मार्केटिंग क्या है, कैसे करे – What is Marketing in Hindi

जिस तरह पुरी दुनिया डिजीटल बनते जा रही है, उसी तरह नयी नयी चीजे हमारे सामने आ रही है। आप सभी लोगो ने अपने आस पास या कही पर भी मार्केटिंग शब्द से संबंधित शब्द जैसे नेटवर्क मार्केटिंग, Affiliate मार्केटिंग इत्यादि शब्दो को तो जरुर सुना होगा।

जिसको सुनकर के सिर्फ़ आपके मन में ही वही हर किसी के मन में यह सवाल उठता है कि आखिर मार्केटिंग क्या है (What is Marketing in Hindi) लेकिन सही साधन नही होने के कारण हम जान नही पाते है कि Actual में मार्केटिंग होती क्या है।

आप सभी लोगो को बता दे कि मार्केटिंग शब्द से जुड़कर बहुत सारे ऐसे शब्द भी बने है जो आपको अपने दैनिक जीवन में सुनाई देते है और वह शब्द भी मार्केटिंग के ही एक प्रकार है, मार्केटिंग शब्द को सुनकर ऐसा लगता है कि मार्केट का मतलब बाजार होता है और बाजार में प्रचार करना मार्केटिंग कहलाता होगा लेकिन यह पुरा मतलब और सही अर्थ नही है मार्केटिंग शब्द का।

अगर आप भी उन्ही लोगो में से है जो जीवन में कुछ नया सिखने कि चाह रखते है और यह जानना चाहते है कि मार्केटिंग आखिर क्या है तो आप एक सही स्थान पर आएं है, इस बात कि मैं आपको गैरेंटी देता हूं।

कि इस लेख को पुरा पढ़ने के बाद आपके मन में जरा सा भी मार्केटिंग क्या होती है इससे संबंधित कोई सवाल नही रहने वाला है तो चलिए जानते है कि Marketing kya hain और फिर कुछ नया सिखते है।

मार्केटिंग क्या है?

मार्केटिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके माध्यम से प्रोडक्ट को जरुरतमंद ग्राहको तक पहुंचाया जाता है, इन्हें इस तरह भी समझ सकते है मार्केटिंग है ग्राहको कि जरुरतो को समझकर और उसके जरुरतो को पुरा करने के लिए प्रोडक्ट या सर्विस बेचना जिससे कंपनी या Brand का फायदा होता हो एवं जिससे ग्राहको कि नजर में कंपनी और कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विस अच्छी पहचान स्थापित हो यह मार्केटिंग कहलाता है।

मार्केटिंग शब्द को हिंदी में विपणन कहते है, कई लोगो को लगता है कि मार्केटिंग का मतलब अपने या किसी कंपनी के प्रोडक्ट का अलग अलग माध्यम कि सहायता से प्रचार करना मार्केटिंग कहलाता है।

लेकिन ऐसा नही कंपनी के प्रोडक्ट का प्रचार करने से ग्राहको का जरुरत विश्वास के साथ पुरा नही होता है और ना ही इससे ग्राहक में भरोसा बनता है, मार्केटिंग का मतलब ग्राहको कि नजर में प्रोडक्ट और कंपनी की image को बढ़ाना एवं ग्राहक कि जरुरतो को पुरा करना है।

जो कंपनी ग्राहकों कि जरूरतो को सही ढंग से एवं विश्वसनीयता के साथ पुरा करती है वह कंपनी एक बेहतर मार्केटर कहलाती है। मार्केटिंग वह प्रक्रिया है जिसकी वजह से ग्राहक का जरुरत पुरा होता है एवं जिससे कंपनी का मुनाफा होता है।

कई बार ग्राहको को यह पता नही होता की उसे किसी प्रोडक्ट कि जरुरत है लेकिन उसको जरूरत होती है, इसी जरुरत को Identify कर के ग्राहक को यह बताना कि उसे इस प्रोडक्ट कि जरुरत है और उस जरुरत को पुरा करना जिससे ग्राहक पुरी तरह सहमत हो और ऐसा करने से कंपनी का फायदा हो यह भी एक प्रकार से मार्केटिंग कहलाता है।

मार्केटिंग कितने प्रकार के होते है?

जिस तरह टेक्नोलॉजी और दुनिया आगे बढ़ती जा रही है उसी तरह हमारे सामने नये नये मार्केटिंग के अलग अलग प्रकार उभरकर सामने आ रहे है, फिल्हाल वर्तमान में मुख्य रूप से मार्केटिंग के अलग अलग प्रकार निकलकर सामने आए है जो निम्नलिखित है।

डिजीटल मार्केटिंग. इसके नाम मात्रा से आप यह अंदाजा लगा सकते है कि यह मार्केटिंग कि प्रक्रिया पुरी तरह डिजीटल है, डिजीटल मार्केटिंग वह प्रक्रिया है जिसमें हम ग्राहको के जरुरतो को डिजीटली ढुंढकर उन्हें डिजीटल सर्विस या डिजीटल प्रोडक्ट बेचकर उनकी डिजीटल जरुरतो को पुरा करते है जिससे कंपनी का मुनाफा होता है वह डिजीटल मार्केटिंग कहलाता है।

उदाहरण के लिए. यूट्यूब, ब्लागिंग, मोबाइल ऐप है जो पुरी तरह डिजीटल होते है। युवाओ के बीच यह डिजीटल मार्केटिंग बेहद पसंद किया जाता है क्योंकि इसमें काम पुरी तरह डिजीटल रुप में होता है।

नेटवर्क मार्केटिंग. यह भी मार्केटिंग का एक प्रकार है जिसमें हम नेटवर्क कि तरह Chain बनाकर किसी प्रोडक्ट या सर्विस को ग्राहक तक पहुंचाते है, नेटवर्क मार्केटिंग वह प्रक्रिया है जिसमें हम जितने जरुरतमंद ग्राहको को प्रोडक्ट या सर्विस बेचते है उतना बड़ा हमारा मार्केट chain के रुप में बनता जाता है।

नेटवर्क मार्केटिंग में ग्राहक कंपनी का हिस्सा बन जाता है, और फिर एक ग्राहक दुसरे ग्राहक को जोड़ता है। इस तरह पुरा chain बन जाता है और जिसका जितना बड़ा chain होता है उसे उतना ही प्रॉफिट होता है।

एफिलिएट मार्केटिंग. यह भी एक ऐसी मार्केटिंग कि प्रक्रिया होती है जिसके माध्यम से हम ग्राहक कि जरुरत को पहचान कर उसके जरुरत के हिसाब से एक बेहतर प्रोडक्ट ग्राहक को बेचते है, लेकिन इसमें जितना ज्यादा हम कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विस को बेचते है उतना ही कंपनी को फायदा होने के साथ साथ बेचने वाले को भी फायदा होता है।

यानी कि कंपनी कि तरफ से प्रोडक्ट बेचने लाले को प्रत्येक प्रोडक्ट के हिसाब से Commission मिलता है। वर्तमान में यह मार्केटिंग प्रक्रिया बेहद प्रसिद्ध है।

यह कुछ मार्केटिंग के मुख्य प्रकार है जो वर्तमान में लोगो के बीच बेहद प्रसिद्ध है

मार्केटिंग कैसे करे?

बहुत सारे ऐसे भी लोग है जिनका खुद का बिजनेस या कोई प्रोडक्ट है मा फिर किसी कंपनी में काम करते हे जिसकी वजह से वह यह जानना चाहते है कि मार्केटिंग कैसे करें? तो उन सभी लोगो के लिए कुछ मार्केटिंग करने कि strategies नीचे दी गई है।

1. पोस्टर बैनर मार्केटिंग

यह बेहद ही प्रसिद्ध और पुरानी मार्केटिंग Strategy है जिसको हर एक कंपनी अपने प्रोडक्ट को जरुरतमंद ग्राहको तक पहुंचाने के लिए उपयोग करती है। इस तरिके से मार्केटिंग करने के लिए हमें अपने कंपनी के नाम से पोस्टर या बैनर बनवाना होता है, जिसमें कंपनी के सभी प्रोडक्ट और सर्विस का लिस्ट दे.

और संपर्क कि जानकारी से लेकर कंपनी का पता, प्राइज़िंग इत्यादि कि जानकारी के बहुत सारे पोस्टर या बैनर बनवाएं और फिर उन सभी पोस्टर या बैनर को एक ऐसी जगह पर लगाएं जहां पर आपको लगता है कि ग्राहको कि संख्या अधिक है। ऐसा करने से आपके प्रोडक्ट या सर्विस के जरुरतमंद ग्राहक आपके दिए गए संपर्क कि जानकारी से संपर्क करके आपके कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विस को खरिदेंगें।

2. इंस्टाग्राम ADS मार्केटिंग

अगर आप इंस्टाग्राम इस्तेमाल करते है तो इंस्टाग्राम पर आपने बहुत सारी कंपनीयो के अलग अलग प्रोडक्ट के विज्ञापनो को अवश्य देखा होगा जिसमें कंपनी अपने प्रोडक्ट को जरुरतमंद ग्राहको तक इंस्टाग्राम ADS के माध्यम से पहुंचाती है और इससे कंपनी को काफी मुनाफा होता है।

कुछ इसी प्रकार आप भी अपनी कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विस का इंस्टाग्राम ADS के माध्यम से मार्केटिंग कर सकते है और अच्छा खासा मुनाफा पा सकते है। इंस्टाग्राम ADS अब तक की सबसे सस्ती ADS मानी जाती है।

3. Google ADS मार्केटिंग

बड़ी से बड़ी कंपनी जैसे Samsung, Oppo, LinkedIn, Facebook, Instagram इत्यादि भी इस strategies कि मदद से अपने कंपनी के सर्विस या प्रोडक्ट कि मार्केटिंग करती है क्योंकि इसमें हर तरह के professional ग्राहक मिल जाते है। Google Ads के माध्यम से अपने कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विस का मार्केटिंग करने के लिए.

सबसे पहले अपने कंपनी के प्रोडक्ट का एक विडीयो बनाएं जिसमें प्रोडक्ट से संबंधित सारी जानकारी हो और उस विडीयो का विज्ञापन Google Ads के माध्यम से एक निश्चित demography के पास यूट्यूब और वेबसाइट पर दिखाएं जिससे हमारे कंपनी का प्रोडक्ट सही और जरुरतमंद ग्राहको तक पहुंचे। ऐसा करने से आपके कंपनी को बेहद फायदा होगा।

यह कुछ मार्केटिंग करने कि strategies है जिनकी मदद से आप अपने कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विस का मार्केटिंग कर सकते है।

FAQ’s (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)

मार्केटिंग को हिंदी में क्या कहते है?

मार्केटिंग को हिंदी में “विपणन” कहते है।

क्या प्रोडक्ट का मार्केटिंग करने से मुनाफा होता है?

जी हां ! मार्केटिंग करने से बिजनेस में मुनाफा होता है ?

वर्तमान में सबसे प्रसिद्ध मार्केटिंग क्या है?

वर्तमान में सबसे प्रसिद्ध मार्केटिंग डिजीटल मार्केटिंग और सोशल मीडिया मार्केटिंग है।

निष्कर्ष

उम्मीद है कि अब आपने इस लेख को पढ़कर यह जान लिया होगा कि मार्केटिंग क्या है? और मार्केटिंग कैसे करें, और आज फिर से कुछ नया सिखा होगा अगर आपके मन में इंटरनेट से संबंधित कोई भी सवाल है तो नीचे पुछ सकते है।इस लेख को सोशल मीडिया पर शेयर करके उन सभी लोगो तक पहुंचाये जो मार्केटिंग में इंट्रेस्ट रखते है ताकि वे भी कुछ नया सिख सके और यह लेख कैसा लगा कमेंट बॉक्स में लिखना न भूलें।

Leave a Comment