गूगल एड्स क्या है? इसमे अकाउंट कैसे बनाएं

वर्तमान मे हर एक स्मार्टफोन यूजर्स को इंस्टाग्राम, फेसबुक इन सभी के बारे मे तो अवश्य पता होता हैं लेकिन बहुत ही कम लोगों को गूगल एड्स क्या है (What is Google Ads in Hindi) इसके बारे मे जानकारी होती हैं, इसके बारे मे हर एक स्मार्टफोन यूजर पता होना तभी क्योंकि तभी हर व्यक्ति टेक्नोलॉजी के साथ आगे बढ़ पाएंगे।

वर्तमान के समय मे Android फोन मे गूगल के अलग अलग प्रोडक्टस और सर्विस मौजूद होते हैं जैसे Google AdSense, Play Store, YouTube इत्यादि। इन्ही मे से गूगल एड्स भी गूगल का ही एक प्रोडक्ट हैं, जो वर्तमान मे हर एक व्यवसायी के लिए कॉफी जरूरी सा हो गया हैं क्योंकि पूरा मार्केट आज ऑनलाइन आ चुका हैं।

ऐसे मे सभी तरह के व्यवसाय को ऑनलाइन के माध्यम से मुनाफा दिलाने के लिए गूगल एड्स काम आता हैं यह सबसे भरोसेमंद तरीका हैं ऑनलाइन Customers तक पहुँचने का इसीलिए गूगल एड्स ऑनलाइन काम करने वालों लोगों के लिए और व्यवसाय को आगे के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साधन हैं।

जिसके बारे मे हर एक ऑनलाइन यूजर को पता होना चाहिए क्योंकि इससे आपकी डिजिटल Knowledge बढ़ेगी और आपके करिअर मे भी बहुत ही फायदेमंद साबित होगा। तो चलिए अब गूगल एड्स क्या होता है? इससे सबंधित समस्त जानकारी को विस्तार से जानने और समझने की शुरुआत करते है।

गूगल एड्स क्या है – What is Google Ads in Hindi

गूगल एड्स एक प्रकार का गूगल का Paid Advertising Program हैं, जिसकी मदद से हम अपने व्यवसाय के किसी भी Product या Service को उनमे रुचि रखने वाले ग्राहकों तक बड़ी आसानी से पहुँचा सकते हैं, इसे 2018 से पहले Google AdWords के नाम से जाना जाता था लेकिन 2018 के बाद गूगल ने इसका नाम बदलकर गूगल एड्स कर दिया।

गूगल एड्स ऐसी Paid Advertising Program हैं जो की Pay Per Click पर Based हैं, जिसका मतलब होता हैं की जब आपके द्वारा लगाये गए विज्ञापन मे कोई ग्राहक क्लिक करता हैं तभी आपको गूगल एड्स को पैसे Pay करने होंगे, इसे हम आसान भाषा मे समझे तो गूगल एड्स एक ऐसा प्लेटफॉर्म हैं जिस पर पैसे लगाकर हम अपने Product या Service को उसके Interested ग्राहकों तक पहुंचा सकते हैं।

वर्तमान समय मे गूगल एड्स बाकी अन्य Paid Advertising Program जैसे Instagram Ads, Facebook Ads के मुकाबले सबसे अधिक भरोसेमंद Advertising Program हैं क्योंकि गूगल एड्स के माध्यम से हम अपने Product या Service को सिर्फ उनमे रुचि रखने वाले लोगों तक पहुँचा सकते हैं एवं गूगल एड्स High Quality Audience तक पहुँचने का सबसे अच्छा तरीका है।

गूगल एड्स के Networks

गूगल एड्स मे मुख्य रूप से दो Network शामिल हैं जिसमे पहला Search network हैं और दूसरा Display network हैं, तो चलिए इन्हे हम विस्तार से समझते हैं –

1. Search network. यह एक प्रकार का Search संबंधित वेबसाइट्स का एक प्रकार का Group होता हैं, जहां पर विज्ञापन दिखाई देते हैं। जब हम Search network मे विज्ञापन लगाते हैं तब हमारा विज्ञापन Google Maps एवं Google shopping जैसी साइट्स के सर्च Result दिखाया जाता हैं।

इसके अंतर्गत Search ads, Call only ads, Dynamic Search Ads दिखाए जाते है जो की अक्सर हमें Search Result पेज मे Label ads के तौर पर दिखाई देते हैं।

2. Display network. यह एक प्रकार का 20 लाखों से भी अधिक Websites, Apps, Videos का एक Group हैं, यानि Display network ad यूट्यूब, Android Apps, Websites पर दिखाया जाता हैं। Display network पर आने वाले Ads खासकर Text, Video, Images जैसे Format मे होते हैं।

गूगल एड्स कैसे काम करता है?

गूगल एड्स Auction System पर आधारित होते हैं इसी के अनुसार पर गूगल एड्स काम करता हैं, Detailed मे समझे तो। एक एड्स Pattern पर कितना Competition हैं, कौन Advertiser कितना Bit सेट कर रहा हैं एवं Quality Score कितना हैं इन्ही सभी Criteria को Check करके Advertiser के एड्स को Run किया जाता हैं।

जिस Advertiser का एड्स का Bit Amount और Quality score जितना अधिक होता हैं उसे उतना ही अच्छा और High Position दिया जाता हैं मतलब की Bit Amount और Quality score के आधार पर यह तय होता हैं की आपका एड्स कितने नंबर पर दिखाया जाएगा, जिस Advertiser का एड्स सबसे ऊपर होता हैं उसे ही सबसे अधिक Visit किया जाता हैं।

Quality score एक प्रकार का Google Rating होता हैं जो की Keywords का Relevance और Pay Per Clicks के आधार पर गूगल किसी Advertiser के एड को देता हैं। जिस Advertiser के एड का Quality score सबसे अधिक होता हैं उसे ही सबसे ऊपर और सबसे पहले दिखाया जाता हैं।

नोट – एड्स का Cost कितना होगा यह आपके Keyword के Competition और Industry पर Depend होता हैं जैसे की अगर हम Financial sector की बात करे तो यह सबसे अधिक पैसों की Industry हैं तो इसमे एड्स का Cost भी सबसे अधिक होता हैं।

Google AdSense और Google ADS मे क्या अंतर है ?

बहुत सारे लोग को Google AdSense और Google ADS के बीच क्या अंतर हैं पता नहीं हैं, दोनों ही Google का Products हैं लेकिन यह दोनों बिल्कुल ही एक दूसरे से अलग हैं –

Google AdSenseGoogle ADS
Google AdSense से Publishers पैसा कमाते हैं। Google ADS पर Advertiser अपना पैसा लगाते हैं।
Google AdSense सिर्फ Publishers के लिए होते हैं। Google ADS सिर्फ Advertisers के लिए होते हैं।
Publishers Google AdSense के माध्यम से Advertisers के एड्स को अपने Website, Apps और YouTube Video Show करते हैं। Google ADS के माध्यम से Advertisers Publishers के Website, Apps और YouTube Video पर अपना एड्स Show करवाते हैं।
यह एक प्रकार का Ad Network हैं। यह एक प्रकार का Paid Advertising Program हैं।

गूगल एड्स Campaign कितने प्रकार के होते हैं ?

गूगल एड्स आर मुख्यतः 5 प्रकार के ad campaign मौजूद हैं जिनकी मदद से विज्ञापनकर्ता (Advertiser) अपने Product या Service का प्रचार कर सकता हैं जो की निम्नलिखित हैं –

1. Search Campaign. यह एक प्रकार का Search Campaign होता हैं जिसके माध्यम से Advertiser Text Ads Run कर सकता हैं और अपने वेबसाइटस् पर Traffic ला सकता हैं।

2. Display Campaign. यह एक प्रकार का Display Campaign होता हैं, अक्सर आपने वेबसाइटस् पर Images वाले Ads देखे होते हैं वहीं Display Campaign होता हैं उसी तरह का Display Campaign दिखाई देते हैं।

3. Video Campaign. यह एक प्रकार के Video Ads होता हैं। आपने यूट्यूब वीडियोज़ मे Skippable और Non Skippable Video एड्स को आते देखा होगा यही Video Campaign होता हैं।

4. Shopping Campaign. आपने अक्सर देखा होगा की जब आप किसी Product के बारे मे सर्च करते हैं तो उससे सबंधित Product सबसे ऊपर दिखाई देते हैं और उसमे विज्ञापन लिखा रहता हैं यहीं Shopping Campaign होते हैं इसके माध्यम से हम अपने Product को गूगल पर List कर सकते हैं।

5. App Campaign. यह Campaign Apps के लिए Dedicated होते हैं इसके माध्यम से हम अपने Apps के Users को Increase कर सकते हैं।

गूगल एड्स अकाउंट कैसे बनाएं?

अगर आप गूगल एड्स पर अपना एक अकाउंट बनाना चाहते हैं तो इसके लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को ध्यानपूर्वक फॉलो कीजिए –

Step 1. गूगल एड्स मे अकाउंट बनाने के लिए सबसे पहले Ads.google.com पर जाइए

Google ads

उसके बाद आपके सामने Google Ads का लॉगिन पेज ओपन हो जाएगा जिसमे से आपको Get Started पर क्लिक करना हैं।

Step 2. उसके बाद एक नया पेज ओपन हो जाएगा जिसमे आपको नीचे की तरफ Switch to Expert mode का ऑप्शन मिलेगा जिस पर क्लिक कीजिए,

Google ads

जिसके बाद एक और पेज ओपन हो जाएगा जिसमे नीचे की तरफ Corner मे Create an account without a campaign का ऑप्शन मिलेगा जिस पर क्लिक कीजिए।

Google ads

Step 3. अब इतना सब करने के बाद Confirm your business information का एक पेज ओपन होगा

Google ads

जिसमे आपको Billing Country, Time Zone, Currency संबंधित जानकारी को सिलेक्ट कीजिए और Submit वाले ऑप्शन पर क्लिक कीजिए।

Step 4. अब आपका अकाउंट बन चुका हैं अब अंत मे आपके सामने एक Congrats! You’re all done. का पेज ओपन होगा

Google ads

जिसमे Explore Your Account पर क्लिक करना हैं, अब आपके सामने गूगल एड्स का Dashboard ओपन हो जाएगा।

कुछ इस तरह बड़ी आसानी के साथ गूगल एड्स मे अकाउंट बना सकते हैं।

निष्कर्ष

अब आपने यह समझ लिया होगा की गूगल एड्स एक प्रकार प्रोडक्ट हैं जिसके माध्यम से हम अपने Product या Service का प्रचार कर सकते हैं। हमें उम्मीद हैं की इस लेख को पढ़कर आपने बहुत कुछ सिखा होगा और आपने गूगल एड्स क्या है? यह जान लिया होगा, अगर आपके मन मे इससे संबंधित कोई भी सवाल हैं तो नीचे Comment मे लिख सकते हैं।

इस लेख को Twitter, Facebook जैसे पॉपुलर सोशल मीडिया पर भी शेयर कीजिए ताकि अन्य लॉग भी गूगल एड्स के बारे मे जानकारी प्राप्त कर सके।

Leave a Comment