगर गलती से भी फोन हैक हो जाता है तो इससे भारी भरकम नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन आज के समय में बहुत ही कम लोगो को पता है कि फोन हैक कैसे होता है और फोन हैक होने के कारण क्या है।

जिस कि वजह से उन्हें हमेशा उनके फोन को हैक होने का खतरा बना रहता है। और कभी भी उनका वह हैक हो सकते है। तो चलिए जानते है और सिखते है कि एक फोन कि कारणो कि वजह से हैक होता है।

फोन हैक कैसे होता है?

फोन में मौजुद डाटा कि अहमियत आज के समय में हमारे पैसो से भी ज्यादा मंहगा है, अगर ऐसे में फोन हैक हो जाता है तो हमें भारी भरकम नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। एक फोन हैक होने के अलग अलग कारण होते है। 

हैकर्स अलग अलग तरिको कि मदद से एक फोन को हैक करने कि कोशिश करते है, अगर आप कोई भी एक गलती कर देते है तो ऐसे में फोन हैक हो सकता है. इसे लिए कभी भी नीचे लिखे कोई भी ऐसी गलती नही करे जो आपको खतरे मे डाल दे।

1. Apk from unknown sources

इसका मतलब यह है कि प्ले स्टोर के अलावा ऐसे unknown sources यानी अलग अलग प्रकार कि वेबसाइट्स के माध्यम से कोई भी ऐप को डाउनलोड और इंस्टॉल करना, जो हमारे फोन को हैक होने कि संभावना को बढ़ा देते है।

जैसे WhatsApp को इस्तेमाल करने वाले 50 प्रतिशत लोग गुगल में जाकर GB WhatsApp को डाउनलोड करते है और उपयोग करते है। जो बिल्कुल भी Secure नही है। अक्सर आज के समय में बहुत सारे मोबाइल यूजर्स इस गलती को करते है जिसकी वजह से उनका फोन हैक होने का खतरा हमेशा बना होता है।

जो भी Apps या Games जो प्ले स्टोर या App स्टोर पर उपलब्ध नही होता है तो वह App बिल्कुल भी Secure नही है। क्योंकि प्ले स्टोर हमारी सुरक्षा का पुरा ध्यान रखता है इसलिए प्ले स्टोर ऐसे Apps को प्ले स्टोर पर Upload करने के कभी भी Permission नही देता है जो यूजर्स के डाटा का गलत उपयोग कर रहे हो या यूजर्स के लिए Harmful हो।

2. Random websites and links

अक्सर हमारे मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते समय हम ऐसी वेबसाइट और लिंक्स पर क्लिक करते है जो हमारे फोन को नुकसान पहुंचा सकता है। जी हाँ हमारे फोन के WhatsApp, Massage, Gmail, telegram में ऐसे लिंक्स आते रहते है। 

जिन पर हमें क्लिक नही करना चाहिए। क्योंकि यह लिंक किस चीज का है यह हमें पता नही है, ऐसे सिचुएशन में अगर हम इन लिंक पर क्लिक कर देते है तो इससे हमारा फोन हैक भी हो सकता है क्योंकि हैकर फोन हैक करने के लिए सबसे ज्यादा link (phishing) technique का इस्तेमाल करते है।

कई बार हम ऐसी Random वेबसाइट्स पर जाते रहते है जो सुरक्षित (Secure) नही होते है जिनसे हमारा फोन हैक हो सकता है कभी भी ऐसी वेबसाइट या लिंक पर मत जाये जिस वेबसाइट के URL में Https कि जगह सिर्फ Http लिखा हुआ है।

अगर आप कभी भी Random website और Random link को विजिट नही करते है। तो इससे फोन हैक होने का खतरा बहुत कम हो जाता है।

3. Off install from unknown sources

हमारे फोन के सेटिंग मे हमे install from Unknown sources का एक सेटिंग मिलता है, जिसको अगर हम चालू (Enable) कर देते है तभी हम किसी Third party Apps को अपने फोन में इंस्टॉल कर सकते है।

लेकिन हमें इस सेटिंग को हमेशा बंद (Disabled) रखना चाहिए, जिससे आपके फोन में कोई भी व्यक्ति या स्वयं ही किसी भी Third party Apps को इंस्टॉल नही कर पायेंगें, जिससे हमारा फोन सुरक्षित (Secure) रहता है।

क्योकि यह Third party app हमारे फोन के लिए खतरनाक (Dangerous) होते है, इन Third Party Apps को इंस्टॉल करने कि वजह से हमारा फोन हैक भी हो सकता है इसलिए हमें इस (install from unknown sources) सेटिंग को बंद (Disabled) रखना चाहिए।

4. Use firewall app

हमे हमेशा अपने फोन में Firewall App का इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि Firewall App फोन में एक ऐसी सुरक्षा संरचना क्रिएट कर देता है जिससे कोई भी वायरस, Unknown फाइल या कुछ भी ऐसी चीजे जो हमारे फोन के लिए नया (Unwanted) है उन सभी चीजो को हमारे फोन के अंदर Enter करने नही देता है।

जिस तरह हम मच्छर से बचने के लिए मच्छरदानी का उपयोग करते है उसी तरह हमें अपने फोन को Hacker’s से बचाने के लिए Firewall Apps का उपयोग करना चाहिए जो कि हमारे फोन में सुरक्षा परत बना देता है और जो file’s हमारे फोन के लिए नया है उसे हमारे फोन के अंदर Enter नही करने देता है। जिससे फोन है हैक होने कि संभावना कम हो जाता है।

5. Use tor/VPN in public WIFI

हमारे दैनिक जीवन में हम Public WIFI या फ्री WIFI का इस्तेमाल करते रहते है जो छुपके से हमारे IP Address या को Access कर लेते है एवं हमारे फोन कि महत्वपूर्ण जानकारीयो का पता लगा लेते है। ऐसे में हमारे फोन हैक भी हो सकता है। 

इसलिए कभी भी Public WIFI या फ्री WIFI का उपयोग करने से पहले हमें अपने फोन में VPN को Enable कर लेना चाहिए या फिर Tor browser का उपयोग करना चाहिए।

क्योंकि Tor browser और VPN हमारे फोन के IP ADDRESS को छुपा (HIDE) कर देता है, जिससे पब्लिक या फ्री Wifi का owner हमारे फोन के किसी भी जानकारी का पता नही लगा सकता है। जिससे हमारा फोन बिल्कुल सुरक्षित (Secure) रहेगा।

6. Two factor authentication

यह एक ऐसा फिचर है जो हमारे फोन में उपलब्ध सभी अकाउंट जैसे फेसबुक, गुगल इत्यादि में Available रहता है। अगर हैकर इन अकाउंट को हैक कर लेता है तो बड़ी ही आसानी के साथ हैकर हमारे फोन को हैक कर सकता है। 2 Factor authentication के फिचर को अगर हम चालू (Enable) कर देते है तो ऐसे में इन अकाउंट को हैक कर पाना हैकर को कठिन हो जाता है।

क्योंकि इससे अकाउंट्स को Access करने के लिए 2 चरणो से होकर गुजरना पड़ेगा, सिर्फ पासवर्ड पता चल जाने से कोई भी व्यक्ति अकाउंट को Access नही कर पायेगा। अकाउंट को Access करने के लिए सही पासवर्ड के साथ कोई भी एक चरण से होके गुजरना पडे़गा जैसे – पासवर्ड डालने के बाद अकाउंट से रजिस्टर मोबाइल नंबर ओटीपी भेजा जायेगा जिसे डालना होगा, तब कोई व्यक्ति आपके अकाउंट को Access कर पायेगा।

आज कि इस डिजीटल दुनिया मे हर किसी को इस फिचर का उपयोग कर अपने फोन को हैक होने के खतरे से बचाना चाहिए।

7. Check app permissions

यह एक सबसे जरुरी स्टेप है, हम प्ले स्टोर एवं अन्य जगहो से तरह तरह के Apps को इंस्टॉल कर लेते है और साथ में उन Apps को अपने फोन के सभी Permission दे देते है। जो आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

क्योंकि किसी भी Apps को बेवजह अपने फोन के सभी Permission को नही देना चाहिए ऐसे मे वह App आपके फोन के सभी Permission को लेकर आपके फोन के डाटा को चुरा सकता है। या फिर आपके फोन को भी हैक कर सकता है।

कभी भी किसी भी App को इस्तेमाल करते वक्त कोई भी Permission को Allow करने से पहले यह ध्यान में रखे कि इस App को इस permission कि क्या जरुरत है।

जैसे Truecaller App को इस्तेमाल करते वक्त हमे सिर्फ Massage कि एवं Call कि Permission को Allow करना होता है। जिसमें हमें Gallery कि Permission देने कि जरुरत नही है ऐसे में यह App Gallery कि Permission मांगता है तो हमें Deny कर देना चाहिए यानी Permission नही देना चाहिए क्योंकि Truecaller एक App जो कि एक Calling App है उसे फोन Gallery कि Permission क्यो चाहिए।

8. Avoid some password

यह भी एक जरुरी स्टेप है हर किसी के लिए क्योकि आज के समय में लोग जल्दबाजी के चक्कर में अपने फोन के Google, Facebook, Instagram, upi, Paytm, phone lock इत्यादि के पासवर्ड को Simuler रखते है जो आप को खतरे में डाल सकता है। कभी भी हमें अपने फोन के सभी अकाउंट्स के पासवर्ड को एक ही नही रखना चाहिए और ना ही सरल पासवर्ड रखना क्योंकि मान लीजिए कि आपके फोन का पासवर्ड किसी को पता चल जाता है।

तो ऐसे में उसी पासवर्ड का इस्तेमाल कर वह आपके Facebook, Google, Instagram अकाउंट को भी हैक कर सकता है। इसलिये सेम पासवर्ड नही रखना चाहिए।

और कभी भी हमें पासवर्ड को सरल नही रखना चाहिए जो कोई भी आसानी पता लगाकर अकाउंट को हैक कर ले। हमें पासवर्ड को बनाते समय symbol, number और letters का उपयोग कर एक कठिन पासवर्ड बनाना चाहिए जिसका पता कोई भी व्यक्ति ना लगा पाये।

9. Proper formatting

फोन में हर कोई अक्सर अपने प्राइवेट फोटोज, विडीयोज, contacts, एंव अन्य चीजो कि जानकारी को रखता है, और जब कोई भी व्यक्ति अपने फोन को Sell करता है या किसी अन्य व्यक्ति को देता है तब उन सभी चीजो को डिलीट कर देता है। और सोचता है कि हमने अपने फोन के सभी डाटा को डिलीट कर दिया अब हम Safe है।

लेकिन ऐसा नही है, कोई अन्य व्यक्ति चाहे तो आपके फोन के सभी Data को कोई भी Recovery सॉफ्टवेयर से Recover कर सकता है और आपके फोन के डाटा का गलत उपयोग कर सकता है। ऐसे में सिचुएशन में हमें फोन को Proper format करना सिखना चाहिए। कभी भी फोन को किसी अन्य व्यक्ति को देते समय कम से कम तीन बार Format कर देना चाहिए जिससे आपके फोन का डाटा रिकवर ना हो पाये।

10. Follow proper safety measures

फोन को हैक होने से बचाने के लिए जो आपको महत्वपूर्ण point आपने पढ़ हैं उन्हे हमेशा फॉलो जरूर करे। एवं जो सबसे महत्वपूर्ण काम हैं वह यह हैं की हमें अपनी सुरक्षा का ध्यान खुद रखना हैं क्योंकि अगर हम सभी सुरक्षा के स्टेप्स को फॉलो करते हैं तो हमारा फोन हैक होने से बच सकता हैं।

इस डिजिटल दुनिया मे कभी भी कुछ भी हैक हो सकता हैं, इसीलिए हमे अपने फोन की privacy का ध्यान खुद रखे एवं आपको कभी कहीं किसी जगह ऐसा लगे की आपकी सुरक्षा खतरे मे हैं ऐसे मे तुरंत वहाँ से बाहर निकले। यह याद रखे की अपने फोन का पासवर्ड, ओटीपी, पर्सनल जानकारी, ATM पिन, अकाउंट के पासवर्ड किसी को भी शेयर ना करे।

ध्यान दे इस लेख मे कोई भी प्रकार की ऐसी जानकारी नही दी गई हैं जो गैर कानूनी कार्य को बढ़ावा देता हो इस लेख के माध्यम से हमने लोगों को फोन हैक कैसे होता है, यह जानकारी दी हैं जिसकी मदद से लोगों मे जागरूकता बनी रहे और हैकिंग के खतरे से बचा जा सके।

FAQ’s (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)

फोन हैक होने से कैसे बचे?

फोन को हैक होने से बचने के लिए सभी हैकिंग attacks से बचे। एवं फोन की सुरकाश पर ध्यान दे।

हैकर किस Technique का ज्यादा उपयोग करते हैं फोन को हैक करने के लिए?

हैकर phishing Technique का ज्यादा उपयोग करते हैं फोन को हैक करने के लिए

निष्कर्ष

उम्मीद हैं की आपने इस लेख मे दी गई महत्वपूर्ण जानकारी की हेल्प से यह जान और सिख लिया होगा की फोन हैक कैसे होता है और हैकर्स फोन को हैक कैसे करते है ? आपके मन मे इस रिलेटेड कोई भी सवाल हैं तो हमे नीचे कमेन्ट बॉक्स मे लिखकर पूछ सकते हैं।

और इस लेख मे दी गई फोन हैकिंग से रिलेटेड जानकारी आप सभी लोगों को कैसा लगा कमेन्ट कर के अवश्य बताएं एवं इस लेख को अपने सभी दोस्तों और फैमली के साथ सोकिल नेटवर्क जैसे Twitter पर जरूर शेयर करे, ताकि वे भी जान सके की फोन आखिर हैक कैसे होता है।

Leave a Comment