मोबाइल बैंकिंग क्या है कैसे शुरू करे (Mobile Banking in Hindi)

नमस्ते दोस्तों, आपने कभी न कभी मोबाइल बैंकिंग का नाम तो अवश्य सुना होगा लेकिन क्या आपको यह पता है की मोबाइल बैंकिंग क्या है? अगर आपका जवाब नहीं है तो कोई बात नहीं क्योंकि आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आप सभी के साथ मोबाइल बैंकिंग से जुड़े समस्त जानकारीयो को विस्तार से साझा करने वाले है जिसके जरिए आप मोबाइल बैंकिंग शुरू कर सकते है।

इंटरनेट बैंकिंग जिसका फायदा हर कोई उठा सकता है लेकिन इसके लिए यूजर को कंप्युटर की जानकारी होनी चाहिए और कम से कम पढ़ा लिखा होना चाहिए लेकिन वही पर मोबाइल बैंकिंग का फायदा कोई भी उठा सकता है इसके लिए यूजर को न ही कंप्युटर चलाना आना चाहिए और न ही यूजर इतना अधिक पढ़ा लिखा होना चाहिए, अगर यूजर को हिन्दी पढ़ना भी आता है तब भी वह मोबाइल बैंकिंग कर सकता है।

एवं आज के समय मे मेरे हिसाब से जिसके पास खुद का बैंक अकाउंट है और स्मार्टफोन है उन सभी को मोबाइल बैंकिंग का फायदा अवश्य उठाना चाहिए क्योंकि अक्सर बैंक मे काफी भीड़ होती है ऐसे मे पैसे निकलवाने के लिए हमें अपने काफी सारे समय का नुकसान करना पड़ता है, लेकिन वही पर मोबाइल बैंकिंग से हम तुरंत पैसे निकाल सकते है एवं हम ऑनलाइन शॉपिंग, मोबाइल रिचार्ज, बिल पेमेंट इत्यादि कार्य भी इससे कर सकते है।

इस वजह से हमें आज के इस आर्टिकल को लिखने का चयन किया जिसके माध्यम से हम मोबाइल बैंकिंग क्या है, इसके साथ साथ मोबाइल बैंकिंग कैसे शुरू करे एवं इससे जुड़े समस्त जानकारीयो को विस्तार से साझा वाले है, तो फिर चलिए जानते है।

मोबाइल बैंकिंग क्या है (What is Mobile Banking in Hindi)

अगर हम मोबाइल बैंकिंग को सीधे शब्दों मे कहे तो मोबाइल का उपयोग करके बैंकिंग सेवाओ का उपयोग करने को ही मोबाइल बैंकिंग कहा जाता है, जिस तरह इंटरनेट का उपयोग करके जब हम समस्त बैंकिंग सेवाओ का उपयोग करते है तब उसे इंटरनेट बैंकिंग कहा जाता है और कुछ उसी तरह जब हम मोबाइल का उपयोग करके हुए जब बैंकिंग करते है तब उसे मोबाइल बैंकिंग कहा जाता है।

मोबाइल बैंकिंग के तहत Banks अपने ग्राहकों को कुछ विशेष बैंकिंग सेवाये प्रदान करता है जैसे बैंक का बैलेन्स चेक करना, स्टेटमेंट निकालना इत्यादि, जिन सेवाओ का लाभ कोई भी सामान्य व्यक्ति अपने मोबाइल फोन का उपयोग करके ले सकता है, जैसा की हम जानते है इंटरनेट बैंकिंग करने के कंप्युटर होना अनिवार्य था ऐसे मे हर किसी के पास तो कंप्युटर उपलब्ध नहीं होता है।

लेकिन आज के समय मे लगभग सभी व्यक्तियो के पास खुद का एक मोबाइल उपलब्ध है इस वजह से मोबाइल बैंकिंग लाया गया, जिसका उपयोग आज के समय मे लगभग अधिकतर लोग कर रहे है। मोबाइल बैंकिंग की सेवाये आज के समय मे Banks कई सारे तरीकों से दे रही है जैसे SMS, Bank Mobile App, USSD इत्यादि।

मोबाइल बैंकिंग का इतिहास (History)

मोबाइल बैंकिंग इतना अधिक पुराना नहीं है मतलब इसकी शुरुआत काफी समय पहले से नहीं हुई थी, इसकी शुरुआत आज से लगभग 24 वर्ष पहले 1999 मे हुआ था लेकिन उस समय किसी भी प्रकार का App वाला सिस्टम उपलब्ध नहीं था बल्कि उस समय मोबाइल बैंकिंग Text या एसएमएस के माध्यम से किए जाते थे और इस मोबाइल बैंकिंग की सेवा अपने ग्राहकों को प्रदान करने वाला पहला बैंक European बैंक था।

जिसके कुछ 11 वर्षों बाद 2010 मे IOS और एंड्रॉयड मोबाइल फोन के Users काफी तेजी से बढ़ रहे थे तब उसी समय बैंकों के लिए मोबाइल बैंकिंग Apps विकसित किया जाने लगा और इसी से मोबाइल बैंकिंग की उपयोगिता बड़ी, इससे पहले मोबाइल बैंकिंग मोबाइल वेब और एसएमएस के माध्यम से ही किए जाते थे जिसे उस समय एसएमएस बैंकिंग भी कहा जाता था।

मोबाइल बैंकिंग को किन तरीकों से इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर हम इस पर चर्चा करे की मोबाइल बैंकिंग को किन तरीकों से इस्तेमाल किया जा सकता है? तो आपको बता दे की अभी के समय मे मोबाइल बैंकिंग मुख्य चार तरीकों से की जा सकती है जो की निम्नलिखित है –

1. एसएमएस के माध्यम से. अभी के समय मे एसएमएस के माध्यम से मोबाइल बैंकिंग किया जाता है जिसके तहत अपने बैंक के ऑफिसियल मोबाइल बैंकिंग वाले मोबाइल नंबर पर अपने बैंक अकाउंट से रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के माध्यम से एसएमएस करना होता है।

2. मोबाइल App के माध्यम से. यह मोबाइल बैंकिंग का सबसे लोकप्रिय तरीका है जिसका इस्तेमाल अधिकतर ग्राहक करते है इसके तहत हमें अपने स्मार्टफोन पर अपने बैंक के अफिशल मोबाइल बैंकिंग App को इंस्टॉल करके Log in करना होता है।

3. USSD के माध्यम से. USSD के बारे मे तो आप जानते ही होंगे इसका इस्तेमाल पुराने समय मे सिम कार्ड का बैलेन्स पता करने के लिए किया जाता था जिसका पूरा नाम Unstructured Supplementary Service Data होता है, इसके तहत हमें किसी भी तरह के मोबाइल मे बस एक कोड डायल करना होता है।

4. कॉल के माध्यम से. आज के समय हम अपने बैंक के ग्राहक सेवा अधिकारी नंबर पर अपने बैंक अकाउंट से रजिस्टर मोबाइल नंबर से कॉल करके अपने बैंक अकाउंट से संबंधित सामान्य जानकारी को प्राप्त कर सकते है इसे भी हम एक तरह से मोबाइल बैंकिंग ही माँ सकते है।

मोबाइल बैंकिंग मे कुल कितने प्रकार की सेवाये दी जाती है?

वर्तमान समय मे अलग अलग Banks अपने ग्राहकों को मोबाइल बैंकिंग पर विभिन्न तरह के सेवाये प्रदान करती है जिनमे से मुख्य सेवाये निम्नलिखित है :-

1. बैंक बैलेंस की जानकारी. आज के समय मे हम मोबाइल बैंकिंग का उपयोग करते हुए अपने बैंक अकाउंट के बैलेंस संबंधित समस्त जानकारी प्राप्त कर सकते है, यह सेवा लगभग हर एक बैंक मोबाइल बैंकिंग के तहत प्रदान करती है।

2. ऑनलाइन लेनदेन. ऑनलाइन लेनदेन से तात्पर्य है ऑनलाइन सीधे अपने बैंक अकाउंट से पैसा भेजना और Receive करना। मोबाइल बैंकिंग मे यह ऑनलाइन लेनदेन की सेवा हर एक बैंक प्रदान नहीं करते है लेकिन इस सेवा का उपयोग कोई भी व्यक्ति डिजिटल बैंकिंग Apps जैसे फोन पे, गूगल पे इत्यादि से कर सकता है।

3. बैंक स्टेटमेंट. स्टेटमेंट की आवश्यकता तो हर किसी को पड़ती ही पड़ती है ऐसे मे मोबाइल बैंकिंग का उपयोग करते हुए हम अपने बैंक अकाउंट का ई स्टेटमेंट निकाल सकते है, यह सेवा लगभग हर एक बैंक अपने ग्राहकों को दे रही है। इसके लिए हम अपने बैंक के ऑफिसियल मोबाइल बैंकिंग App का उपयोग कर सकते है।

4. सुरक्षा और मदद. मोबाइल बैंकिंग की सहायता से हम बैंक मे जाए बिना अपने ATM को ब्लॉक करवा सकते है जो की काफी उपयोगी है यह ऐसे स्तिथि मे आवश्यक हो जाता है जब बैंक के ब्रांच आप बहुत ही दूर है और अचानक से आपका ATM कार्ड चोरी हो गया या खो गया।

मोबाइल बैंकिंग कैसे शुरू करे?

वैसे तो हम कुछ ही मिनट मे मोबाइल बैंकिंग शुरू कर सकते है लेकिन आपको यह बता दे की हम आज के समय मे अलग अलग तरीकों से मोबाइल बैंकिंग की सुविधा चालू कर सकते है, लेकिन मोबाइल App के माध्यम से मोबाइल बैंकिंग करना ही सबसे अच्छा तरीका है मोबाइल बैंकिंग का. जिसमे हमें काफी सारी सुविधाये मिलती है।

इसलिए मोबाइल बैंकिंग करने के लिए हमें मोबाइल App वाला तरीका चुनना चाहिए, वैसे तो हम UPI आधारित पेमेंट Apps का भी उपयोग करके मोबाइल बैंकिंग कर सकते है लेकिन यह सीधा बैंक से जुड़ा हुआ मोबाइल बैंकिंग नहीं कहलाएगा, इसके स्थान पर हमें बैंक का ऑफिसियल मोबाइल बैंकिंग App का उपयोग करना चाहिए एवं इसी तरीके से हम मोबाइल बैंकिंग शुरू करना सीखेंगे।

अगर आप भी मोबाइल बैंकिंग शुरू करना चाहते है तब आप इसके लिए नीचे दिए गए प्रोसेस को फॉलो कीजिये :-

स्टेप 1. अपने बैंक के मोबाइल बैंकिंग App को इंस्टॉल कीजिये.

मोबाइल बैंकिंग शुरू करने के लिए सबसे पहले प्ले स्टोर या फिर App स्टोर पर जाकर अपने बैंक के ऑफिसियल मोबाइल बैंकिंग App को अपने फोन मे इंस्टॉल कीजिये जैसे मेरा खाता पंजाब नेशनल बैंक मे है तब मैं M Passbook को इंस्टॉल करूंगा, इसी तरह आपका बैंक अकाउंट एसबीआई मे है तब आप Yono SBI App को अपने फोन मे इंस्टॉल कर सकते है।

स्टेप 2. अब बैंक के मोबाइल बैंकिंग App मे रजिस्टर कीजिये.

जब आप अपने बैंक के ऑफिसियल मोबाइल बैंकिंग App को अपने फोन मे इंस्टॉल कर लेते है फिर उस App को ओपन कीजिये उसके बाद उस App पर अपने बैंक अकाउंट से संबंधित जानकारीयो को भरकर रजिस्ट्रेशन कीजिये, ध्यान रहे की आपके फोन मे वह सिम कार्ड मौजूद होना चाहिए जिस सिम कार्ड का नंबर आपके बैंक अकाउंट से लिंक है।

क्योंकि App मे रजिस्ट्रेशन करते वक्त उसी नंबर पर एक OTP प्राप्त होगा जिस OTP को आपको App पर दर्ज करना होगा।

स्टेप 3. अब MPIN बनाइये.

बैंक के मोबाइल बैंकिंग App मे रजिस्टर करने के अंत मे आपको MPIN यानि मोबाइल पिन सेट करना होगा, जिस पिन की आवश्यकता आपको App के माध्यम से मोबाइल बैंकिंग सेवा को Access करते वक्त पड़ेगी, MPIN ऐसा बनाए जो सिर्फ आपको पता हो ताकि आपका बैंक अकाउंट की जानकारी सुरक्षित रहे।

स्टेप 4. अब मोबाइल बैंकिंग सेवा शुरू कीजिये.

जब आप MPIN सेट कर लेते है तब आपके बैंक अकाउंट का मोबाइल बैंकिंग सफल रूप से शुरू हो जाता है जिसके बाफ आप मोबाइल बैंकिंग सेवा का लाभ उठाना शुरू कर सकते है इसके लिए बस आपको App पर जाना होगा।

मोबाइल बैंकिंग के फायदे (Advantages)

मोबाइल बैंकिंग के विभिन्न फायदे है जो की निम्नलिखित है :-

  • मोबाइल बैंकिंग की वजह से हमें छोटे छोटे कार्यों के लिए बैंक नहीं जाना पड़ता जिससे आने जाने के खर्चों की बचत होती है।
  • मोबाइल बैंकिंग बिल्कुल फ्री होता है इसके लिए किसी प्रकार का कोई चार्ज नहीं लगता है।
  • इसकी वजह से हमें घंटों लाइन मे लगे रहने की जरूरत नहीं पड़ती है जिससे की हमारे समय की बचत होती है।
  • मोबाइल बैंकिंग की सहायता से हम बैंक का काम कभी भी और कही पर भी कर सकते है।
  • मोबाइल बैंकिंग का उपयोग हम बैंक के Holidays पर भी कर सकते है मतलब यह 24×7 उपलब्ध रहता है।

निष्कर्ष

आज का समय काफी अधिक डिजिटल हो रहा है ऐसे मे मोबाइल बैंकिंग काफी सामान्य है लेकिन आज भी कई सारे ऐसे लोग है जिन्हे इसके बारे मे जानकारी नहीं है उन सभी के लिए आज का यह आर्टिकल काफी उपयोगी साबित होने वाला है क्योंकि मैंने इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी के साथ मोबाइल बैंकिंग से जुड़ी समस्त जानकारीयो को विस्तार से साझा करने की कोशिश की है।

उम्मीद है की अब आप सभी ने इस आर्टिकल को पढ़कर यह विस्तार से जान लिया होगा की मोबाइल बैंकिंग क्या होता है और मोबाइल बैंकिंग कैसे चालू करे, अभी भी इससे जुड़ा अगर आपके मन मे कोई सवाल रह गया है तो उसे नीचे Comment मे लिखकर बेहिचक हमसे पूछ सकते है एवं इस आर्टिकल को Facebook, Twitter इत्यादि पर भी अवश्य साझा करे।

Leave a Comment