Full Stack Development क्या है? और इसके प्रकार

आज के समय में ज्यादातर स्टूडेंट को कंप्यूटर चलाना और कोडिंग करना काफी पसंद है, हालांकि अधिकतर स्टूडेंट कोडिंग से डर कर इस क्षैत्र में आते नही है। लेकिन आज का समय इंटरनेट का युग है जिसमें ढेर सारे करियर विकल्प हैं। इन करियर विकल्पों मे से एक विकल्प फुल स्टैक डेवलपमेंट है।

आपने इसके बारे में अवश्यक सुनाना होगा तभी आप जानना चाहते है कि Full Stack Development क्या है, Full Stack Developer कैसे बने, Full Stack Development Types, Full Stack Developer Course, Full Stack Developer Salary आदि।

आजकल अधिकतर बड़ी बड़ी कंपनीयां फुल स्टैक डेवलपर को हायर कर रही है, और इसी वजह से इसकी मांग काफी ज्यादा बढ़ गयी है। यदि आप भी एक फुल स्टैक डेवलपर बनना चाहते है और IT industry और computer industry के ऊपर थोड़ा बोहोत रूचि रखते है तो यह आर्टिकल केवल आपके लिए ही है।

Full Stack Development क्या है?

Full Stack Development एक ऐसा कोर्स है जिसमें कोडिंग के जरिए वेबसाइट बनाना सिखाया जाता है। और साथ ही साथ उन वेबसाइट Frontend और Backend एवं Database की भी जानकारी दी जाती है। इसके अलावा भी अन्य जानकारीयां दी जाती है, जैसे Version Control, Browser और Operating System (OS) का ज्ञान आदि।

अगर में Full Stack Developer की बात करूं तो वह कोडिंग से वेबसाइट बनाने का काम करता है, और वह  वेबसाइट के फ्रॉंटेड, बैकेंड साथ ही डेटाबेस पर भी काम करता है। अत: फुल स्टैक डेवलपर को वेबसाइट कोडिंग के साथ साथ Fronted, Backend और Database का भी ज्ञान होता है।

Full Stack Development Meaning In Hindi

Full Stack Development का अर्थ है कि इसमें कोडिंग के अलावा अन्य प्रोग्रामिंग भाषाएं भी सिखाई जाती है। और एक Full Stack Developer बनने के लिए उसे निम्नलिखित प्रोग्रामिंग भाषाओं को सिखना होगा, जैसे-

  1. Frontend
  2. Backend
  3. Database Management
  4. System Design
  5. Version Control
  6. OS (Operating System)

इसका मतलब है कि किसी एक ही व्यक्ति को यह सभी भाषाएं सिखनी होगी, तभी वह फुल स्टैक डेवलपर बन पाएगा। यह सारी चीजे किसी साधारण छात्र के लिए काफी मुश्किल होगी, लेकिन एक कंप्यूटर विज्ञान के छात्र के लिए उतना ज्यादा मुश्किल नही होगा। तो चलिए अब हम Full Stack Developer को विस्तार से समझने की कोशिश करते है।

Full Stack Development Types कितने है?

अब तक हमने जाना कि Full Stack Developer Kya Hota Hai? चलिए अब मैं आपको Full Stack Development के प्रकार के बारे में बताता हूं।

यह तीन प्रकार के होते हैं-

#1. Fronted Development

  1. Frontend Development
  2. Backend Development
  3. Database Development

एक फुल स्टैक डेवलपर का पहला काम Fronted Development को सिखना है जिसमें website की layout को बनाना, कलर देना, style बनाना आदि के बारे में सिखाया जाता हैं। इस भाग में HTML, CSS और JavaScript जैसी प्रोग्रामिंग भाषा को सिखाया जाता है।

#2. Backend Development

आपने देखा होगा कि अलग-अलग वेबसाइट के काम करने का तरीका अलग होता हैं, जैसे Facebook और YouTube आदि। इस भाग में डेवलपर को वेबसाइट की back में जो प्रोग्रामिंग भाषा का इस्तेमाल होता है, के बारे में सिखाया जाता है।

#3. Database Development

डेटाबेस का मतलब Memory Card से होता है जिसमें अनेक चीजे स्टोर की जाती है। इस भाग में डेवलपर को सिखाया जाता है कि इंटरनेट में वेबसाइट की जानकारी को कैसे रखा जाता है। इसका मतलब यह है कि वेबसाइट के सभी डाटा को डेटाबेस में यानी इंटरनेट पर रखा जाता है।

A Full Stack Developer क्यों बने

आप यह जरूर जानना चाहेंगे कि Full Stack Developer क्यों बनना चाहिए ? वैसे मैं आपको बता चुका हूं कि आजकल लगभग सभी बड़ी कंपनीयां अपनी वेबसाइट को हैंडल करने के लिए फुल स्टैक डेवलपर को हायर कर रही है, और साथ ही उन्हे बहुत अच्छी सैलरी भी दे रही है।

अगर आप IT industry में कुछ करना चाहते है और अपने करियर को हमेशा के लिए सेट करना चाहते है तो Full Stack Developer एक अच्छा विकल्प है।

Full Stack Developer कैसे बने?

एक अच्छा फुल स्टैक डेवलपर बनने के लिए आपको प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिखनी होगी, और साथ ही अपने ज्ञान को परिष्कृत करना होगा। आप अपने आप को टेक्नोलॉजी में एक मास्टर बनाए। डेवलपर बनने के लिए आप फुल स्टैक डेवलपर से संबंधित कोर्स करें, और फिर अपने नॉलेज के जरिए प्रेक्टिकल करे। अंत: अगर आप एक प्रफेक्ट बन जाते है तो आप अपने जॉब को सर्च करें।

आप Full Stack Developer की जॉब यानी काम Freelancing Websites जैसे Fiverr, Upwork, Topal, Freelancer.com आदि से प्राप्त कर सकते है। और यहां पर आप स्वतंत्रता से काम कर सकते है। अगर आप किसी अच्छी कंपनी के लिए काम करते है तो आप काफी अच्छे पैसे कमा सकते है।

एक Full Stack Developer बनने के लिए निम्नलिखित स्टेप्स को फॉलो करें-

  1. सर्वप्रथम प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने की कोशिश करें।
  2. आप हर चीज सीखने के बाद टेस्ट वेब पेज बनाए और सीखी हुई चीजों को अप्लाई करें।
  3. आप ज्यादा से ज्यादा टेक्नोलॉजी से संबंधित ज्ञान को प्राप्त करें, और मास्टरी हासिल करें।
  4. अगर आपको फुल स्टैक डेवलपर बनने में रूचि है तो आप इससे संबंधित कोर्स करें।
  5. आप नॉलेज लेने के साथ साथ प्रेक्टल पर भी पूरा ध्यान दे ताकि आपके अंदर Perfection आ सके।
  6. अगर आप एक अच्छे फुल स्टैक डेवलपर बन जाते है तो आप किसी कंपनी के लिए काम कर सकते है। या फिर आप फ्रीलांसर बनकर Freelancing वेबसाइट काम कर सकते हैं।

Full Stack Developer Course Fee कितनी है?

वैसे मैं आपको बता दूं कि फूल स्टैक डेवलपर बनने के लिए बहुत सारे कोर्सेस हैं, जैसे- Full Stack Developer, Full Stack Java Developer, IBM Full Stack Cloud Developer, Bsc Computer Science इत्यादि।

अगर मैं कोर्स फीस की बाद करूं तो अलग अलग कोर्सेस के लिए फीस 5000 से अधिकतम 2.5 लाख रूपयें तक होती है। हालांकि मैने यहां पर कुछ खास कोर्सेस की फीस के बारे में बताया हैं, जो निम्नलिखित हैं-

No.Course NameInstitute NameFees
1.Full Stack DeveloperScaler AcademyRs. 2,50,000
2.Full Stack Java DeveloperSimplilearnRs. 1,06,000
3.Bsc Computer ScienceUniversity of LondonRs. 31,87,431
4.Full Stack Development Certification course  MIT CambridgeRs. 30,3500
5.Post Graduate Program in Full-stack Development  CALTECH CTMERs. 2,20,000
6.Post Graduate Program in Full-stack DevelopmentCareeraRs. 60,625
7.Full-Stack Product Engineering programmeNIITRs. 2,00,000

नोट : यह आपके लिए एक आइडिया दिया गया है। लेकिन आप अपनी तरफ अवश्य रिसर्च करें।

Full Stack Developer Course with Certification Free

आपको ऑनलाइन अनेक तरह के वेबसाइट मिल जाएगी जो आपको फ्री में Full Stack Development सिखाएगी और साथ ही आपको सर्टीकेट भी प्रदान करेगी। जैसे-

  1. Git Command
  2. Jenkins
  3. Angular
  4. NodeJS
  5. Maven
  6. Selenium
  7. Dockerआदि।

Full Stack Developer Syllabus क्या है ?

Full Stack Development कोर्स में निम्न प्रकार से सिलैब्स हैं।

  1. HTML
  2. CSS
  3. Python
  4. MongoDB
  5. Version Control system
  6. ReactJS Development
  7. NodeJS Development
  8. 1 Capstone Project
  9. 6 Mini Projects
  10. Programming with JavaScript

Full Stack Developer Salary In India

एक Full Stack Developer को उसके अनुभव और कंपनी के हिसाब से अलग-अलग तरह की सैलरी दी जाती है। भारत में फुल स्टैक डेवलपर को सैलरी निम्नलिखित तरीके से दी जाती हैं।

अनुभवमासिक सैलरी
FresherRs. 25,000-41,000
1 to 4 YearsRs. 41,000-1 Lakh
5 to 9 YearsRs. 1 lakh – 1.16 lakh
Above 9 YearsRs. 1.16 lakh – 3.16 lakh

भारत में Full Stack Development के टॉप विश्वविद्यालय

भारत के टॉप Full Stack Development विश्वविद्यालय निम्नलिखित हैं-

Andhra University College of EngineeringVisakhapatnam
Institutions of Engineers IndiaKolkata
Samundra Institute of Maritime StudiesPune
Indian Maritime UniversityChennai
GKM College of Engineering and TechnologyChennai
NIT SurathkalKarnataka
CV Raman Global UniversityBhubaneshwar
Srinivas Institute of TechnologyMangalore
Shivaji UniversityKolhapuri
Park College of Engineering and TechnologyCoimbatore

निष्कर्ष

अब तक आप जान चुके होंगे कि फुल स्टैक डेवलपर क्या है और Full Stack Developer कैसे बने? मैनें इस आर्टिकल में Full Stack Developer Salary और Course Fee के बारे में भी बताया हैं। इस आर्टिकल में मैने आपको Full Stack Developer In Hindi में पूरी जानकारी दी है, उम्मीद है की जिसको पढ़कर आप सभी ने Full Stack Development से संबंधित समस्त जानकारी प्राप्त कर ली होगी।

अगर आप सभी के मन मे इस लेख से संबंधित कोई भी सुझाव है तो उसे नीचे Comment मे बेहिचक लिख सकते है और इस लेख को Twitter, Facebook जैसे पॉपुलर सोशल मीडिया पर भी साझा कीजिये।

Leave a Comment